Connect with us
Image: Soldiers death in meerut

उत्तराखंड: सेना के जवान को ड्यूटी के दौरान आया हार्ट अटैक, नम आंखों से हुआ विदाई

ड्यूटी के दौरान पूरन सिंह को अचानक हार्ट अटैक आया। सेना के साथी जवान उन्हें तुरंत आर्मी अस्पताल ले गए, पर पूरन सिंह बच नहीं सके।

उत्तराखंड एक बार फिर दुख में है, सदमे में है। पहाड़ के एक और लाल ने देश की रक्षा करते हुए अपने प्राणों का बलिदान कर दिया। 52 साल के जवान पूरन सिंह का मेरठ में ड्यूटी के दौरान निधन हो गया। पूरण सिंह बागेश्वर के रहने वाले थे। उनका परिवार जेठाई क्षेत्र के बंग्चूड़ी गांव में रहता है। जैसे ही जवान पूरन सिंह की शहादत की खबर गांव पहुंची वहां मातम पसर गया। परिवार में कोहराम मच गया। परिजन रोने-बिलखने लगे। पूरन सिंह भारतीय सेना में नायक के पद पर थे। इस वक्त वो 510 आर्मी बेस वर्कशॉप मेरठ में तैनात थे। ड्यूटी के दौरान पूरन सिंह को अचानक हार्ट अटैक आया। सेना के साथी जवान उन्हें तुरंत आर्मी अस्पताल ले गए, पर पूरन सिंह बच नहीं सके। अस्पताल में डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

यह भी पढ़ें - उत्तराखंड: जिंदा होने का सर्टिफिकेट बैंक में जमा कराने गई थी महिला, लौटते वक्त हुई मौत
जवान पूरन सिंह का पार्थिव शरीर सेना के विशेष वाहन से उनके गांव लाया गया। जहां परिजनों ने शहीद के अंतिम दर्शन किए। इस मौके पर क्षेत्र के जनप्रतिनिधि भी मौके पर पहुंचे थे। जिला प्रशासन की तरफ से एसडीएम राकेश चंद्र तिवारी ने पार्थिव शरीर पर पुष्प अर्पित कर शहीद को श्रद्धांजलि दी। पूरन सिंह पत्नी, दो बेटियों और अपने बेटे को अकेला छोड़ गए हैं। शहीद की पत्नी बल्पा देवी का रो-रोकर बुरा हालत है। परिजनों के अंतिम दर्शन के बाद शहीद का सरयू-गोमती संगम पर अंतिम संस्कार किया गया। बेटे सुरेश ने अपने शहीद की चिता को मुखाग्नि दी। कौसानी सिग्नल कोर टीम लीडर शिवशंकर की 12 जवानों की टीम ने शहीद को अंतिम सलामी देकर, अपने साथी को सैन्य सम्मान के साथ विदाई दी।

Loading...

Latest Uttarakhand News Articles

वीडियो : यहां जीवित हो उठता है मृत व्यक्ति - लाखामंडल उत्तराखंड
वीडियो : आछरी - गढ़वाली गीत
वीडियो : DM स्वाति भदौरिया से खास बातचीत

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

वायरल वीडियो

इमेज गैलरी

Trending

SEARCH

To Top