Connect with us
Image: POLICE ARREST KHAN GANG DEHRADUN

देहरादून पुलिस ने गिरफ्तार किए खान गैंग के 4 गुर्गे, फर्जी फौजी बनकर कर रहे थे ऐसा काम

देहरादून पुलिस ने खान गैंग के चार ठगों को पकड़ा है, सभी आरोपी अलवर के रहने वाले हैं... इनका लोगों को लूटने का तरीका क्या था, जरा ये भी जान लीजिए

सेना और सेना की वर्दी के लिए हर हिंदुस्तानी के दिल में सम्मान है, प्यार है, पर इसी सम्मान को कुछ ठगों ने लोगों को ठगने का जरिया बना लिया है। ये लोग सेना के जवान बन लोगों को ठग रहे हैं, उनकी भावनाओं को ठेस पहुंचा रहे हैं, साथ ही सेना का नाम भी खराब कर रहे हैं। देहरादून पुलिस ने एक ऐसे ही गिरोह का भंडाफोड़ किया है। गिरोह के लोग आर्मी जवान बनकर लोगों को ऑनलाइन स्कूटी बेचने के नाम पर फंसाते थे। अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर ये शातिर ठग खुद को आर्मी के जवान बताकर ऐसा क्यों करते थे ? ऐसा इसलिए ताकि भोले-भाले लोगों का भरोसा जरा जल्दी जीता जा सके। पीड़ित को स्कूटी तो मिलती नहीं थी, सस्ती स्कूटी के लालच में जो पैसा खाते में जमा कराया जाता था, वो भी वापस नहीं मिलता था। आरोपी फेसबुक पर स्कूटी बेचने का एड देकर लोगों को ठगते थे। पीड़ितों में रानीपोखरी के रहने वाले गिरिश चंद भट्ट भी शामिल हैं। आरोपियों ने इन्हें 27500 रुपये में स्कूटी देने का झांसा दिया था, और इस तरह 70 हजार से ज्यादा ठग लिए। आगे जानिए इन शातिर ठगो की करतूत।

यह भी पढें - टिहरी हादसे में बच्चो की मौत पर पीएम मोदी ने जताया दुख, किया मुआवजे का ऐलान
पटेलनगर में 1 लाख 71 हजार, कैंट इलाके में 45880 और डालनवाला में 45500 रुपये की ठगी को अंजाम दिया गया। शिकायतें बढ़ने लगीं तो पुलिस भी परेशान हो गई। बाद में जांच शुरू हुई, जिसके बाद पुलिस मोबाइल नंबर और बैंक खातों के जरिए राजस्थान में रहने वाले आरोपियों तक पहुंच गई। गैंग के सभी आरोपी राजस्थान के अलवर से पकड़े गए हैं। गिरोह का सरगना फरार बताया जा रहा है।पुलिस ने जिन लोगों को अलवर से पकड़ा है उनमें साकिर, नरेंद्र जाटव, अफजल खान और राहुल खान शामिल हैं। गिरोह का सरगना शहरून खान नाम का आदमी है, जो कि अब तक फरार है। पुलिस ने अरोपियों के पास से ठगी में इस्तेमाल 4 मोबाइल, डेबिट कार्ड, आईडी और आधार कार्ड भी बरामद किए हैं। आरोपियों ने दून के 4 लोगों से ठगी की बात कबूली है। गिरोह के लोगों का कहना है कि उन्हें सरगना के बारे में कुछ नहीं पता, वो सिर्फ कमीशन के लिए काम करते थे। बैंक में रकम आते ही वो 9 परसेंट कमीशन काट कर दूसरे खातों में रकम ट्रांसफर कर देते थे। चारों आरोपी अब पुलिस की गिरफ्त में है, पुलिस गिरोह के सरगना की तलाश में जुटी है।

related articles
More..
वीडियो : DM स्वाति भदौरिया से खास बातचीत
वीडियो : यहां जीवित हो उठता है मृत व्यक्ति - लाखामंडल उत्तराखंड
वीडियो : उत्तराखंड का अमृत: किलमोड़ा
Loading...
Loading...

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

वायरल वीडियो

इमेज गैलरी

Trending

SEARCH

To Top