सुरकंडा देवी के लिए रोप-वे का रास्ता साफ, अब सिर्फ 5 मिनट में मां के दर पर पहुंचेंगे आप (Ropeway for surkanda devi temple)
Connect with us
Image: Ropeway for surkanda devi temple

सुरकंडा देवी के लिए रोप-वे का रास्ता साफ, अब सिर्फ 5 मिनट में मां के दर पर पहुंचेंगे आप

सुरकंडा देवी के लिए रोप-वे का रास्ता साफ, अब सिर्फ 5 मिनट में मां के दर पर पहुंचेंगे आप

एक अच्छी खबर है। अब वो श्रद्धालु भी मां सुरकंडा के दरबार में पहुंच सकते हैं, जो वहां तक चलने में असमर्थ थे। जी हैं उत्तराखंड के प्रसिद्ध सिद्धपीठ सुरकंडा देवी मंदिर रोपवे प्रोजेक्ट का रास्ता साफ हो गया है। रोपवे प्रोजेक्ट कंपनी ने नरेंद्रनगर वन विभाग को जमीन के लिए 33 लाख 62 हजार 900 रुपये की लीज राशि जमा करा दी है। अब वन विभाग से जमीन ट्रांसफर होगी और अगले महीने से रोपवे का काम शुरू किया जाएगा। आपको बता दें कि ये मंदिर चंबा- मसूरी रोड पर स्थित है। कद्दूखाल कस्बे से डेढ़ किमी पैदल चढ़ाई चढ़ कर सुरकंडा माता मंदिर पहुंचा जाता है। डेढ़ किमी खड़ी चढ़ाई एक से डेढ़ घंटे में पूरी कर श्रद्धालु मंदिर में माता के दर्शन करते हैं। बुजुर्ग श्रद्धालुओं और पर्यटकों की सुविधा को देखते हुए पर्यटन विभाग ने रोपवे प्रोजेक्ट का प्रस्ताव तैयार किया था।

यह भी पढें - मां धारी देवी मंदिर जल्द ही भव्य रूप में दिखेगा, मां के नए दरबार की ये तस्वीरें देखिए
सभी औपचारिकता पूरी होने के बाद अब पिछले महीने वन विभाग ने सुरकंडा रोपवे प्रोजेक्ट कंपनी को 0.68 हेक्टेयर जमीन 30 साल के लिए लीज पर दे दी है। इसके लिए कंपनी ने नरेंद्रनगर वन प्रभाग कार्यालय में 33 लाख 62 हजार 900 रुपये की लीज राशि और एक लाख 68 हजार रुपये का लीज रेंट जमा करा दिया है। अब वन विभाग प्रोजेक्ट कंपनी को जमीन ट्रांसफर करने की प्रक्रिया में लगा है। इसके बाद अगले महीने से रोपवे का काम शुरू कर दिया जाएगा। 500 मीटर लंबा रोपवे बनने से श्रद्धालु पांच से सात मिनट में ही मंदिर तक पहुंच सकेंगे। इससे खासतौर पर बुजुर्ग श्रद्धालुओं को फायदा मिलेगा। वहीं पर्यटकों की संख्या में भी इजाफा होगा। ये मंदिर टिहरी जिले के जौनपुर प्रखंड में सुरकुट पर्वत पर स्थित है। यहां आने वाले किसी भी भक्त को देवी मां निराश नहीं करती।

यह भी पढें - देवभूमि में मां सरस्वती का घर, जहां आज भी मुख की आकृति बनाकर बहती है नदी
इस मंदिर को लेकर एक खास बात और कही जाती है। बताया जाता है कि यहां अद्भुत शक्तियों पर रिसर्च करने के लिए ब्रिटेन से वैज्ञानिकों की एक टीम आई थी। वैज्ञानिकों ने खुद माना है कि यहां एक अजीब सी शक्ति विचरण करती है। इस शक्ति को वैज्ञानिकों ने ऊर्जा का पुंज माना है। ये मंदिर ऊंची चोटी में स्थित है। यहां से आपको चंद्रबदनी मंदिर, तुंगनाथ, चौखंबा, गौरीशंकर, नीलकंठ महादेव जैसे धार्मिक स्थल दिखेंगे। सुरकंडा मंदिर एक ऐसे स्थान पर स्थित है, जहां आपको दिव्य और अलौकिक अनुभव होगा। ये एक ऐसा मंदिर है, जिसके बारे में कहा जाता है कि देवी मां खुद यहां आपको बुलाती है। गाहे-बगाहे आप खुद इस देवी मंदिर में चले आएंगे। आपने जो कभी सोचा नहीं होगा ऐसे चमत्कार आपको यहां मिलेंगे। स्थानीय लोग कहते हैं कि यहां आने वाला कोई भी श्रद्धालु खाली हाथ नहीं जाता। देवों की भूमि में बसे इस दिव्य शक्तिपीठ को राज्य समीक्षा का कोटि-कोटि प्रणाम।

YouTube चैनल सब्सक्राइब करें -

Loading...

Latest Uttarakhand News Articles

वीडियो : DM स्वाति भदौरिया से खास बातचीत
वीडियो : श्री बदरीनाथ धाम से जुड़े अनसुने रहस्य
वीडियो : यहां जीवित हो उठता है मृत व्यक्ति - लाखामंडल उत्तराखंड

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

वायरल वीडियो

इमेज गैलरी

SEARCH

To Top