उत्तराखंड के 8 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी, बढ़ सकती हैं मुश्किलें..सावधान रहें! (Heavy rains expected in 8 districts of Uttarakhand)
Connect with us
Uttarakhand Govt Denghu Awareness Campaign
Image: Heavy rains expected in 8 districts of Uttarakhand

उत्तराखंड के 8 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी, बढ़ सकती हैं मुश्किलें..सावधान रहें!

मौसम विभाग ने उत्तराखंड के 8 जिलों में आने वाले 4 दिनों तक भारी बरसात की चेतावनी जारी की है।

मॉनसून आने के साथ ही एक बार फिर राज्य में परेशानियां बढ़ती नजर आ रही हैं। एक के बाद एक राज्य के ऊपर समस्या आती ही जा रही है। लगातार बरसते हुए बादलों ने उत्तराखंड में लोगों का हाल बेहाल कर दिया है। जगह-जगह से दिल दहला देने वाली तस्वीरें सामने आ रही हैं। राज्य में 23 जून को मॉनसून ने दस्तक दी थी। उसके बाद से ही राज्य के सभी जिलों के अलग-अलग क्षेत्रों में बरसात का सिलसिला जारी है। नदियों का स्तर बेहद बढ़ा हुआ है, पहाड़ों पर जन-जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है, इसी के साथ कई सड़कें भी भूस्खलन के कारण बंद हो रखी हैं जिससे यातायात भी बाधित हुआ है। इस बीच एक बार फिर मौसम विभाग ने आने वाले 4 दिनों तक राज्य के लोगों को संभल कर रहने को कहा है। मौसम विभाग ने उत्तराखंड में आने वाले 4 दिनों तक भारी बरसात की चेतावनी दी है। मौसम विज्ञान केंद्र ने उत्तराखंड के कुल 8 जिलों में भारी से बहुत भारी बारिश की चेतावनी जारी की है।

यह भी पढ़ें - शानदार गढ़वाली गीत..इसमें छिपा है बहुत बड़ा संदेश, आज की युवा पीढ़ी ये जरूर देखे
मौसम विभाग के अनुसार 8 और 9 जुलाई को देहरादून, टिहरी पौड़ी गढ़वाल, और नैनीताल जिले के कुछ क्षेत्रों में भारी से बहुत भारी बारिश होने की पूरी संभावनाएं हैं। इसी के साथ मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया के 10 और 11 जुलाई को उत्तराखंड के 8 जिलों में मूसलाधार वर्षा होगी। आइये जानते हैं कि किन जिलों में अलर्ट घोषित किया गया है।टिहरी, पौड़ी गढ़वाल, उत्तरकाशी, देहरादून, नैनीताल, अल्मोड़ा, उधमसिंह नगर और हरिद्वार में 10 और 11 जुलाई को भारी से बहुत अधिक मूसलाधार बारिश होने की पूरी-पूरी संभावना है। ऐसे में जरूरी है कि इन जिलों के निवासी अलर्ट रहें और जहां तक संभव हो घर पर ही रहें। सड़कों और हाइवे के ऊपर भी बारिश का भारी असर दिख रहा है। यमुनोत्री हाइवे समेत 97 मार्गों का यातायात ठप हो गया है। यमुनोत्री हाईवे पिछले 3 दिनों से बंद पड़ा हुआ है।

यह भी पढ़ें - गढ़वाल की प्रिया..समाज की बेड़ियां तोड़कर शुरू किया स्वरोजगार..देखिए वीडियो
बता दें कि मूसलाधार बारिश के कारण यमुनोत्री हाईवे बीते 3 दिनों से झज्जर गाड़ में बंद है। वहीं गंगोत्री हाईवे भी मंगलवार को धरासू और बदरीनाथ हाईवे ऋषिकेश-श्रीनगर के बीच भूस्खलन के कारण बाधित रहा और लोगों को काफी समस्या का सामना करना पड़ा। इसी के साथ उत्तराखंड में भूस्खलन और मलबे के कारण राज्य की 97 सड़कों पर वाहनों की आवाजाही में काफी बाधा आई है और यातायात बंद हो गया। बता दें कि यमुनोत्री हाईवे पर राणाचट्टी के पास झज्जर गाड़ में शनिवार को सड़क का 30 मीटर हिस्सा बारिश के साथ बह गया जिसे अभी तक ठीक नहीं किया गया है। वहीं मंगलवार को ऋषिकेश-श्रीनगर और ऋषिकेश-टिहरी हाईवे भी भारी बरसात के कारण मलबा गिरने से बार-बार बंद होता रहा। बरसात में भूस्खलन के चलते प्रशासन ने यह निर्णय लिया है कि ऋषिकेश-श्रीनगर मार्ग पर रात में वाहन नहीं चलेंगे। सुरक्षा की दृष्टि से यह बहुत ही जरूरी है। इसी के साथ बुधवार से शाम 7:00 बजे से सुबह 4:00 बजे तक मार्ग पर वाहनों की आवाजाही भी 14 अगस्त तक बंद रहेगी।

Loading...

Latest Uttarakhand News Articles

वीडियो : खूबसूरत उत्तराखंड : स्वर्गारोहिणी
वीडियो : श्री बदरीनाथ धाम में बर्फबारी का मनमोहक नजारा देखिये..
वीडियो : श्री बदरीनाथ धाम से जुड़े अनसुने रहस्य

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

वायरल वीडियो

इमेज गैलरी

Trending

SEARCH

पढ़िये... उत्तराखंड की सत्ता से जुड़ी हर खबर, संस्कृति से जुड़ी हर बात और रिवाजों से जुड़े सभी पहलू.. rajyasameeksha.com पर।


Copyright © 2017-2020 राज्य समीक्षा.

To Top