चमोली जिले में इतनी बड़ी लापरवाही? अगर पूरे गांव में कोरोना फैला तो कौन लेगा जिम्मेदारी? (Youth corona positive at Quarantine Center in Tharali)
Connect with us
Uttarakhand Government Coronavirus donate Information
Image: Youth corona positive at Quarantine Center in Tharali

चमोली जिले में इतनी बड़ी लापरवाही? अगर पूरे गांव में कोरोना फैला तो कौन लेगा जिम्मेदारी?

अगर अब ल्वाणी गांव में कोरोना फैला..तो इसकी जिम्मेदारी कौन लेगा? इस खबर के जरिए समझिए ये कितनी बड़ी लापरवाही है।

जिम्मेदारी...शब्द छोटा है लेकिन पड़ता बड़ा भारी है। जो निभा गया वो जिम्मेदार है, जो ना निभा सके..वो कहलाता है गैर जिम्मेदार और लापरवाह। ऐसी ही कुछ जिम्मेदारियां इस कोरोना काल में अधिकारियों को भी दी गई हैं। लेकिन अफसोस इस बात का है कि लापरवाहों ने सिस्टम को अपने हाथ की कठपुतली बना कर रख दिया है। विकास खंड देवाल के अंतर्गत ग्राम पंचायत ल्वाणी में एक 18 वर्षीय युवक की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने से पूरे क्षेत्र में दहशत छाई है। जिस परिवार से युवक कोरोना पॉजिटिव मिला है..उसी परिवार के बुजुर्ग की 14 जून को क्वाॅरेंटाइन सेंटर ल्वाणी में अचानक मौत हो गई थी। जिसके बाद यहां रह रहे लोगो को प्राइमरी स्कूल में शिफ्ट किया गया था। अब उसी सेंटर से 18 वर्षीय युवक की कोरोना जांच रिपोर्ट पाॅजिटिव आ गई है। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र थराली के चिकित्सक डॉ नवनीत चौधरी ने इस की पुष्टि करते हुए बताया की 12 जून को एक परिवार दिल्ली से घर लौटा था। इसी परिवार में देवाल के वांण गांव निवासी यह युवक भी सम्मिलित था। बताया जा रहा हैं कि ल्वाणी लौटे परिवार में एक 80 वर्षीय बुजुर्ग,उनका पुत्र, पुत्र वधू,एक छोटे बच्चा सभी ल्वाणी निवासी के साथ कोरोना पॉजिटिव उक्त युवक भी था। अब जरा आगे पढ़ लीजिए

यह भी पढ़ें - गुड न्यूज..उत्तराखंड में 65 फीसदी से ज्यादा मरीजों ने कोरोना को हराया..देखिए नए आंकड़े
सभी को ल्वाणी में बनाएं गए क्वारेंटाइन सेंटर में रखा गया था। इसी परिवार के बुजुर्ग की अचानक 14 जून को सेंटर में ही मौत हो गई थी। परिजनों के अनुरोध पर पुलिस, प्रशासन एवं स्वास्थ्य महकमे ने बिना उसके शव का सैंपल लिए व पोस्टमार्टम के बगैर ही उस का अंतिम संस्कार कर दिया था। नोट कर लीजिए...बुजुर्ग का बिना सैंपल लिए ही अंतिम संस्कार कर दिया गया। बाद में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र देवाल के चिकित्सक डॉ शहजाद अली के नेतृत्व में मृतक बुजुर्ग के लड़के एवं लड़के के वांण गांव निवासी साले का 21जून को सैंपल लेकर जांच के लिए भेजा गया, आज आई रिपोर्टों में बुजुर्ग के लड़के के 18 वर्षीय साले की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई हैं वही जीजा की रिपोर्ट निगेटिव आई हैं। डॉ सहजाद अली ने बताया की कोरोना पॉजिटिव युवक को कोविड केयर सेंटर भराड़ीसैंण भेजा जा रहा हैं। खबर है कि इससे पहले युवक बाजार में भी घूमता दिखा था।

यह भी पढ़ें - गढ़वाल: कोरोनावायरस संक्रमित युवक की मौत, माता-पिता भी पॉजिटिव
वही सेंटर में ही रह रहे मृतक बुजुर्ग की पुत्र वधू एवं उसके छोटे बच्चे का सैंपल लेकर जांच के लिए भेजा जा रहा हैं। अचानक बुजुर्ग की मौत के बाद उसी के साथ आए व सेंटर में रह रहे युवक की रिपोर्ट पाॅजिटिव आने के बाद जहां पूरी पिंडर घाटी में दहशत बनी हुई हैं, उससे अधिक दहशत ल्वाणी सहित इसके आसपास के गांवों में बन गई हैं। उल्लेखनीय हैं की 24जून को ही थराली ब्लाक की किमनी गांव लौटी एक 17 वर्षीय लड़की की भी रिपोर्ट पाॅजिटिव आई थी जबकि उसकी मां की रिपोर्ट संदिग्ध आई थी। जिनका भराड़ीसैंण में उपचार चल रहा है। राज्य समीक्षा की टीम ने जब एसडीएम थराली से बात की तो उनका जवाब बहुत ही गैरजिम्मेदाराना था। कांग्रेस नेता उर्मिला बिष्ट का कहना है कि ये बहुत ही बड़ी लापरवाही है और इसके खिलाफ आवाज उठाएंगे।

Loading...

Latest Uttarakhand News Articles

वीडियो : श्री बदरीनाथ धाम से जुड़े अनसुने रहस्य
वीडियो : DM स्वाति भदौरिया से खास बातचीत
वीडियो : श्री बदरीनाथ धाम में बर्फबारी का मनमोहक नजारा देखिये..

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

वायरल वीडियो

इमेज गैलरी

SEARCH

To Top