21 जून को बेहद खास है सूर्य ग्रहण, जानिए किस राशि पर पड़ेगा कैसा असर (Solar eclipse June 21 will affect the zodiac in special ways)
Connect with us
Uttarakhand Govt Corona Awareness
Image: Solar eclipse June 21 will affect the zodiac in special ways

21 जून को बेहद खास है सूर्य ग्रहण, जानिए किस राशि पर पड़ेगा कैसा असर

2020: साल का पहला सूर्य ग्रहण कल रविवार (21 जून 2020) को सुबह 9:15 बजे से शुरू होगा और दोपहर बाद 03:04 बजे तक रहेगा। पढ़िए खास जानकारी..

2020: साल का पहला सूर्य ग्रहण कल रविवार (21 जून 2020) को सुबह 9:15 बजे से शुरू होगा और दोपहर बाद 03:04 बजे तक रहेगा। इस ग्रहण का मध्य 12:10 के आसपास रहेगा में जिसमें सूर्य एक वलय/फायर रिंग/चूड़ामणि के रूप में नजर आएगा। 21 जून यानी कल रविवार को पड़ने वाले ग्रहण का सूतक काल आज रात 09:15PM से शुरू हो जाएगा। हिन्दू/सनातन धर्म में आस्था रखने वाले लोग सूतक काल मानते हैं। इस दौरान पूजा घर और मंदिरों के पट बंद रहते हैं। लोग ग्रहण सूतककाल से पहले ही अपने देवी देवताओं की पूजा करके उनके पट/गेट बंद कर देते हैं। इसके बाद ग्रहण सूतककाल समाप्त होने पर लोग फिर मंदिर और पूजा घरों को खोलते हैं, मूर्तियों में गंगाजल छिड़कर उन्हें पवित्र करते हैँ और विधिवित पूजा पाठ पहले की तरह शुरू करते हैं।

क्या है ग्रहण सूतककाल?

ज्योतिषाचार्यों के अनुसार, किसी भी पूर्ण ग्रहण के शुरू होने से 12 घंटे पहले और ग्रहण के 12 घंटे बाद का समय ग्रहण सूतककाल कहलाता है। मान्यता है कि इस दौरान मंदिरों में पूजा पाठ या कोई शुभ कार्य नहीं किया जाता। सूतककाल समाप्त होने के बाद ही मंदिर खुलते हैं और लोग पूजा अनुष्ठान शुरू करते हैं।

6 घंटे लंबा होगा ग्रहणकाल :-

21 जून को सुबह 9:15 बजे ग्रहण शुरू हो जाएगा और 12:10 बजे दोपहर में पूर्ण ग्रहण दिखेगा। इस दौरान कुछ देर के लिए हल्क अंधेरा सा छा जाएगा। इसके बाद 03:04 बजे ग्रहण समाप्त होगा। यानी यह ग्रहण करीब 6 घंटे लंबा होगा। लंबे ग्रहण की वजह से पूरी दुनिया में इसकी चर्चा हो रही है।

गर्भवती महिलाएं रखें विशेष सावधानी-

भारतीय मान्यताओं के अनुसार, ग्रणह शुरू होने से लेकर ग्रहण समाप्त होने तक यानी ग्रहणकाल (21 जून को 09:15AM से 03:04PM तक) में गर्भवती महिलाओं को विशेष सावधानी बरतनी चाहिए। घर के बुजुर्गों या अपने पंडित की सलाह के अनुसार ही जरूरी उपाय अपनाएं। माना जाता है कि ग्रहण के दौरान महिलाओं को घर से बाहर नहीं निकलना चाहिए। हालांकि मन में किसी प्रकार का भय या चिंता नहीं रखनी चाहिए। ग्रहण वाले दिन को भी आम दिनों की तरह एक सामान्य दिन मानना चाहिए।

इस सूर्य ग्रहण का अन्य राशियों पर प्रभाव:-

21 जून 2020 का सूर्य ग्रहण इस बार मिथुन राशि में लग रहा है। मिथुन राशि में ग्रहों की स्थिति इस प्रकार है-सूर्य,चंद्रमा,राहु और बुध एक साथ हो रहे हैं। बुध,गुरु,शुक्र और शनि वक्री हैं। नवग्रह में केवल मंगल ऐसे ग्रह हैं जो संक्रमित नहीं है। लेकिन वे अपने से द्वादश भाव में हैं। ग्रहों की इतनी खराब स्थिति कभी नहीं रही। यह भयावह है। बहुत बचकर जनमानस को रहना है। सबको बहुत सावधानीपूर्वक रहना होगा। कुछ राशियों को विशेषकर सावधान रहना होगा।

