Connect with us
Image: PAURI GARHWAL Pantnagar student dies under suspicious circumstances

पौड़ी गढ़वाल के इंजीनियरिंग कॉलेज में छात्रा की मौत, कैंपस में मचा हड़कंप

पौड़ी के जीबी पंत अभियांत्रिकी एवं प्रौद्योगिक संस्थान में पढ़ने वाली प्रियांशी की मौत अपने पीछे कई सवाल छोड़ गई है, पढ़ें पूरी खबर...

पौड़ी में छात्रा की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। मरने वाली छात्रा पंतनगर की रहने वाली थी। छात्रा के माथे पर चोट के निशान मिले हैं। छात्रा की मौत की वजह साफ नहीं हो पाई है, कॉलेज वाले इसे दुर्घटना बता रहे हैं। लाडली की मौत की खबर से परिजन सदमे में हैं। छात्रा का शव लेने के लिए परिजन पंतनगर से पौड़ी रवाना हो गए हैं। छात्रा का नाम प्रियांशी है। वो पंतनगर की रहने वाली थी। प्रियांशी का परिवार पंतनगर की झा कॉलोनी में रहता है। पिता अजय कुमार पशु चिकित्सा विज्ञान महाविद्यालय में तकनीकी सहायक हैं। प्रियांशी को माता-पिता ने बड़े अरमानों से जीबी पंत अभियांत्रिकी एवं प्रौद्योगिक संस्थान, पौड़ी में पढ़ने भेजा था। वो इलेक्ट्रॉनिक्स एवं कम्युनिकेशन के फर्स्ट सेमेस्टर में थी। घटना बुधवार की है। कॉलेज के प्रिंसिपल प्रो. एमपीएस चौहान ने बताया कि इन दिनों कॉलेज में छात्रों का इंडक्शन प्रोग्राम चल रहा है। बुधवार को संस्थान के ऑडिटोरियम में प्रोग्राम चल रहा था। जिसमें टीचर्स के साथ-साथ फर्स्ट सेमेस्टर के 230 छात्र थे। प्रियांशी भी कार्यक्रम में हिस्सा लेने आई थी। वो गाना गाने के लिए मंच की तरफ जा रही थी, तभी अचानक गिर पड़ी। ये भी बताया जा रहा है कि छात्रा अस्थमा रोग से पीड़ित थी। मंच पर जाते वक्त उसके पास अस्थमा का इनहेलर पंप नहीं था। ऐसे में अस्थमा के अटैक की संभावना जताई जा रही है। हालांकि डोक्टरों के अनुसार इतनी कम उम्र में अस्थमा का दौरा पड़ना मुश्किल है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही मौत के असली कारणों का पता चल पाएगा।

यह भी पढ़ें - उत्तराखंड: 600 फीट गहरी खाई में गिरी कार, सास-बहू की मौत..बेटा गंभीर रूप से घायल
प्रियांशी की मौत से उसके माता-पिता सदमे में हैं। वो खुद को कोस रहे हैं कि आखिर अपनी बच्ची को खुद से दूर पढ़ने क्यों भेजा। प्रियांशी होनहार थी। उसने इंटरमीडिएट में 74 परसेंट अंक हासिल किए थे। इंडक्शन प्रोग्राम के लिए उसने बहुत तैयारी की थी, पर कार्यक्रम में हिस्सा लेने से पहले ही एक हादसे में प्रियांशी की मौत हो गई। उसके सहपाठी भी गम में डूबे हैं। छात्रों ने बताया कि प्रियांशी हंसमुख और मिलनसार थी। उसकी मौत से पूरा कॉलेज सदमे में हैं। प्रियांशी की मौत की वजह साफ नहीं हो पाई है। डॉक्टर्स का कहना है कि अस्पताल लाए जाने से पहले ही प्रियांशी दम तोड़ चुकी थी।

Latest Uttarakhand News Articles

वीडियो : उत्तराखंड में मौजूद है परीलोक...जानिए खैंट पर्वत के रहस्य
वीडियो : यहां जीवित हो उठता है मृत व्यक्ति - लाखामंडल उत्तराखंड
वीडियो : श्री बदरीनाथ धाम में बर्फबारी का मनमोहक नजारा देखिये..
Loading...

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

वायरल वीडियो

इमेज गैलरी

SEARCH

To Top