उत्तराखंड देहरादूनhans foundation donates 1.51 crores in CM relief fund

उत्तराखंड: देशभर के कोरोना पीड़ितों को हंस फाउंडेशन ने पहुंचाई करोड़ों की मदद..कायम की मिसाल

उत्तराखंड को कोविड-19 से लड़ने और प्रदेश की जनता को इस महामारी के जल्द से जल्द उबारने के लिए हंस फाउंडेशन के माता मंगला जी एवं भोले जी महाराज ने 1 करोड़ 51 लाख रूपये की राशि प्रदान की है।

uttarakhand news rajya sameeksha Vikalp rahit sankalp sep 22
Hans Foundation: hans foundation donates 1.51 crores in CM relief fund
Image: hans foundation donates 1.51 crores in CM relief fund (Source: Social Media)

देहरादून: आज पूरा देश कोरोना वायरस के खतरे से सहमा हुआ है। उत्तराखंड समेत सभी देशों में लोगों का अमूल्य जीवन दांव पर लगा है। सरकार भी काफी सजगता से कार्य कर रही हैं। कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार ने 17 मई तक लॉकडाउन बढ़ाने का एलान किया है। इस विकट परिस्थिति में असहाय लोगों की मदद के लिए समाज के सभी वर्गों के लोगों ने भी हाथ बढ़ाए है। कोविड-19 की विकट परिस्थिति में हंस फाउंडेशन भी देश में जरूरतमंदों के लिए मददगार बनकर उनके साथ खड़ा है। उत्तराखंड में और अधिक से अधिक लोगों तक मदद पहुँचे, लोग इस संकट से जल्द से बाहर निकले सीस सोच के साथ हंस फाउंडेशन के माता मंगला और भोले जी महाराज ने मुख्यमंत्री राहत कोष में 1 करोड़ 51 लाख रुपये की राशि प्रदान की, जिसका पत्र गुरुवार को उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को सौंपा गया। माता मंगला जी एवं भोले जी महाराज अपने स्तर पर हंस फाउंडेशन के माध्यम से देश के कई राज्यों को कोविड-19 से लड़ने के लिए सहयोग कर रहे हैं, फिर चाहे वह खाद्य सामग्री हो या स्वास्थ्य का मामला, हंस फाउंडेशन ऑपरेशन नमस्ते अभियान के माध्यम से लाखों लोगों तक मदद पहुंचा रहा है।

ये भी पढ़ें:

यह भी पढ़ें - जय हो: उत्तराखंड में 65 साल के बुजुर्ग ने कोरोना को हराया, सिर्फ 6 दिन में जीती बीमारी से जंग
मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने माता मंगला और भोले जी महाराज का आभार प्रकट करते हुए कहा कि "आज देश जिस संकट से गुजर रहा है। इस संकट के समय में राज्य को उभारने के लिए कई लोगों राज्य के साथ खड़े है। ऐसे समय के विकास के लिए राज्य के गरीब और जरूरतमंद लोगों को मदद पहुंचाने के लिए हम माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी कोटि-कोटि आभार प्रकट करते हैं"। इस मौके पर माता मंगला ने कहा कि "आज कोविड-19 संक्रमण के चलते पूरा विश्व संकट में है। इस विकट परिस्थिति में हम सबकी कुशलता के लिए कामना करते है। साथ ही हम देश-प्रदेश की जनता से अपील करते हैं कि कोविड-19 से बचाव का एक ही रास्ता है, एकता और इस एकता के साथ हमें सरकार द्वारा बनाए गए दिशा-निर्देशों का पालन करना है। हम हंस फाउंडेशन के माध्यम से देश भर में लॉकडान में फसे परिवारों को निरंतर सहयोग पहुंचा रहे हैं"।

ये भी पढ़ें:

यह भी पढ़ें - उत्तराखंड: पहाड़ी जिलों में 47 बसों से पहुंचे 1142 लोग..चेहरे पर दिखी खुशी
माता मंगला ने आगे कहा कि "हंस फाउंडेशन उत्तराखंड, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, गुजरात, पंजाब, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और देश के तमाम दूसरे राज्यों में इस संकट से जूझ रहे लाखों परिवारों तक हम खाद्य सामग्री पहुंचा चुके हैं,और यह प्रक्रिया निरंतर जारी है।" उत्तराखंड की राज्यपाल बेबी रानी मौर्य, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के साथ ही प्रदेश के वरिष्ठ नेताओं ने भी माता मंगला और भोले जी महाराज के "आपरेशन नमस्ते अभियान" की सराहना की। गरीब और निर्धन परिवारों की मदद करने के लिए अपने आप में बहुत महत्वपूर्ण अभियान है। जो सोशल डिस्टेसिंग का पालन करते हुए डिजिटल इंडिया के माध्यम से लाखों गरीब परिवारों तक राशन, मास्क और तमाम दूसरी सेवाओं को पहुंचाने में सहायक बन रहा है।