उत्तराखंड देहरादूनAkshay kumar Cuttputlli movie Review mussoorie shooting

उत्तराखंड के ब्रांड एंबेसडर अक्षय ने उत्तराखंड से ही की बेईमानी? फैंस ने कहा- कुछ तो शर्म करो

अभिनेता अक्षय कुमार मसूरी आए थे तो सरकार-प्रशासन ने उन्हें पलकों पर बैठाया। वो ब्रांड एंबेसडर बना दिए गए, लेकिन देखिए अक्षय ने क्या किया है? देखिए वीडियो

uttarakhand news rajya sameeksha Vikalp rahit sankalp sep 22
akshay kumar cuttputtli movie uttarakhand: Akshay kumar Cuttputlli movie Review mussoorie shooting
Image: Akshay kumar Cuttputlli movie Review mussoorie shooting (Source: Social Media)

देहरादून: बॉलीवुड स्टार अक्षय कुमार। अक्षय दूसरे लोगों के लिए अभिनेता हैं, लेकिन उत्तराखंड के लिए उनकी अहमियत और जिम्मेदारी थोड़ा ज्यादा है।

Cuttputlli movie shooting in mussoorie not himachal

ऐसा इसलिए क्योंकि अभिनेता अक्षय कुमार उत्तराखंड के ब्रांड एंबेसडर हैं। कुछ महीने पहले जब अक्षय अपनी फिल्म कठपुतली की शूटिंग के लिए मसूरी आए थे तो सरकार-प्रशासन ने उन्हें पलकों पर बैठाया। शूटिंग के लिए हर सहूलियत दी गई। और तो और अक्षय कुमार प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर बना दिए गए।

Akshay kumar Cuttputlli movie Review

सोचा था अब अक्षय कुमार अपने उत्तराखंड को प्रमोट करेंगे, लेकिन हुआ ये है कि अक्षय की फिल्म कठपुतली में उत्तराखंड की खूबसूरत वादियों को हिमाचल का दिखा दिया गया। मसूरी की मॉल रोड और देहरादून को फिल्म में हिमाचल का दिखाया गया है। इससे पहाड़ के लोग आहत हैं। कठपुतली कहानी और उसके अंदाज-ए-बयां में कोई नयापन नहीं है. न ही इसका थ्रिल बांधता है. करीब सवा दो घंटे की फिल्म का पहला हिस्सा उबाऊ है और कहानी बहुत धीमी रफ्तार से चलती है.

ये भी पढ़ें:

जिस-जिस पहाड़वासी ने ये फिल्म देखी है, वो खुद को ठगा हुआ महसूस कर रहा है। ऐसे ब्रांड एंबेस्डर प्रदेश का क्या भला करेंगे? रिसोर्सेज हमारे और रेस्पांस किसी और को? आरजे काव्य लिखते हैं कि अक्षय कुमार जी...हमारे माननीय मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी जी ने आपको सप्रेम उत्तराखंड का ब्रांड एंबेसडर बनाया था। आपने भी कहा था कि मैंने उत्तराखंड जैसी खूबसूरत जगह नहीं देखी और अब फिल्म में ये सब। हम पहाड़ वाले लोग हैं, भोले भाले हैं, कम से कम मित्रता में ऐसा कृत्य ठीक नहीं है। आरजे काव्य आगे लिखते हैं कि हमें हर फील्ड में अपने स्वाभिमानी ब्रांड एंबेसडर चाहिए होंगे। सरकारें भी उन्हें अहमियत दें, तभी हम अपने राज्य को बेहतर राज्य बना पाएंगे’।