पहाड़ में 12 घंटे भी नहीं टिक पाई सड़क ? गांव की बेटी ने खोली पोल..ये विडियो देखिये (New Road lasts 12 hours in Chamoli Uttarakhand)
Connect with us
Image: New Road lasts 12 hours in Chamoli Uttarakhand

पहाड़ में 12 घंटे भी नहीं टिक पाई सड़क ? गांव की बेटी ने खोली पोल..ये विडियो देखिये

देवर खडोरा क्षेत्र में बनी एक सड़क बनने के 12 घंटे बाद ही उखड़ कर हाथ में आने लगी। पहाड़ में सड़क निर्माण के नाम पर ऐसा घटिया मजाक कब तक चलेगा?

पहाड़ में सड़कों का बुरा हाल है। कई गांवों में सड़कें हैं ही नहीं तो जहां सड़कें हैं भी वहां उनका होना ना होना बराबर है। क्षतिग्रस्त सड़कों की कोई सुध नहीं लेता। आम लोग शिकायत करते हैं तो अधिकारी सुनते नहीं। और अगर जनता के दबाव में सड़कें बनाई भी जाती हैं तो गुणवत्ता का ध्यान नहीं रखा जाता। फिर ठेकेदार इन्हीं क्षतिग्रस्त सड़कों को बार-बार बनाकर कमीशन खाते हैं। कमीशन के इस खेल में जनता ठगी जाती है। अब चमोली के घिंघराण में ही देख लें, यहां देवर खडोरा क्षेत्र में बनी एक सड़क बनने के 12 घंटे बाद ही उखड़ कर हाथ में आने लगी। पहाड़ की एक जागरूक बेटी ने गांव की बदहाल सड़क पर एक रिपोर्ट तैयार की है। इसका वीडियो आपको दिखाएंगे, पर सबसे पहले इस सड़क का हाल जान लेते हैं।

यह भी पढ़ें - त्योहारी सीजन में अपराधी कर सकते हैं बड़ी वारदात, देहरादून पुलिस अलर्ट पर
देवर खडोरा गांव में बनी रोड बुरी तरह क्षतिग्रस्त थी। इसका डामरीकरण किया जाना था। कई महीनों के इंतजार के बाद जैसे-तैसे डामरीकरण शुरू हुआ, लेकिन काम में घटिया सामग्री का इस्तेमाल किया जाने लगा। इसे लेकर गांव के लोग बिफर पड़े। लोगों ने नाराजगी जताई। अधिकारियों से शिकायत भी की। कहा कि काम में क्वालिटी मेंटेन रखो, वरना आगे का काम होने नहीं देंगे। गांव के लोग बताते हैं कि जब उन्होंने जेई और एई से शिकायत की तो उन्होंने कहा कि इस रोड के निर्माण पर बचा कमीशन सभी नेताओं और अधिकारियों को जाता है। ग्रामीणों के विरोध के बाद पुलिस भी मौके पर पहुंची। तब जैसे-तैसे डामरीकरण का काम पूरा कराया गया, लेकिन सड़क के हाल आप वीडियो में खुद ही देख लीजिए। रोड पर एक इंच मोटी डामरीकरण की परत बिछाई जानी थी, लेकिन सिर्फ पत्थर डाल दिए गए।

यह भी पढ़ें - उत्तराखंड: नाबालिग को भगा ले गया था ट्यूशन टीचर, देहरादून पुलिस ने अंबाला में दबोचा
कोलतार भी ढंग से नहीं लगाया गया, जिससे रोड पर बिछे पत्थर उखड़ने लगे हैं। कुल मिलाकर डामरीकरण के नाम पर सिर्फ खानापूर्ति कर दी गई। देर शाम 7 बजे रोड का डामरीकरण हुआ और सुबह 7 बजे तक जगह-जगह से सड़क गायब थी। रोड उखड़ने लगी। हमारी अफसरों और जनप्रतिनिधियों से अपील है कि कम से कम सड़क निर्माण के नाम पर गांवों के साथ ऐसा मजाक तो मत करो। चलिए अब आपको सुहानी बिष्ट का वीडियो दिखाते हैं, जिसे उनके पिता धीरज सिंह बिष्ट ने सोशल मीडिया पर पोस्ट किया है। इस वीडियो के जरिए आप पहाड़ में बनी सड़क का हाल खुद ही देख लें। अगर आपके क्षेत्र में ऐसी ही सड़कें बन रही हों तो राज्य समीक्षा को बताएं। हम आपकी समस्याओं को मंच देने का प्रयास करेंगे, यही हमारा मकसद है।

YouTube चैनल सब्सक्राइब करें -

Loading...

Latest Uttarakhand News Articles

वीडियो : IPS अधिकारी के रिटायर्मेंट कार्यक्रम में कांस्टेबल को देवता आ गया
वीडियो : उत्तराखंड का अमृत: किलमोड़ा
वीडियो : उत्तराखंड में मौजूद है परीलोक...जानिए खैंट पर्वत के रहस्य

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

वायरल वीडियो

इमेज गैलरी

Trending

SEARCH

पढ़िये... उत्तराखंड की सत्ता से जुड़ी हर खबर, संस्कृति से जुड़ी हर बात और रिवाजों से जुड़े सभी पहलू.. rajyasameeksha.com पर।


Copyright © 2017-2020 राज्य समीक्षा.

To Top