Connect with us
Uttarakhand Government Coronavirus donate Information
Image: Coronavirus Uttarakhand:Chamoli dm swati s bhadauria good work for labours

चमोली जिले की DM स्वाति का एक्शन, मज़दूरों के साथ नाइंसाफी कर रहे ठेकेदारों पर FIR

चमोली में ठेकेदारों द्वारा मजदूरों के साथ चल रहे बर्ताव के कारण डीएम स्वाति भदौरिया IAS swati s bhadauria ने सख्त निर्णय लिया है। जिला प्रशासन ने ठेकेदारों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करा दी है।

पूरे देश में लॉकडाउन के बाद से जाने कितने ही मज़दूर अपने-अपने राज्यों में वापसी कर रहे हैं। हर जगह इनकी भीड़ से बुरा हाल है। लॉकडाउन का छोड़िये इनकी भीड़ ने तो फिज़िकल डिस्टेंस के रूल की भी धज्जियां उड़ा दी हैं। दिल्ली में बस अड्डों पर लगी भीड़ यही गुहार लगा रही है कि उनको घर वापिस जाने दिया जाए। हज़ारों नहीं लाखों की संख्या में लोगों ने घर जाने की होड़ लगा दी है। दूसरे राज्यों से आये ये लोग डेली वेजर्स हैं और रोज़ की मेहनत-मजदूरी करके किसी तरह अपना और अपने परिवारों का पेट पालते हैं। कोई वाहन नहीं मिल रहा तो ये पैदल ही घर की ओर रुख कर रहे हैं। चमोली में भी ऐसे ही 103 मज़दूर लॉकडाउन के बाद घर जाने को मजबूर हो गए लेकिन डीएम स्वाति IAS swati s bhadauria ने इस मामले में सख्ती दिखाई और उन तमाम मजदूरों को गौचर में ही रोक लिया। आगे पढ़िए

यह भी पढ़ें - उत्तराखंड के IAS दीपक रावत का नेक काम, लॉकडाउन में बने गरीबों का सहारा..देखिए वीडियो
इसके बाद मजदूरों को रोक कर कारण पूछा गया तो उन्होंने बताया कि ठेकेदारों ने उनके खाने का कोई इंतज़ाम नहीं किया है, और तो और वे खुद भी कार्यस्थल से गायब हो रखे हैं। जिला प्रशासन ने इस बात पर सख्त एक्शन लिया और ऐसे ठेकेदारों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करा दी। दरअसल शनिवार को एनएचआईडीसीएल की एनकेजी कम्पनी, टीडीएस विजय सन, और भारत कम्पनी डिलवैज के कुछ ठेकेदारों के खिलाफ चमोली की डीएम स्वाति भदौरिया ने एफआईआर दर्ज करने के निर्देश दिए जिसपर अधिकारियों ने अमल किया। दरअसल इन कम्पनियों में काम करने वाले 103 मजदूरों ने पैदल ही अपने घरों की ओर वापसी करने का निर्णय किया। जिला प्रशासन ने इनकी कम्पनियों के ठेकेदारों के ऊपर एफआईआर दर्ज कर दी है। आगे पढ़िए

यह भी पढ़ें - DM मंगेश घिल्डियाल की बाहर से आए लोगों को चेतावनी, गांव का माहौल खराब मत करो..देखिए
डीएम स्वाति भदौरिया IAS swati s bhadauria ने सख्ती बरतते हुए कहा है कि अगर कोई भी ठेकेदार बाहर से लेबर बुलाता है तो लॉकडाउन की अवधि में मज़दूरों के खाने और रहने की व्यवस्था करना भी उन्हीं ठेकेदार की ज़िम्मेदारी होगी। अगर लॉकडाउन की अवधि के दौरान कोई भी मजदूर इस तरह से मजबूरी में घरों की ओर जाते दिखे तो सम्बंधित ठेकेदार के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी। डीएम स्वाति भदौरिया के निर्देश पर वापिस जा रहे मजदूरों को गौचर में भोजन कराया गया और बस के ज़रिए उनको वापस उनके कार्यस्थल भेजा गया। डीएम स्वाति भदौरिया ने ये कहा है कि बाहर से लाये गए मजदूरों के खाने और रहने की व्यवस्था ठेकेदार सुनिश्चित करें। अगर किसी मजदूर को फिर भी खाने में कोई समस्या आ रही है तो वो जिला परिचालन केंद्र के मोबाइल नम्बर 7055753124 पर सम्पर्क कर सकते हैं। चमोली जिला प्रशासन उनको खाद्दान्न उपलब्ध कराएगा।

Loading...

Latest Uttarakhand News Articles

वीडियो : उत्तराखंड का अमृत: किलमोड़ा
वीडियो : आछरी - गढ़वाली गीत
वीडियो : उत्तराखंड में मौजूद है परीलोक...जानिए खैंट पर्वत के रहस्य

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

वायरल वीडियो

इमेज गैलरी

SEARCH

To Top