Video: उत्तराखंड को यूं ही नहीं कहते देवभूमि, ये जगह इस बात का सबूत है ! (Swaragarohi9ni in uttarakhand )
Connect with us
Uttarakhand Govt Corona Awareness
Image: Swaragarohi9ni in uttarakhand

Video: उत्तराखंड को यूं ही नहीं कहते देवभूमि, ये जगह इस बात का सबूत है !

Video: उत्तराखंड को यूं ही नहीं कहते देवभूमि, ये जगह इस बात का सबूत है !

धरती पर अगर आपको सच में स्वर्ग की अनुभूति करनी है तो उत्तराखंड से बेहतर कोई जगह नहीं है। अगर आप चाहते हैं कि आप जीते जी स्वरग् देश लें , तो एक बार उत्तराखंड जरूर आइए। दरअसल ये बात हम यूं ही नहीं कह रहे। उत्तराखंड में सच में वो रास्ता मौजूद है, जिसे स्वर्ग का रास्ता कहा जाता है। बदरीनाथ धाम के पास मौजूद है स्वर्गारोहिणी । आपने पढ़ा भी होगा कि कि धर्मराज युधिष्ठिर ने एक स्वान के साथ स्वर्गारोहिणी से वैकुंठ के लिए प्रस्थान किया था। यकीन मानिए अगर आप एक बार यहां आएंगे तो खुद को किसी दिव्य वातावरण में पाएंगे। एक बार कदम रखने पर यहां से वापस जाने का मन नहीं करता। इसके लिए सबसे पहले आपको सतोपंथ जाना पड़ेगा। चमोली जिले के माणा गांव से करीब 23 किलोमीटर की कठिन चढ़ाई के बाद लगभग 3700 मीटर की ऊँचाई पर सतोपंथ जैसी खूबसूरत झील आती है।

माना जाता है कि पांडवों ने सशरीर स्वर्ग जाने से पहले इसी जगह पर स्नान किया था। यहाँ पहुंचने के लिये चमोली जिले के आखिरी गाँव माणा से 3 दिन में पहुंचा जाता है। रात्रि विश्राम के लिए यहां गुफा या फिर टैंट का सहारा लिया जाता है। स्वर्गारोहिणी ऐसी जगह है जो साल भर बर्फ से ढकी रहती है । इस पूरे रास्ते भर प्रकृति का सौंदर्य आपकी आंखों की पलकों को एक बार भी झपकने नहीं देगा। कहीं झरने, कहीं दूर दूर तक फैले बुग्याल आपको यहां हर पल आकर्षित करते हैं। बुग्यालों में खिले सैकड़ों किस्म के रंग बिरंगे फूल इसकी खूबसूरती को और बढ़ा देते है। हां अगर आप इस जगह जा रहे हैं तो गाइड को अपने साथ जरूर लेकर जाएं। ये क्षेत्र नंदा देवी बायोस्फीयर रिजर्व क्षेत्र के अंतर्गत आता है। इस वजह से वन विभाग द्वारा हर दिन, व्यक्ति और टेंट लगाने के लिए शुल्क लिया जाता है।

कुल मिलाकर कहें तो रोमांच ,खूबसूरती और धार्मिक महत्व के लिहाज से ये यात्रा प्रकृति प्रेमियों के लिये अविस्मरणीय है। इस यात्रा को आम तौर पर 5 दिन में पूरा किया जाता है। यहां यात्रा के लिए जून का महीने सबसे ज्यादा अनुकूल माना जाता है। उत्तराखंड की गोद में बसी येजगह बेहद ही शांत और बेहद ही खूबसूरत है। इस जगह के बारे में कहा जाता है कि खुद पांडव भी यहां आकर मोहित हो गए थे। यहां कोई भी आता है, तो बस यहीं का होकर रह जाता है। जब आप स्वरग्रोहिणी को अपने सामने देखेंगे तो रोमांच से आपके रौंगटे खड़े हो जाएंगे। उत्तराखंड की इस दिव्य जगह को लोग स्वर्ग से कम नहीं मानते। कई बार लोग यहां एक दिन के लए रुक जाते हैं और इसके आस पास भी भ्रमण करते हैं। इस बार छुट्टियां पड़ें तो एक बार इस जगह जरूर घूम आइए।

YouTube चैनल सब्सक्राइब करें -

Loading...

Latest Uttarakhand News Articles

वीडियो : उत्तराखंड में मौजूद है परीलोक...जानिए खैंट पर्वत के रहस्य
वीडियो : उत्तराखंड का अमृत: किलमोड़ा
वीडियो : बाघ-तेंदुओं से अकेले ही भिड़ जाता है पहाड़ का भोटिया कुत्ता

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

वायरल वीडियो

इमेज गैलरी

SEARCH

पढ़िये... उत्तराखंड की सत्ता से जुड़ी हर खबर, संस्कृति से जुड़ी हर बात और रिवाजों से जुड़े सभी पहलू.. rajyasameeksha.com पर।


Copyright © 2017-2020 राज्य समीक्षा.

To Top