उत्तराखंड: घर की मरम्मत के दौरान दुखद हादसा, मां-पिता की मौत..अनाथ हुए दो मासूम (Accident during house repair in Kapkot)
Connect with us
Image: Accident during house repair in Kapkot

उत्तराखंड: घर की मरम्मत के दौरान दुखद हादसा, मां-पिता की मौत..अनाथ हुए दो मासूम

बागेश्वर के कपकोट में घर की मरम्मत के लिए मिट्टी खोदते समय मिट्टी का टीला का ढह गया और मिट्टी के टीले के नीचे दबने से एक दंपती की दर्दनाक मृत्यु हो गई। 9 साल के बेटे और 2 साल की मासूम बच्ची के सिर के ऊपर से उठा माता-पिता का साया।

उत्तराखंड के बागेश्वर जिले से बेहद बुरी खबर सामने आ रही है। बागेश्वर जिले के कपकोट में एक पुराने घर की मरम्मत करते हुए एक दंपती की मृत्यु हो गई। दंपती के घर में कंस्ट्रक्शन का काम चल रहा था और घर की मरम्मत के लिए मिट्टी खोदते समय मिट्टी का टीला ढह गया और मिट्टी के टीले के नीचे दबने से दोनों की दर्दनाक मृत्यु हो गई। घटना के बाद से ही उनके परिजनों के बीच में कोहराम मचा हुआ है। दोनों के बच्चों के सिर के ऊपर से माता-पिता का साया उठ चुका है। दोनों का एक मासूम 9 साल का बेटा और 2 साल की बेटी है जिनको अब माता-पिता का प्रेम कभी नसीब नहीं होगा। हादसे के बाद से सभी को दंपती के बच्चों की चिंता सता रही है। पुलिस ने दोनों के शव पोस्टमार्टम कर परिजनों के सुपुर्द कर दिया है। चलिए अब आपको पूरी घटना से अवगत कराते हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार बागेश्वर जिले के जगथाना में 31 वर्षीय देवेंद्र सिंह अपनी 26 वर्षीय पत्नी गीता देवी के साथ रहते थे। उनके दो बच्चे भी हैं। बड़े बेटे की उम्र 9 साल है और महज 2 साल की उनकी छोटी बेटी है।

यह भी पढ़ें - खुशखबरी: उत्तराखंड में 150 ASI और 2000 कान्सटेबल की भर्ती जल्द
बताया जा रहा है कि बीते मंगलवार को दोनों दंपती घर बनाने के लिए पास की ही एक जगह पर मिट्टी खोद रहे थे। मिट्टी खोदने के दौरान मिट्टी का टीला ढह गया और दोनों दंपती मिट्टी के नीचे दब गए और उनकी दर्दनाक मृत्यु हो गई। घटना का पता तब लगा जब दोनों लोग शाम के 5 बजे तक भी घर नहीं पहुंचे। जिसके बाद परिजनों को कुछ अनहोनी की आशंका हुई और उन्होंने गांव वालों के साथ देवेंद्र और गीता देवी की खोजबीन शुरू की। जब गांव वालों ने मिट्टी खोदने के औजार मिट्टी के टीले के पास हुए देखे तो उन्होंने इस घटना की जानकारी बिना देरी के पुलिस को और तहसील प्रशासन को दी। जानकारी मिलने पर कपकोट की नायब तहसीलदार पूजा शर्मा, राजस्व पुलिस कर्मी और एसडीआरएफ की टीम मौके पर रवाना हुई और रात में तकरीबन 1 बजे कड़ी मशक्कत के बाद दोनों के शवों को मिट्टी के टीले के नीचे से निकाला जा सका

यह भी पढ़ें - खुशखबरी: उत्तराखंड पहुंची कोविड शील्ड वैक्सीन की 1 लाख 13 हजार डोज
पुलिस ने बुधवार को दोनों शवों का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए जिला मुख्यालय में भेज दिया है और बागेश्वर में दोनों के शवों का पोस्टमार्टम के बाद अब दोनों के शवों को परिजनों को सौंप दिया है। घटना के बाद से ही ग्रामीणों और परिजनों के बीच में कोहराम मचा हुआ है। परिजनों ने जानकारी देते हुए बताया कि देवेंद्र सिंह मुंबई में नौकरी करता था और वह लॉकडाउन के बाद मुंबई से वापस अपने गांव में लौट गया। देवेंद्र इन दिनों अपने पुराने मकान की मरम्मत करा रहा था और देवेंद्र और उसकी पत्नी गीता देवी इसी के लिए मिट्टी खोदने के लिए मिट्टी के टीले पर गए थे और मिट्टी खोदने के दौरान ही टीला उनके ऊपर गिर गया और दोनों की दर्दनाक मृत्यु हो गई। दोनों के परिजन उनके मासूम बच्चों के भविष्य को लेकर चिंता में है। दंपती की मौत के बाद से ही उनके दोनों बच्चे अनाथ हो गए हैं। देवेंद्र का 9 साल का लड़का और 2 साल की एक मासूम बेटी है जिनके ऊपर से माता-पिता का साया उठ चुका है। हादसे के बाद से ही गांव में शोक की लहर पसर गई है। वहीं परिजनों ने और गांव के लोगों ने सरकार और प्रशासन से देवेंद्र और गीता के बच्चों के पालन-पोषण और उनका भविष्य सुरक्षित रखने के लिए व्यवस्था करवाने की मांग की है।

Loading...

Latest Uttarakhand News Articles

वीडियो : श्री बदरीनाथ धाम में बर्फबारी का मनमोहक नजारा देखिये..
वीडियो : उत्तराखंड का अमृत: किलमोड़ा
वीडियो : यहां जीवित हो उठता है मृत व्यक्ति - लाखामंडल उत्तराखंड

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

वायरल वीडियो

इमेज गैलरी

SEARCH

पढ़िये... उत्तराखंड की सत्ता से जुड़ी हर खबर, संस्कृति से जुड़ी हर बात और रिवाजों से जुड़े सभी पहलू.. rajyasameeksha.com पर।


Copyright © 2017-2020 राज्य समीक्षा.

To Top