उत्तराखंड उत्तरकाशीShubham Ramola of Uttarkashi became fighter pilot in the Air Force

गढ़वाल के शुभम रमोला को बधाई, वायुसेना में फाइटर पायलट बना बंधाण गांव का बेटा

Shubham Ramola ने कड़ी मेहनत और लगन से Air Force में fighter pilot बनकर अपने परिवार और क्षेत्र का नाम रोशन किया है।

Shubham Ramola: Shubham Ramola of Uttarkashi became fighter pilot in the Air Force
Image: Shubham Ramola of Uttarkashi became fighter pilot in the Air Force

उत्तरकाशी: उत्तरकाशी के एक सामान्य परिवार का होनहार बेटा Shubham Ramola अब Air Force में fighter pilot बनकर देश की सेवा करेगा। शुभम ने कड़ी मेहनत और लगन से भारतीय वायु सेना में फ्लाइंग ऑफिसर बनकर अपने परिवार और क्षेत्र का नाम रोशन किया है। हैदराबाद में हुई पासिंग आउट परेड के बाद शुभम बतौर फाइटर पायलट इंडियन एयर फोर्स का हिस्सा बन गए। उनकी उपलब्धि पर गांव में जश्न का माहौल है। उत्तराखंड में उत्तरकाशी जनपद के चिन्यालीसौड़ ब्लाक में एक छोटा सा गांव है बंधाण। शुभम इसी गांव के रहने वाले हैं। वर्तमान में उनका परिवार दिल्ली में रहता है, लेकिन गांव से उनका कनेक्शन हमेशा बना रहा। शुभम के पिता हरीश चंद्र रमोला एक प्राइवेट कंपनी में जॉब करते हैं। माता सावित्री रमोला गृहणी हैं। शुभम ने इंटर तक की पढ़ाई दिल्ली से की। बाद में बीएससी करने लगे। इसी दौरान एक दोस्त को एनडीए का फॉर्म भरते देख उन्होंने भी एनडीए में जाने का फैसला किया और तैयारी करने लगे।

ये भी पढ़ें:

बिना किसी कोचिंग के साल 2017 में शुभम ने एनडीए की परीक्षा दी और पास होने में सफल रहे। पुणे में एनडीए की पढ़ाई करने के बाद उन्हें एयर फोर्स का हिस्सा बनने का मौका मिला। अब वो देश के चुनिंदा फाइटर पायलट में से एक हैं। 2 जनवरी को वह कर्नाटक के बीदर एयर फोर्स स्टेशन में ड्यूटी ज्वाइन करेंगे। यहां अंतिम चरण की डेढ़ साल की कठिन ट्रेनिंग भी लेंगे। साधारण परिवार में जन्मे शुभम की सफलता कई मायनों में खास है। Shubham Ramola के Air Force में fighter pilot बनने की सफलता से पिता हरीश रमोला बेहद गर्वित महसूस कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि शुभम की फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथ्स बेहतरीन थी। शुभम की एकाग्रता ने उसे कभी भटकने नहीं दिया। उनके लिए बेहद गर्व की बात है कि अब उनका बेटा आसमान से देश की सरहदों की रक्षा करेगा। राज्य समीक्षा टीम की ओर से शुभम और उनके परिवार को शुभकामनाएं। आप भी पहाड़ के होनहार बेटे को बधाई देकर उसका हौसला बढ़ाएं।