उत्तराखंड देहरादूनUKPSC will conduct UKSSSC examinations

उत्तराखंड में 6 लाख युवाओं के लिए जरूरी खबर, लोक सेवा आयोग कराएगा UKSSSC की 6 परीक्षाएं

पेपरलीक प्रकरण सामने आने से पहले यूकेएसएसएससी की ओर से छह परीक्षाएं कराई जानी थीं। 4282 पदों के लिए प्रस्तावित इन परीक्षाओं के लिए छह लाख से ज्यादा अभ्यर्थियों ने आवेदन किए हैं।

uttarakhand news rajya sameeksha Vikalp rahit sankalp sep 22
ukpsc to cunduct uksssc exam: UKPSC will conduct UKSSSC examinations
Image: UKPSC will conduct UKSSSC examinations (Source: Social Media)

देहरादून: यूकेएसएसएससी पेपर लीक मामले के खुलासे के बाद बीते सालों में हुई तमाम भर्तियां संदेह के घेरे में हैं। एसटीएफ की जांच जैसे-जैसे आगे बढ़ रही है, हर दिन नए खुलासे हो रहे हैं।

UKPSC will conduct UKSSSC examinations

इन सबके बीच प्रस्तावित छह भर्तियों पर भी संकट के बादल मंडरा रहे हैं। भर्ती के लिए आवेदन करने वाले छह लाख से ज्यादा युवा टेंशन में हैं। हालांकि युवाओं की इस समस्या का जल्द समाधान होने जा रहा है। यूकेएसएसएससी की प्रस्तावित छह परीक्षाओं को अब राज्य लोक सेवा आयोग से कराने की तैयारी है। भविष्य की परीक्षाओं के लिए केंद्रीय एजेंसी का सहयोग लेने पर भी विचार किया जा रहा है। प्रस्तावित परीक्षाओं को कराने के लिए शासन स्तर से आयोग को पत्र भेजा जा रहा है। हालांकि, राज्य लोक सेवा आयोग पर पहले ही अन्य भर्ती परीक्षाओं का भार है। ऐसे में इन पदों को भरने के लिए केंद्रीय भर्ती एजेंसियों का सहयोग लेने की भी चर्चा चल रही है। यूकेएसएसएससी में पेपरलीक प्रकरण सामने आने के बाद इसकी कार्यशैली पर प्रश्न उठ रहे हैं। जैसे-जैसे एसटीएफ की जांच आगे बढ़ रही है, अन्य परीक्षाओं को लेकर भी हर दिन नई जानकारी सामने आ रही है।

ये भी पढ़ें:

यूकेएसएसएससी में भले ही शासन ने नए सचिव व परीक्षा नियंत्रक की तैनाती कर दी है, लेकिन जांच के कारण स्थिति ऐसी नहीं है कि इसके जरिये भर्ती परीक्षाएं आयोजित कराई जा सकें। पेपरलीक प्रकरण सामने आने से पहले यूकेएसएसएससी ने छह परीक्षाएं करानी थीं। इनमें पुस्तकालय सहायक, पटवारी, पुलिस आरक्षी, वन आरक्षी, सहायक लेखाकार व वाहन चालक पदों की परीक्षाएं शामिल हैं। 4282 पदों की प्रस्तावित इन परीक्षाओं के लिए छह लाख से ज्यादा अभ्यर्थियों ने आवेदन किए हैं। इसके अलावा पुलिस दूरसंचार हेडकांस्टेबल की परीक्षा हो चुकी है, इसमें दस्तावेजों की जांच के साथ ही नतीजा आना बाकी है। प्रस्तावित परीक्षाओं को लेकर आवेदक शासन और सरकार के सामने अपनी चिंता जाहिर कर चुके हैं। ऐसे में शासन अब इन परीक्षाओं को राज्य लोक सेवा आयोग से कराने की तैयारी कर रहा है।