चार धाम रेल नेटवर्क से जुड़ी खुशखबरी, 2024 का लक्ष्य तय, रेलवे सुरंग बनाएगी रिकॉर्ड (Information about char dham rail root)
Connect with us
Image: Information about char dham rail root

चार धाम रेल नेटवर्क से जुड़ी खुशखबरी, 2024 का लक्ष्य तय, रेलवे सुरंग बनाएगी रिकॉर्ड

चार धाम रेल नेटवर्क से जुड़ी खुशखबरी, 2024 का लक्ष्य तय, रेलवे सुरंग बनाएगी रिकॉर्ड

उत्तराखंड में चार धाम रेल नेटवर्क का काम 2024 में पूरा हो जाएगा। इसके साथ ही इस रूट पर एक बड़ा रिकॉर्ड भी बनेगा। अब तक देश में सबसे लंबी ट्रेन सुरंग बनिहाल से श्रीनगर कश्मीर तक बनी है, जिसकी लंबाई 10 किलोमीटर है। लेकिन अब 2024 में आपको देश की सबसे लंबी रेलवे सुरंग उत्तराखंड में दिखेगी। ये सुरंग कहां बन रही है और इसकी खूबियां क्या हैं, इस बारे में हम आपको बता रहे हैं। भारतीय रेलवे अपने सबसे बड़े प्रोजक्ट यानी चार धाम रेलवे ट्रेक के लिए लगातार मेहनत कर रहा है। बताया जा रहा है कि ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेलवे लाइन पर अब सबसे बड़ी सुरंग बनेगी। इस सुरंग की लंबाई 15.1 किलोमीटर होगी। करीब 15 किलोमीटर तक आप ट्रेन में एक नए रोमांच का मजा ले सकेंगे। ये सुरंग किस जगह पर बननी है, इस बारे में भी जानिए। बताया जा रहा है कि ये सुरंग सौद से जनासू के बीच बनेगी।

यह भी पढें - पहाड़ की वकील बेटी, देश के बेसहारा लोगों का सहारा बनी, मुफ्त में लड़ती हैं केस
यह भी पढें - अवनी चतुर्वेदी ने रचा इतिहास, वायुसेना की पहली महिला ऑफिसर, जिसने उड़ाया मिग-21
श्रीनगर में हुए राष्ट्रीय पुस्तक मेले में इस बात की जानकारी दी गई। इस पुस्तक मेले में रेल विकास निगम भी तरफ से भी एक स्टॉल लगाया गया था। इंजीनियर प्रफुल्ल रमोला और लोकेश पुण्डीर ने लोगों को इस बारे में जानकारी दी है। बताया गया कि ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रूट पर बनने वाली ये सुरंग 15.1 किलोमीटर लंबी होगी।ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेलवे लाइन देश की पहली ऐसी रेलवे लाइन होगी, जो 17 सुरंगों से होकर गुजरेगी। पहली टनल ऋषिकेश से शिवपुरी के बीच बनेगी। इस सुरंग की लंबाई 10 किलोमीटर होगी। इसके अलावा आखिर में गौचर से कर्णप्रयाग के बीच में भी एक सुरंग बनेगी, जिसकी लंबाई 6.27 किलोमीटर होगी। इसके अलावा भी कुछ खास बात है। सबसे लंबी सुरंग देवप्रयाग सौड़ से जनासू तक बनेगी। जिसकी लंबाई 15.1 किमी होगी। खास बात ये है कि ये सुरंगें हाईटेक टेक्नोलॉजी से लैस होंगी।

यह भी पढें - उत्तराखंड का शेर दहाड़ा, तो बिलबिला उठे असदुदीन ओवैसी और बदरुद्दीन !
यह भी पढें - उत्तराखंड में यहां बनेगी 4.5 किलोमीटर लंबी सुरंग, देश का सबसे हाईटेक नेशनल हाईवे
इसे अति अाधुनिक मशीनों से तैयार किया जाएगा। ऋषिकेश से कर्णप्रयाग रेल लाइन नैथाणा से होते हुए अलकनंदा नदी के ऊपर बने पुल के ऊपर से गुजरेगी और जीआइटीआई के मैदान से आगे बढ़ेगी। जीआईटीआई में रेलवे लाइन जमीन के ऊपर ही रहेगी। इसके बाद संयुक्त अस्पताल से लेकर डुंगरीपंथ बनने वाली 9 किमी लंबी टनल से ट्रेन गुजरेगी। इंजीनियर्स का कहना है कि इस केल लाइन को तैयार करने के लिए 31 यार्ड बनाए गए हैं। 31 यार्ड में करेल लाइन से निकलने वाले मलबे को डंप किया जाएगा। इस साल जून से इस परियोजना पर काम शुरू होगा। खास बात ये है कि साल 2024 से पहले इस काम को पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। पीएम मोदी के ड्रीम प्रोजक्ट्स में से ये रेलवे लाइन सबसे ऊपर है। पीएम मोदी द्वारा लगातार इस रेल लाइन को लेकर मीटिंग की जा रही है। ऐसे में अब इस रेल लाइन पर आपको देश की सबसे लंबी रेलवे सुरंग देखने को मिलेगी।

Loading...

Latest Uttarakhand News Articles

वीडियो : श्री बदरीनाथ धाम से जुड़े अनसुने रहस्य
वीडियो : उत्तराखंड में मौजूद है परीलोक...जानिए खैंट पर्वत के रहस्य
वीडियो : आछरी - गढ़वाली गीत

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

वायरल वीडियो

इमेज गैलरी

SEARCH

पढ़िये... उत्तराखंड की सत्ता से जुड़ी हर खबर, संस्कृति से जुड़ी हर बात और रिवाजों से जुड़े सभी पहलू.. rajyasameeksha.com पर।


Copyright © 2017-2021 राज्य समीक्षा.

To Top