मेष-सबसे ज्‍यादा अपने मित्रों, भाई-बंधुओं पर ध्‍यान देना है। उनके लिए यह खतरनाक समय है। आपके लिए बहुत खतरनाक नहीं होगा लेकिन कंधे या कंधे से ऊपर दिक्‍कत हो सकती है। नाक-कान-गला में दिक्‍कत हो सकती है। कुछ योजनाएं पॉजिटिव भी होंगी। रोजी-रोजगार के क्षेत्र के लिए कोई नुकसान नहीं है। फायदा हो सकता है लेकिन आपके लोगों के लिए बहुत अच्‍छा नहीं है। आप कुछ भी काली वस्‍तु दान करें। उत्‍तम होगा। प्रेम की स्थिति खराब है। स्‍वास्‍थ्‍य मध्‍यम है। रोजगार,व्‍यापार कुछ हद तक ठीक है।
वृषभ-कुटुम्‍बीजनों, मुख रोग, आंखों के लिए बहुत सावधानीपूर्वक लेकर चलिए इस समय को। बचाव पक्ष बहुत कमजोर है। धनहानि हो सकती है। अर्थ के लिए कोई नया निर्णय न लें। जैसा चल रहा है चलने दें। अपनों, प्रेम, रोजी-रोजगार, संतान के लिए भी यह समय बहुत अच्‍छा नहीं है। व्‍यवसाय में भी बहुत बचकर चलिए। राहु मंत्र का जाप करते रहें।
मिथुन-अत्‍यंत खराब समय है। किसी प्रकार का कोई नया निर्णय न लें। बहुत सावधानीपूर्वक चलें। स्‍वास्‍थ्‍य पर बहुत ध्‍यान दें। प्रेम, व्‍यवसाय के लिए ठीक समय नहीं है। हरी वस्‍तु पास रखें। सूर्यदेव को जल दें। समय कट जाएगा। बस सावधानी बरतें।

कर्क-नेत्र विकार की आशंका है। पाटर्नरशिप में कोई रिस्‍क न लीजिएगा, टूट सकती है। सरकार की ओर से कोई ऊंगली उठ सकती है। मुकदमा, नोटिस आदि कोई समस्‍या हो सकती है। स्‍वास्‍थ्‍य में संक्रमण हो सकता है। हर कदम पर फूंक-फूंककर कदम रखें। प्रेम और व्‍यवसाय से सम्‍बन्धित चीजें ठीक रहेंगी। लेकिन सरकारी तंत्र, स्‍वास्‍थ्‍य और साझेदारी पर बहुत ध्‍यान देकर चलें। किसी भी प्रकार का नुकसान सम्‍भव है। सफेद वस्‍तु पास रखें। ओम नम:शिवाय का जाप करते रहें।
सिंह-कुछ विवादास्‍पद चीज का सामना करना पड़ सकता है। स्‍वास्‍थ्‍य में कितनी भी बड़ी नकारात्‍मक चीज हो सकती है। हर दृष्टिकोण से बचाकर चलना है। कदापि सही समय नहीं है। प्रेम मध्‍यम है। संतान पक्ष से भी बहुत अच्‍छी स्थिति नहीं दिख रही है। रोजी-रोजगार के क्षेत्र में भी मध्‍यम है। स्‍वास्‍थ्‍य, संतान, प्रेम के बारे में सोच समझकर चलना पड़ेगा। बहुत सही नहीं है। काली वस्‍तु का दान करें। कोई ऐसी चीज जिसका कोई इस्‍तेमाल कर सके उसका दान करें।
कन्‍या-शासन सत्‍ता पक्ष से नुकसान की आशंका है। पिता के स्‍वास्‍थ्‍य पर ध्‍यान दें। किसी भी तरह का कोई राजनीतिक, शासन सत्‍ता पक्ष से नुकसान की आशंका है। सीने में विकार की आशंका है। बहुत हिसाब से चलें। प्रेम मध्‍यम, व्‍यवसायिक स्थिति खराब, स्‍वास्‍थ्‍य की स्थिति भी खराब है। हरी वस्‍तु पास रखें। किसी भी तरह की कोई काली वस्‍तु का दान करें।

