पहाड़ के गोपाल उप्रेती..पहले खेती से बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड, अब बंजर जमीन पर उगाई हजारों ब्रोकली (Story of almora gopal upreti farming)
Connect with us
Uttarakhand Govt Chardham Yatra Guidelines
Image: Story of almora gopal upreti farming

पहाड़ के गोपाल उप्रेती..पहले खेती से बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड, अब बंजर जमीन पर उगाई हजारों ब्रोकली

पहले उगाया दुनिया का सबसे बड़ा धनिए का पौधा, अब 20 हजार ब्रोकली के पौधों का किया रोपण, मिलिए उत्तराखंड के गोपाल उप्रेती से

उत्तराखंड की सबसे बड़ी दुविधा रही है पलायन जो कि तेजी से उत्तराखंड के खुशहाल गांवों को निगल रहा है। इस वक्त जिस चीज की सबसे अधिक जरूरत है वह है उन लोगों की जिनके अंदर वापस से बंजर पड़ी जमीन को आबाद कर सकने और उनको जीवनदान दे सकने का जज्बा मौजूद हो। जी हां, जहां एक ओर उत्तराखंड के कई युवा बाहर नौकरी की तलाश में जाते हैं तो वहीं कुछ युवा दृढ़ निश्चय के साथ में अपने ही गांव में ही खेती कर कामयाबी की मिसाल पेश करते हुए यह साबित करते हैं कि पैसा कमाने के लिए अपनी मिट्टी और अपने लोगों को छोड़ने की जरूरत नहीं है। आज हम आपको उत्तराखंड के एक ऐसे ही महत्वकांक्षी और प्रगतिशील कृषक के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्होंने उत्तराखंड में सफलतापूर्वक खेती कर यह साबित किया है कि अगर मन में कुछ ठान लो तो आवश्यक रूप से ही सफलता आपके कदम चूमती है। इन्होंने उत्तराखंड में अनेकों प्रवासियों के लिए कृषि एवं बागवानी के क्षेत्र में रोजगार सृजन कर मिसाल कायम की है। यह नाम उत्तराखंड के कुछ चुनिंदा सफल नामों में से है जो अपनी मिट्टी, अपने पहाड़ों में रहकर खेती का व्यवसाय कर रहे हैं। हम बात कर रहे हैं अल्मोड़ा के रानीखेत के निवासी गोपाल दत्त उप्रेती की जिन्होंने अपने खेत में 20,000 ब्रोकली के पौधों का रोपण किया है। जी हां, गोपाल दत्त कुकरेती ने 20,000 ब्रोकली के पौधों का रोपण कर अल्मोड़ा जिले का नाम रोशन किया है।आगे पढ़िए

यह भी पढ़ें - उत्तराखंड के कॉर्बेट नेशनल पार्क का नाम बदलने वाला है? मिल रहे हैं संकेत
प्रगतिशील कृषक एवं बागवान गोपाल उप्रेती को ब्रोकली के बीज कृषि विज्ञान केंद्र अल्मोड़ा ने उपलब्ध कराए और आखिरकार उनकी मेहनत रंग लाई। उन्होंने ब्रोकली जैविक विधि से उत्पादित की है और एक पौधे में तकरीबन आधे से 1 किलो तक की ब्रोकली का फूल पैदा हुआ है। केवल यही नहीं गोपाल उप्रेती के नाम और भी कई बड़ी उपलब्धियां दर्ज हो रखी हैं। पिछले वर्ष उन्होंने अपनी काबिलियत के बलबूते पर अपना नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज करवाया था। उन्होंने जैविक पद्धति से पहाड़ में 7.1 फुट का धनिए का पौधा उगा कर उत्तराखंड का नाम विश्व भर में रोशन किया था और गिनिज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में अपना नाम दर्ज कराया था। गोपाल उप्रेती के खेत में इतना लंबा और ऊंचा धनिए का पौधा देखकर हर कोई दंग रह गया। बता दें कि गोपाल उपरेती पिछले 8 सालों से ऑर्गेनिक खेती कर रहे हैं और उन्होंने पिछले साल अक्टूबर में तकरीबन आधा एकड़ जमीन में धनिया बोया था और उस धनिए ने सभी को हैरान कर दिया क्योंकि वह 7.1 फुट ऊंचा पौधा था जो कि मनुष्य के कद से भी ऊंचा था। इसके अलावा भी उनके नाम कई उपलब्धियों हैं। अब उन्होंने 20 हजार ब्रॉकली के पौधे उगा कर युवाओं को प्रेरित किया है और देवभूमि का नाम रौशन किया है।

Loading...

Latest Uttarakhand News Articles

वीडियो : आछरी : नए जमाने का गढ़वाली गीत
वीडियो : द्वितीय केदार भगवान मद्महेश्वर डोली यात्रा
वीडियो : Garhwali Song - AACHRI
वीडियो : उत्तराखंड: 50 लाख कोरोना टीके, रोजगार, सेवा विस्तार, कर्फ्यू

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

वायरल वीडियो

इमेज गैलरी

SEARCH

पढ़िये... उत्तराखंड की सत्ता से जुड़ी हर खबर, संस्कृति से जुड़ी हर बात और रिवाजों से जुड़े सभी पहलू.. rajyasameeksha.com पर।


Copyright © 2017-2021 राज्य समीक्षा.

To Top