उत्तराखंड चम्पावतManisha of Champawat Lohaghat became a flying officer in the Air Force

उत्तराखंड: छोटे से गांव की बेटी मनीषा ने पाया बड़ा मुकाम, भारतीय वायुसेना में बनी फ्लाइंग ऑफिसर

कभी पहाड़ की पगडंडियों पर चलकर स्कूल जाने वाली Champawat की Manisha Adhikari अब Air Force में flying officer बन गई हैं। उनकी सफलता से क्षेत्र में खुशी की लहर है।

Manisha Adhikari: Manisha of Champawat Lohaghat became a flying officer in the Air Force
Image: Manisha of Champawat Lohaghat became a flying officer in the Air Force

चम्पावत: उत्तराखंड के बेटे की नहीं बेटियां भी देश सेवा में अपना अहम योगदान दे रही हैं। अपनी प्रतिभा और मेहनत से कामयाबी का आसमान छू रही हैं। सफलता के शिखर छूने वाली इन बेटियों में अब कुमाऊं की मनीषा अधिकारी भी शामिल हो गई हैं। उत्तराखंड के चंपावत की Manisha Adhikari कमीशन हासिल कर अब Air Force में flying officer बन गई हैं। छोटे से गांव की रहने वाली मनीषा ने बड़े सपने देखे। अब वह वायुसेना के लड़ाकू विमान उड़ाती दिखेंगी। मनीषा अधिकारी चंपावत की रहने वाली हैं। सीमांत जिले चंपावत में एक क्षेत्र है मडलक। यहीं के चामा गुरेली गांव में मनीषा अधिकारी का परिवार रहता है। मनीषा की जिंदगी भी पहाड़ की आम लड़की की तरह ही गुजरी। उन्होंने प्राथमिक शिक्षा सरस्वती शिशु मंदिर लोहाघाट से हासिल की। यहीं से उन्होंने इंटर पास किया। उसके बाद देहरादून के डीबीआईटी से बीटेक की डिग्री हासिल की। आगे पढ़िए...मनीषा की जिंदगी भले ही आम लड़कियों जैसी थी, लेकिन उनके सपने आम नहीं थे। वह सेना में जाकर देश की सेवा करना चाहती थीं। कुछ ऐसा करना चाहती थीं, जिस पर न सिर्फ उन्हें बल्कि उनसे जुड़े हर शख्स को गर्व महसूस हो। अपने सपने को पूरा करने के लिए मनीषा ने खूब मेहनत की और आखिरकार उसे सच करने में कामयाब रहीं। कभी पहाड़ की पगडंडियों पर चलकर स्कूल जाने वाली मनीषा अब वायुसेना के फाइटर प्लेन उड़ाती दिखेंगी। उनकी सफलता से क्षेत्र में खुशी की लहर है। Champawat की Manisha Adhikari अब Air Force में flying officer बन गई हैं। उनके माता-पिता भी गर्व से फूले नहीं समा रहे। राज्य समीक्षा टीम की तरफ से होनहार मनीषा को ढेरों शुभकामनाएं। उनकी सफलता पहाड़ की दूसरी बेटियों को भी चुनौतियों पर जीत हासिल करने का हौसला देगी। उन्हें सेना का हिस्सा बनने के लिए प्रेरित करेगी।