Connect with us
Image: Car fell into ditch in devprayag

उत्तराखंड के इस रूट पर चलना खतरनाक है, पिछले 5 साल में 104 हादसे, 84 लोगों की मौत

स्थानीय लोगों ने एनएच प्रशासन और लोनिवि को इस जगह पर दीवार बनाने का सुझाव दिया था, पर सुझाव पर किसी ने ध्यान नहीं दिया...

देवप्रयाग का सकनीधार...इस जगह को वाहनों का काल कहा जाए तो गलत नहीं होगा। यहां पर तीखे मोड़ हैं, जो कि हादसों की अहम वजह है। बीते गुरुवार को यहां एक कार खाई में गिर गई, हादसे में कार सवार 12 साल की बच्ची समेत छह लोगों की मौत हो गई। दो परिवार बर्बाद हो गए। ऋषिकेश-बदरीनाथ हाईवे पर स्थित सकनीधार में पिछले 5 सालों में 104 वाहन खाई में गिर चुके हैं। हादसों में अब तक 84 लोगों की जान जा चुकी है। स्थानीय लोगों ने एनएच प्रशासन और लोनिवि को इस जगह पर दीवार बनाने का सुझाव दिया था, पर सुझाव पर किसी ने ध्यान नहीं दिया। इस जगह पर दीवार होती तो यहां होने वाले हादसों को टाला जा सकता था, लेकिन ऐसा हुआ नहीं।

यह भी पढ़ें - बधाई: मुंबई में बना उत्तराखंड भवन, जानिए इससे क्या होंगे फायदे
गुरुवार को ऋषिकेश-बदरीनाथ हाईवे पर सकनीधार के पास बेकाबू कार गहरी खाई में जा गिरी। खाई में गिरते ही कार के परखच्चे उड़ गए। खराब मौसम के चलते शवों को खाई से निकालने में पुलिस और एसडीआरएफ को खासी मशक्कत करनी पड़ी। कार ऋषिकेश से रुद्रप्रयाग जा रही थी। जिसमें ऊखीमठ तहसील में नाजिर के पद पर काम करने वाले मकान सिंह के परिवार समेत 6 लोग सवार थे। हादसे में पांच लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि मकान सिंह की पत्नी 42 वर्षीय सौंपा देवी ने अस्पताल में दम तोड़ दिया। हादसे की वजह घना कोहरा और ड्राइवर को नींद की झपकी आना बताया जा रहा है। हादसे में मकान सिंह (49), उनके बेटे पंकज(18) और पत्नी सौंपा देवी की मौत हो गई। 53 वर्षीय फूलदेई देवी, 35 वर्षीय लक्ष्मी देवी और उसकी 12 साल की बेटी नेहा भी नहीं बच सकीं। मृतकों की पहचान देर शाम तक हो पाई। हादसे के बाद मृतकों के घरों में कोहराम मचा है। पुलिस ने शव परिजनों को सौंपकर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी।

Latest Uttarakhand News Articles

वीडियो : उत्तराखंड में मौजूद है परीलोक...जानिए खैंट पर्वत के रहस्य
वीडियो : उत्तराखंड का अमृत: किलमोड़ा
वीडियो : खूबसूरत उत्तराखंड : स्वर्गारोहिणी
Loading...

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

वायरल वीडियो

इमेज गैलरी

SEARCH

To Top