श्रद्धांजलि: पप्पू कार्की के वो 4 गीत, जिनकी बदौलत वो पहाड़ी संगीत के बेताज बादशाह बने (Pappu karki songs that made him different from others)
Connect with us
Uttarakhand Govt Denghu Awareness Campaign
Image: Pappu karki songs that made him different from others

श्रद्धांजलि: पप्पू कार्की के वो 4 गीत, जिनकी बदौलत वो पहाड़ी संगीत के बेताज बादशाह बने

श्रद्धांजलि: पप्पू कार्की के वो 4 गीत, जिनकी बदौलत वो पहाड़ी संगीत के बेताज बादशाह बने

कुछ सितारे ऐसे होते हैं, जो चले जाते हैं और उनकी यादें दिलों में बनी रहती हैं। आज भले ही उत्तराखंड का हर नौजवान संगीत का ककहरा सीखना चाह रहा है। लेकिन पप्पू कार्की आवाज और संगीत की दुनिया बेताज बादशाह थे। हर वक्त कुछ नया सीखना उनका जुनून था। सिर्फ 37 साल की उम्र में ही पप्पू कार्की हमें छोड़कर चले गए। उत्तराखंड ना तो पप्पू कार्की को भूलेगा और ना ही उनके गीतों को। सुबह सुबह एक भीषण सड़क दुर्घटना में पप्पू कार्की ने प्राण त्याग दिए। कनालीछीना के रहने वाले पप्पू कार्की एक मधुर शख्सियत थे। हर किसी से प्यार से बात करना और दिल जीत लेने वाला अंदाज था पप्पू कार्की का। 37 साल की छोटी सी उम्र में वो कुछ ऐसी रचनाएं दे गए, जो भूलना नामुमकिन है। हम चाहते हैं कि आप उनके संगीत के खजाने के इन 4 गीतों को सुनें, देखें और समझे कि उत्तराखंड के संगीत की सेवा के लिए वो किस तरह बेमिसाल यादें छोड़कर चले गए ...

1- ओ लाली हौंसिया

ये वो गीत है जो हर उत्तराखंडी की जुबान पर अक्सर आता है। बेहतरीन आवाज, खूबसूरत लोकेशन के भरा ये गीत साल 2016 में पप्पू कार्की ने गाया था। 10 लाख से ज्यादा लोगों की पसंद बना था ये गीत। आज भी इस गीत में पप्पू कार्की की यादें बसी हैं।

2- हीरा समद्याणी

रिश्तों की मधुरता...समधी और समधन की मीठी-नोंक झोंक और पप्पू कार्की की जबरदस्त आवाज। ये वो गीत है, जो शायद आपने सुना ना हो, लेकिन सुनेंगे तो पता चलेगा कि 2015 में ही पप्पू कार्की ने कैसा खूबसूरत गीत पेश किया था। आज भी ये गीत उतना ही रोचक और खूबसरूत है।

3- मधुली

ये गीत तैयार हो चुका था और इसका वीडियो लॉन्च होना बाकी था। इस बार पप्पू कार्की ने इसे इतने जबरदस्त तरीके से गाया था कि रौंगटे खड़े हो जाते हैं। यकीन मानिए आपने आज तक ऐसी पेशकश किसी से सुनी नहीं होगी। पप्पू कार्की कौन हैं, ये बताने के लिए ये गीत ही काफी है।

4- तेरी रंग्याली पिछोड़ी कमु

2017 में बना ये गीत पहाड़ की परंपराओं को समेटकर बना था। पप्पू कार्की ने उसे उतने ही खूबसरूत अंदाज में पेश किया। इसका नतीजा ये है कि ये गीत भी 10 लाख से ज्यादा लोगों की पसंद बना। पप्पू कार्की के लिए दौलत बड़ी चीज नहीं थी। उनके लिए नाम और काम बड़ा था। नमन उत्तराखंड के इस महानायक को।

Loading...

Latest Uttarakhand News Articles

वीडियो : यहां जीवित हो उठता है मृत व्यक्ति - लाखामंडल उत्तराखंड
वीडियो : उत्तराखंड का अमृत: किलमोड़ा
वीडियो : DM स्वाति भदौरिया से खास बातचीत

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

वायरल वीडियो

इमेज गैलरी

SEARCH

पढ़िये... उत्तराखंड की सत्ता से जुड़ी हर खबर, संस्कृति से जुड़ी हर बात और रिवाजों से जुड़े सभी पहलू.. rajyasameeksha.com पर।


Copyright © 2017-2020 राज्य समीक्षा.

To Top