Connect with us
Uttarakhand Government Coronavirus donate Information
Image: Sardar ji speaking in garhwali

Video: जिन्हें गढ़वाली बोलने में शर्म आती है...वो ये वीडियो देखें...सरदार जी से कुछ सीखिए

Video: जिन्हें गढ़वाली बोलने में शर्म आती है...वो ये वीडियो देखें...सरदार जी से कुछ सीखिए

जिन लोगों को गढ़वाली बोलने में शर्म आती है, जरा वो लोग ये वीडियो देख लीजिए। आपने किसी सरदार जी को पहले कभी गढ़वाली बोलते देखा है ? अगर नहीं देखा है तो आज देख लीजिए। इन सरदार जी का नाम बद्रीश छाबड़ा है। वो वीडियो में गढ़वाली में लोगों को संदेश दे रहे हैं और कह रहे हैं कि ‘’भेजी मेरू नाम बद्रीश छाबड़ा चाबड़ा चा, वैसे तो मैं पंजाबी छों पर उत्तराखंड कू रैंण वालू छों, तो मैं गढ़वाली बोलदू।’’ वो आगे कहते हैं कि ‘गढ़वाली बोली चा, क्योंकि भाषा होंदी ता ईंकी लिपि होंदी’। इसके बाद उन्होंने हर उत्तराखंडी से एक अपील की है। उन्होंने गढ़वाली में ही अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा कि ‘सभी उत्तराखंड वासियों ते म्येरू निवेदन चा कि अपणीं यीं बोली ते बचे ल्यावा’। छाबड़ा जी आगे कहते हैं कि ‘भेजी हम ता सरदार छां तभी भी गढ़वाली बोना छन।’

यह भी पढें - गढ़वाली बोलना सीख रहे हैं शाहिद कपूर, फिलहाल उत्तराखंड में ही रहेंगे
यह भी पढें - Video: उत्तराखंडियों के बारे में क्या सोचते हैं दिल्ली वाले ? गढ़वाली लोग ये वीडियो जरूर देखें
आगे उन्होंने कहा कि ‘बाबा बद्री विशाल अर मां धारी देवी की आप सभी पर असीम कृपा रैली अगर आप अपणी बोली ते बचौला’। इसके बाद वो नमस्कार करते हैं और अपनी बात खत्म करते हैं। अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर इस वीडियो में खास बात क्या है। खास बात ये है कि आज के दौर में कई लोग ऐसे हैं, जो शहर की भागदौड़ में खो जाते हैं और अपनी बोली और भाषा को भूल जाते हैं, अपने गांवों को पीछे छोड़ आते हैं। ऐसे लोगों के लिए सरदार जी का ये वीडियो एक बड़ी सीख बन सकता है। सरदार जी बड़े गर्व से गढ़वाली बोली के प्रचार और प्रसार की अपील हर उत्तराखंडी से कर रहे हैं, तो हम उत्तराखंडी क्या ऐसा नहीं कर सकते ? जरा सोचिए कि अगर हम लोग ही अपनी भाषा और बोली का संरक्षण खुद ही नहीं करेंगे तो बाद में हमारा अस्तित्व ही क्या रह जाएगा। इस बारे में बड़े लोगों ने कुछ खास बातें बताई हैं।

यह भी पढें - Video: ये है बिंदास गढ़वाली लड़की, खूबसूरती में फिट और हुनर में सुपरहिट !
यह भी पढें - सिर्फ गढ़वाल में ही कैसे आया ‘अरसा’ ? 1100 साल पहले का इतिहास जानते हैं आप ?
बड़े बुजुर्ग कह गए हैं कि जिस शख्स ने अपनी संस्कृति से ही मुंह मोड़ लिया, तो वो किसी काबिल नहीं रहता। जो अपनी जड़ों से ही दूर हो जाता है तो वो निर्जीव प्राणी के समान है। इसलिए आप भी सरदार जी का ये वीडियो देखिए और उनसे कुछ सीखिए।

Loading...

Latest Uttarakhand News Articles

वीडियो : DM स्वाति भदौरिया से खास बातचीत
वीडियो : खूबसूरत उत्तराखंड : स्वर्गारोहिणी
वीडियो : श्री बदरीनाथ धाम में बर्फबारी का मनमोहक नजारा देखिये..

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

वायरल वीडियो

इमेज गैलरी

SEARCH

To Top