गढ़वाल में एडवेंचर टूरिज्म को लगेंगे पंख, नयार घाटी में वॉटर स्पोर्ट्स का टेस्ट सफल (Pauri Garhwal Nayar Valley Water Sports)
Connect with us
Uttarakhand Govt Denghu Awareness Campaign
Image: Pauri Garhwal Nayar Valley Water Sports

गढ़वाल में एडवेंचर टूरिज्म को लगेंगे पंख, नयार घाटी में वॉटर स्पोर्ट्स का टेस्ट सफल

नयारघाटी में एडवेंचर टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए कयाकिंग एंड केनोइंग का हाल ही मे परीक्षण किया गया जो कि सफल हुआ।

लोगों के बीच एडवेंचर टूरिज्म का क्रेज काफी बढ़ता नजर आ रहा है। ट्रैवलिंग का शौक पाले युवा घूमने के साथ-साथ एडवेंचर स्पोर्ट्स की ओर काफी आकर्षित होते हैं। उसी के साथ-साथ पहाड़ी स्थानों पर एडवेंचर टूरिज्म का बेहद बेहद स्कोप है। ऐसे में पौड़ी जिले में भी एडवेंचर टूरिज्म को काफी बढ़ावा दिया जा रहा है। हाल फिलहाल में ही नयारघाटी में एडवेंचर टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए कयाकिंग एंड केनोइंग का एक सफल परीक्षण किया गया। बता दें कि नयारघाटी क्षेत्र में देवप्रयाग से होते हुए व्यासघाट, बिलखेत, बांघाट, बडखोलू, सतपुली में नयार नदी पर कयाकिंग एंड केनोइंग का परीक्षण किया गया जो कि सफल हुआ। जिस जगह परीक्षण हुआ वह जगह भी कयाकिंग एंड केनोइंग के लिए उपयुक्त थी जिससे परीक्षण को सफलता मिली है। पौड़ी जिले के पर्यटन व साहसिक अधिकारी के एस नेगी के अनुसार जिले में साहसिक एवं एडवेंचर टूरिज्म की अपार संभावनाएं हैं, जिस को बढ़ावा देने के लिए नयारघाटी क्षेत्र में नयार नदी में कयाकिंग एंड केनोइंग के लिए उपयुक्त स्थान देखकर हाल ही में परीक्षण किया गया जो कि सफल हुआ है। आगे पढ़िए

यह भी पढ़ें - सोनू सूद का ऐलान, 3 लाख प्रवासियों को दिलाएंगे रोजगार..ट्विटर के जरिए दी खुशखबरी

सफल रहा परीक्षण

Pauri Garhwal Nayar Valley Water Sports
1 / 2

बता दें कि लगातार परीक्षण किए जा रहे हैं और जल्द ही सभी एडवेंचर टूरिज्म को धरातल पर लाया जाएगा ताकि यहां पर पर्यटन की संभावनाएं और पर्यटकों की संख्या भी बढ़े। इसी के साथ युवाओं को भी इससे फायदा होने वाला है। युवाओं को रोजगार देने के लिए उनको भी इसका प्रशिक्षण दिया जाएगा जिससे उनको आगे रोजगार मिल सकेगा।

7 से 21 दिन तक का प्रशिक्षण

Pauri Garhwal Nayar Valley Water Sports
2 / 2

बता दें कि युवाओं को कयाकिंग एंड केनोइंग से जोड़कर इसके लिए प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है। प्रशिक्षण 7 दिन से 21 दिन तक का है। 7 दिन का फाउंडेशन कोर्स, 14 दिन का बेसिक कोर्स, 21 दिन का एडवांस कोर्स कराया जा रहा है जिसके बाद उन युवाओं को भी प्रशिक्षण मिल सकेगा। कयाकिंग एंड केनोइंग का ट्रायल करने के लिए न टीम हेड प्रवीण सिंग रांगड़, पवन राणा ,आशु, प्रवीण रावत व आशीष पुण्डीर ने नयार नदी में हाल ही मे परिक्षण किया जिसको सफलता मिली है।

Loading...

Latest Uttarakhand News Articles

वीडियो : बाघ-तेंदुओं से अकेले ही भिड़ जाता है पहाड़ का भोटिया कुत्ता
वीडियो : आछरी - गढ़वाली गीत
वीडियो : श्री बदरीनाथ धाम से जुड़े अनसुने रहस्य

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

वायरल वीडियो

इमेज गैलरी

SEARCH

पढ़िये... उत्तराखंड की सत्ता से जुड़ी हर खबर, संस्कृति से जुड़ी हर बात और रिवाजों से जुड़े सभी पहलू.. rajyasameeksha.com पर।


Copyright © 2017-2020 राज्य समीक्षा.

To Top