Connect with us
Image: Uttarakhand social satire garhwali film kalank movie review

रिलीज हुई नई गढ़वाली फिल्म कलंक, यू-ट्यूब पर हो रही है जमकर तारीफ..आप भी देखिए

नई गढ़वाली फिल्म कलंक समाज की रूढ़िवादी सोच और कुरीतियों पर प्रहार भी करती है। आप भी देखिए

राज्य गठन के बाद से उत्तराखंड में संस्कृति और क्षेत्रीय फिल्मों के लिए बेहतर माहौल बना है। प्रदेश में हिंदी और दूसरी भाषाओं के साथ-साथ क्षेत्रीय बोली-भाषा में भी फिल्में बन रही हैं। सोशल मीडिया के दौर में फिल्म को दर्शकों तक पहुंचाना काफी आसान हो गया है। इस क्षेत्र में अभी काफी कुछ किया जाना बाकी है, पर शुक्र है कि प्रयास हो रहे हैं और होते रहने चाहिए। उत्तराखंड में हाल ही में रिलीज हुई गढ़वाली फिल्मों में से एक नई गढ़वाली फिल्म कलंक, जो कि अपनी अलग विषय-वस्तु के चलते खूब सुर्खियों में है। फिल्म आज के समाज में घट रही घटनाओं को लोगों के सामने पेश करती है। समाज की रूढ़िवादी सोच और कुरीतियों पर प्रहार भी करती है। फिल्म के जरिए जातिवाद से जुड़ी कुरीतियों और उसके चलते पनपने वाली बुराईयों के बारे में बताया गया है। जातिवाद से हमारे समाज को, हमारे पहाड़ को कितना नुकसान हो रहा है ये आप इस फिल्म के जरिए जान सकते हैं। आगे देखिए फिल्म

यह भी पढ़ें - इस पहाड़ी गीत ने बनाया बड़ा रिकॉर्ड..अब तक 2 करोड़ 70 लाख लोगों ने देखा..आप भी देखिए
फिल्म का डायरेक्शन अशोक चौहान ने किया है। सूर्यांश प्रोडक्शन के बैनर तले बनी फिल्म को यू-ट्यूब पर अच्छा रेस्पांस मिल रहा है। कलाकारों ने भी खूब मेहनत की है। फिल्म में प्रभाकर पंत, अशोक चौहान, सतेंद्र रावत, राजेश नौगाईं, शिवचरण, शिम्मा रावत, जस्सू भट्ट, कंचन रावत, योगिता गौरोला और चीनू गुसांई मुख्य भूमिका में हैं। नई गढ़वाली फिल्म कलंक में कई कर्णप्रिय गीत भी सुनने को मिलेंगे। जिन्हें प्रियंका पंवार और वीरेंद्र पंवार ने अपनी आवाज से सजाया है। सिनेमेटोग्राफी का क्रेडिट सुधीर सावन को जाता है। यू-ट्यूब पर रिलीज हुई फिल्म को लोग खूब पसंद कर रहे हैं।

YouTube चैनल सब्सक्राइब करें -

वीडियो : उत्तराखंड में मौजूद है परीलोक...जानिए खैंट पर्वत के रहस्य
वीडियो : बाघ-तेंदुओं से अकेले ही भिड़ जाता है पहाड़ का भोटिया कुत्ता
वीडियो : DM स्वाति भदौरिया से खास बातचीत
Loading...
Loading...

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

वायरल वीडियो

इमेज गैलरी

SEARCH

To Top