तुला-सम्‍मान के प्रति सचेत रहें। पूजा-पाठ में मन लगाएं। स्‍वास्‍थ्‍य अच्‍छा नहीं है। इज्‍जत-प्रतिष्‍ठा दांव पर लग सकती है। व्‍यवसायिक तौर पर मध्‍यम चलेंगे। प्रेम के लिए भी मध्‍यम समय है। हिसाब से चलें। मां काली का स्‍मरण करते रहें।
वृश्चिक-खतरनाक समय साबित हो सकता है। मारक भाव में ग्रहों का जमावड़ा हुआ है। कोशिश करें कि जब तक बहुत आवश्‍यक न हो घर से न निकलें। जितना हो सके, घर पर रहकर ही चीजों को करें। सबसे ज्‍यादा जरूरी स्‍वास्‍थ्‍य पर ध्‍यान देना है। व्‍यवसायिक दृष्टिकोण से भले ठीक ठाक हो लेकिन प्रेम और स्‍वास्‍थ्‍य की दृष्टि से बहुत जरूरी है कि आप अपना ध्‍यान रखें। काली वस्‍तुओं का दान करें।
धनु-व्‍यवसाय से सम्‍बन्धित कोई निर्णय या रिस्‍क न लें। उदर, पैरों या शरीर के निचले भाग से सम्‍बन्धित कोई दिक्‍कत-परेशानी हो सकती है। जीवनसाथी के स्‍वास्‍थ्‍य पर बहुत जरूरी है कि आप ध्‍यान दें और एहतियात बरतें। व्‍यवसायिक दृष्टिकोण से मध्‍यम समय है बहुत खराब नहीं है लेकिन कोई नया निर्णय या रिस्‍क वाला निर्णय न लें। काली वस्‍तु का दान करें। पीली वस्‍तु पास रखें।
मकर-स्थिति ठीक ठाक कही जाएगी। कुछ परेशानियां आएंगी लेकिन हो सकता है कि कुछ परेशानियों पर लगाम भी लगे। बहुत परेशान होने की जरूरत नहीं है लेकिन स्‍वास्‍थ्‍य पर ध्‍यान देने की बहुत जरूरत है। हरी वस्‍तु पास रखें। प्रेम में तू-तू, मैं-मैं न करें। कोई नया निर्णय न लें। किसी चीज का प्रारम्‍भ न करें अभी। मां काली का स्‍मरण करें। हरी वस्‍तु पास रखें।
कुंभ-संतान पक्ष पर बहुत ज्‍यादा ध्‍यान देने की जरूरत है। किसी भी तरह से लिखने-पढ़ने की शुरुआत इस दिन न करें। बच्‍चों के मामले में कोई रिस्‍क न लें। महत्‍वपूर्ण निर्णयों को बिल्‍कुल न लें। किसी चीज का प्रारम्‍भ न करें। प्रेम में तू-तू, मैं-मैं न करें। मन को ठीक रखें। मानसिक अवसाद से बचें। सबसे ज्‍यादा हमला आपके मन पर है। इसका ध्‍यान रखें। गणेश जी की वंदना करें। हरी वस्‍तु पास रखें।
मीन - मां के स्‍वास्‍थ्‍य पर ध्‍यान दें। घरेलू किसी भी चीज में तू-तू, मैं-मैं या उसे लेकर नकारात्‍मकता न फैलाएं। सीने में विकार की आशंका है। भूमि-भवन-वाहन की खरीदारी पर विचार न करें। वाहन चलाते समय सावधानी बरतें। स्‍वास्‍थ्‍य, प्रेम मध्‍यम है। व्‍यवसाय ठीक ठाक है। हरी वस्‍तु दान करें। काली वस्‍तु का दान करें। भगवान शिव की अराधना व महामृत्युंजय मंत्र का जाप करें।

आचार्य जगदीश नौडियाल

अनुपम ज्योतिष केंद्र

Loading...

Latest Uttarakhand News Articles

वीडियो : IPS अधिकारी के रिटायर्मेंट कार्यक्रम में कांस्टेबल को देवता आ गया
वीडियो : उत्तराखंड का अमृत: किलमोड़ा
वीडियो : यहां जीवित हो उठता है मृत व्यक्ति - लाखामंडल उत्तराखंड

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

वायरल वीडियो

इमेज गैलरी

SEARCH

पढ़िये... उत्तराखंड की सत्ता से जुड़ी हर खबर, संस्कृति से जुड़ी हर बात और रिवाजों से जुड़े सभी पहलू.. rajyasameeksha.com पर।


Copyright © 2017-2020 राज्य समीक्षा.

To Top