Connect with us
Image: ramesh bhatt doing great work for uttarakhand

उत्तराखंड का सपूत, दिल्ली में मीडिया की नौकरी छोड़ी, अब मातृभूमि के लिए किया बड़ा काम

उत्तराखंड का सपूत, दिल्ली में मीडिया की नौकरी छोड़ी, अब मातृभूमि के लिए किया बड़ा काम

18 मार्च 2018...उत्तराखंड में त्रिवेंद्र सरकार का एक साल पूरा हुआ। इस दौरान उत्तराखंड में ऐसा पहली बार हुआ कि लोगों ने सोशल मीडिया यानी फेसबुक के जरिए देहरादून में हुए कार्यक्रम को देखा। सोशल मीडिया के जरिए लगभग हर उत्तराखंडी ये देख पाया कि आखिर देहरादून से सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत राज्य के लिए क्या बड़ी घोषणाएं कर रहे हैं। इन सबके पीछे एक चेहरा था। नाम है रमेश भट्ट। रमेश भट्ट इस वक्त उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत के मीडिया सलाहकार हैं। उनका विज़न एकदम साफ है कि मीडिया के हर माध्यम के जरिए प्रदेश के लोगों तक वो पहुंचाया जाए, जो सरकार कर रही है। रमेश भट्ट उत्तराखंड का वो चेहरा हैं जिन्हें भारतीय मानवाधिकार परिषद की तरफ से युवाओं को प्रेरित करने के लिए ‘एक्ससेप्शनल लीडरशिप एंड सोशल इम्पैक्ट अवॉर्ड 2017’ से नवाजा गया था। ये बस एक बानगी भर है।

यह भी पढें - उत्तराखंड के ‘‘रावत’’ बेमिसाल हैं, देश और दुनिया में जमाई अपनी धाक
यह भी पढें - उत्तराखंड के दबंग डीएम दीपक रावत... जब दरवाजे पर एक लड़की ने रखा था लव लेटर
उत्तराखंड में आई केदार आपदा के दौरान रमेश भट्ट ने दिन रात कवर किया था और देश-दुनिया को इस बड़ी त्रासदी के बारे में जानकारी दी थी। पहाड़ के लोगों के दुख और दर्द को देश के हुक्मरानों तक पहुंचाने में रमेश भट्ट ने अहम भूमिका अदा की है। दिल्ली में भले ही वो पत्रकारिता जगत का जाना-माना चेहरा रहे हों, लेकिन उनका दिल हमेशा उत्तराखंड के लिए ही धड़का। उन्होंने उत्तराखंड से जुड़ी ऐसी कई डॉक्यूमेंट्री तैयार की हैं, जो दिल को छू लेती हैं। पाताल भुवनेश्वर, विवेकानंद शक्तिपीठ, जागेश्वर धाम, सट्टाल का हिडिम्बा मंदिर और ना जाने कितनी ऐसी डॉक्यूमेंट्री हैं, जिनमें उन्होंने सभी को पहाड़ों का संदेश दिया है। उत्तराखंड की स्वास्थ्य सेवाओं की समस्याओं को उजागर करना हो, महिलाओं से जुड़ी कोई परेशानी हो या फिर उत्तराखंड में पर्यटन को लेकर दुनिया का ध्यान आकर्षित करना हो, हर बार उन्होंने इन तमाम बातों को उजागर किया है।

यह भी पढें - उत्तराखंड में घूमने आई थी जर्मनी की अमीर लड़की...पहाड़ों रही और सरस्वती माई बन गई
यह भी पढें - उत्तराखंड का सीक्रेट सुपरस्टार, जिसे उत्तराखंडी कम जानते हैं लेकिन विदेशी उसे पूजते हैं !
रमेश भट्ट भारतीय मीडिया का एक ऐसा चेहरा रहे हैं, जिन्होंने पीएम मोदी के अमेरिका, चीन, ब्रिटेन, जर्मनी, फ्रांस, इजरायल, जापान और नेपाल दौरों के दौरान व्यापक कवरेज की थी। लोकसभा टीवी में उन्होंने सात साल बिताए, जहां उन्होंने अलग अलग कार्यक्रमों के माध्यम से अपनी अलग ही पहचान स्थापित की थी। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के मीडिया सलाहकार नियुक्त होने से पहले रमेश भट्ट ‘न्यूज नेशन’ में कई प्रोग्राम होस्ट करते थे। इसके अलावा वो उत्तराखंड के दैनिक अखबार ‘उत्तर उजाला’ और जैन टीवी में भी काम कर चुके हैं। जब तक रमेश भट्ट पत्रकारिता की दुनिया में रहे, चब तक उन्होंने अपनी स्पष्टवादी छवि को बनाए रखा। अब ये युवा उत्तराखंड में है और हर बार अपनी नई सोच के जरिए हर उत्तराखंडी तक पहुंच बना रहे हैं। ऐसे युवाओं पर उत्तराखंड को गर्व है।

Loading...

Latest Uttarakhand News Articles

वीडियो : DM स्वाति भदौरिया से खास बातचीत
वीडियो : खूबसूरत उत्तराखंड : स्वर्गारोहिणी
वीडियो : श्री बदरीनाथ धाम में बर्फबारी का मनमोहक नजारा देखिये..

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

वायरल वीडियो

इमेज गैलरी

Trending

SEARCH

To Top