Connect with us
Image: Uttarakhand anu kumar won gold medal for india in japan

देवभूमि के बेटे ने रोशन किया भारत का नाम, जापान में रिकॉर्ड टाइम के साथ जीता गोल्ड

देवभूमि के बेटे ने रोशन किया भारत का नाम, जापान में रिकॉर्ड टाइम के साथ जीता गोल्ड

गर्व होगा आपको ये जानकर कि उत्तराखंड के बेटे ने भारत का नाम विदेशी धरती में रोशन किया है। यूं तो उत्तराखंड से अब विश्व फलक पर ऐसी ऐसी खेल प्रतिभाएं आ रही हैं, जो वास्तव में कमाल कर रही हैं। हर क्षेत्र में देवभूमि के सपूत आगे बढ़ रहे हैं। ऐसा ही एक सपूत है अनु कुमार। अनु कुमार देहरादून के महाराणा प्रपात स्पोर्ट्स एकेडमी का छात्र है। मूल रूप से धनपुरा गांव के अनु कुमार ने एशियन जूनियर एथलेटिक्स चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल हासिल किया और वो भी रिकॉर्ड टाइम के साथ। जी हां अनु कुमार ने 800 मीटर की दौड़ में 1 मिनट 54 सेकंड 11 माइक्रो सेकंड का रिकॉर्ड टाइम लगाया है। अनु कुमार बेहद ही गरीब परिवार से हैं। उनके पिता गैस एजेंसी में गैस सिलेंडरों की डिलीवरी का काम करते हैं। इनके संघर्षों की कहानी भी आज के हर युवा के लिए प्रेरणा है। आइए इस बारे में जानते हैं।

यह भी पढें - अनु कुमार की जिंदगी के बारे में भी जानिए
अनु कुमार चार भाई- बहनों में दूसरे नंबर का है। पिता बड़ी मुश्किल से घर का खर्चा चला पाते हैं। अपने बच्चों को दो वक्त की रोटी देने के लिए माता-पिता दिन रात मेहनत में जुटे रहते हैं। हर किसी बच्चे के दिल में एक सपना होता है और इस सपने को पूरा करने में माता-पिता का अक अहम योगदान होता है। अनु का सपना था कि वो भी एक एथलीट बनकर देश का नाम रोशन करे। प्रतिभा निखरती गई तो अनु कुमार का सलेक्शन देहरादून के महाराणा प्रताप स्पोर्ट्स कॉलेज में हो गया। यहां से तो अनु के सपनों को जैसे पंख लग गए। अनु देश के वो पहले खिलाड़ी हैं, जिन्होंने खेलो इंडिया प्रतियोगिता 2018 में पहला गोल्ड मेडल जीता था। अनु के यहां दो गोल्ड मेडल जीतकर साबित कर दिया था कि वो किस प्रतिभा के धनी हैं।

यह भी पढें - जब अनु कुमार ने दो गोल्ड एक ही चैंपियनशिप में जीते
19 साल के अनु कुमार के खेल को देखकर दुनियाभर के दिग्गज खिलाड़ियों का कहना है कि आने वाले वक्त में वो ओलंपिक में भारत की तरफ से एक मजबूत दावेदार हो सकते हैं। इससे पहले भी अनु विदेश में जलवा दिखा चुके हैं। साल 2017 में फ्रांस में वर्ल्ड स्कूल चैंपियनशिप हुई थी। इस दौरान अनु ने 1 मिनट 53 सेकंड में ही 800 मीटर की रेस पूरी कर ली थी। हालांकि इस बार जापान में अनु कुमार 1 सेकंड से पीछे रहे और अपना रिकॉर्ड नहीं तोड़ पाए। लेकिन एशियन जूनियर एथलेटिक्स में उन्होंने अपने वर्ग में रिकॉर्ड तो कायम कर ही दिया है। उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत भी अनु कुमार की प्रतिभा के कायल हैं। आपको याद होगा कि कुछ वक्त पहले उन्होंने अनु कुमार से और उनके परिवार से मुलाकात की थी। इस दौरान सीएम त्रिवेंद्र ने इस परिवार का सम्मान किया था।

Latest Uttarakhand News Articles

वीडियो : DM स्वाति भदौरिया से खास बातचीत
वीडियो : आछरी - गढ़वाली गीत
वीडियो : बाघ-तेंदुओं से अकेले ही भिड़ जाता है पहाड़ का भोटिया कुत्ता
Loading...

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

वायरल वीडियो

इमेज गैलरी

Trending

SEARCH

To Top