जय केदारनाथ…दुनियाभर में सुपरहिट हुई ध्यान गुफा..बुकिंग फुल है..अब 3 और बनेंगी (meditation cave in kedarnath being superhit)
Connect with us
Image: meditation cave in kedarnath being superhit

जय केदारनाथ…दुनियाभर में सुपरहिट हुई ध्यान गुफा..बुकिंग फुल है..अब 3 और बनेंगी

मेडिटेशन केव को मिले शानदार रिस्पांस के बाद प्रशासन क्षेत्र में ऐसी ही 3 और गुफाएं बनाने जा रहा है...

रुद्रप्रयाग जिले में केदारनाथ की पहाड़ी पर स्थित है रुद्रा मेडिटेशन केव। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट के तहत बनी ये गुफा इस वक्त देश-विदेश में छाई हुई है। ये ध्यान गुफा यूं तो पिछले साल ही बनकर तैयार हो गई थी, पर उस वक्त इस गुफा में आने को लेकर लोगों में ज्यादा दिलचस्पी नहीं थी। ऐसा होना स्वाभाविक ही था। गुफा केदारनाथ से डेढ़ किलोमीटर की दूरी पर स्थित है, ये मंदाकिनी नदी के ठीक ऊपर सुनसान इलाके में है, लोगों में डर था। जीएमवीएन इस गुफा में यात्रियों के आने का इंतजार कर ही रहा था कि 18 मई को पीएम नरेंद्र मोदी इस गुफा में ध्यान करने आए, बस फिर तो ये गुफा कुछ इस कदर हिट हुई कि अब देश-विदेश के लोग यहां साधना करने के लिए आ रहे हैं। जुलाई के लिए इस गुफा की बुकिंग फुल हो चुकी है। क्या दुबई, क्या अमेरिका हर जगह के प्रवासी भारतीय इस गुफा में रुकना चाहते हैं, यहां ध्यान करना चाहते हैं। ध्यान गुफा को लेकर मिल रहे पॉजिटिव रिस्पांस से प्रशासन भी खुश है। यही नहीं प्रशासन अब धाम में ऐसी ही तीन और ध्यान गुफाओं का निर्माण कराने जा रहा है।

यह भी पढें - क्या केदारनाथ में फिर मिल रहा है आपदा का संकेत? जानिए चोराबाड़ी ताल का पूरा सच
मेडिटेशन केव को मिल रहे शानदार रेस्पांस से प्रभावित हो प्रशासन तीन और ध्यान गुफाएं केदारनाथ में बनाने वाला है। इस पहल का श्रेय जाता है यहां के काबिल डीएम मंगेश घिल्डियाल को, जो कि धाम में तीन और ध्यान गुफाएं बनवाने के लिए प्रयासरत हैं। इनमें से दो गुफाओं के लिए जगह फाइनल हो गई है। तीनों ध्यान गुफाएं केदारनाथ की पहाड़ियों पर बनाई जाएंगी। इससे केदारनाथ क्षेत्र में पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। शांति-सुकून की तलाश में केदारधाम आने वाले श्रद्धालु गुफा में मेडिटेशन कर सकेंगे। नई मेडिटेशन केव बनेंगी तो क्षेत्र के युवाओं के लिए रोजगार के नए अवसर भी खुलेंगे। आपको बता दें कि केदारनाथ में इस वक्त एक मेडिटेशन केव है, जिसका निर्माण 8 लाख रुपये की लागत से हुआ है। केव का निर्माण नेहरू पर्वतारोहण संस्थान ने किया है, जिसके रखरखाव की जिम्मेदारी जीएमवीएन के पास है। गुफा में साधकों के लिए सभी सुविधाएं मौजूद हैं। बीती 31 मई से अब तक ऐसा कोई दिन नहीं रहा, जब इस गुफा में कोई साधक ना आया हो। पीएम के केदारनाथ आने के बाद से ये गुफा देश-विदेश में सुपरहिट हो गई है।

Loading...

Latest Uttarakhand News Articles

वीडियो : उत्तराखंड में मौजूद है परीलोक...जानिए खैंट पर्वत के रहस्य
वीडियो : यहां जीवित हो उठता है मृत व्यक्ति - लाखामंडल उत्तराखंड
वीडियो : श्री बदरीनाथ धाम से जुड़े अनसुने रहस्य

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

वायरल वीडियो

इमेज गैलरी

Trending

SEARCH

To Top