उत्तराखंड: मोबाइल से दूर रहकर टॉपर बने ऋषित...प्रदेश में आया पहला स्थान (CBSE Board Uttarakhand Topper Hrishit Aggarwal)
Connect with us
Uttarakhand Govt Denghu Awareness Campaign
Image: CBSE Board Uttarakhand Topper Hrishit Aggarwal

उत्तराखंड: मोबाइल से दूर रहकर टॉपर बने ऋषित...प्रदेश में आया पहला स्थान

सीबीएसई बोर्ड की दसवीं की परीक्षा में 498 (98.6 प्रतिशत) अंक लाकर टॉप करने वाले ऋषित ने बताया कि उन्होंने मोबाइल से दूर रहकर सफलता हासिल की। आगे पढ़िए होनहार का सक्सेस मंत्र

संघर्ष से हासिल हुई सफलता की कहानियां हमें जीवन में कुछ बेहतर करने के लिए प्रेरित करती हैं। आज राज्य समीक्षा आपके लिए उत्तराखंड के ऐसे ही होनहारों की कहानियां लेकर आया है, जो छात्रों को कभी हार ना मानने की सीख देंगी। ये कहानियां सीबीएसई बोर्ड की परीक्षा में सफल हुए उन होनहारों की है, जिन्होंने अपनी मेहनत के दम पर इतिहास रच दिया। इस कड़ी में सबसे पहला नाम है, देहरादून रीजन में दसवीं की परीक्षा में टॉपर रहे ऋषित अग्रवाल का। रुद्रपुर के रहने वाले ऋषित अग्रवाल ने दसवीं में 498 (98.6 प्रतिशत) अंक लाकर इतिहास रच दिया। ऋषित बताते हैं कि पढ़ाई पर ध्यान लगाने के लिए उन्होंने मोबाइल से दूरी बनाए रखी। जिसकी बदौलत वो टॉप करने में सफल रहे। ऋषित बड़े होकर इंजीनियर बनना चाहते हैं। ऋषित के पिता डॉ. अतुल अग्रवाल का निजी अस्पताल है। माता-पिता दोनों डॉक्टर हैं। परिजनों और गुरुजनों ने ऋषित की सफलता पर खुशी जाहिर की। ऋषित इस वक्त कोटा से आईआईटी की ऑनलाइन पढ़ाई भी कर रहे हैं। आगे पढ़िए

यह भी पढ़ें - पहाड़ को ये किसकी नज़र लगी? 10 साल की बच्ची से जंगल में रेप..आरोपी गिरफ्तार
उत्तराखंड में दूसरे स्थान पर टॉप करने वाली छात्रा का नाम है हर्षी सिंह। काशीपुर की रहने वाली हर्षी सिंह ने सीबीएसई हाईस्कूल की परीक्षा में 497 (99.6 प्रतिशत) अंकों के साथ उत्तराखंड में दूसरा स्थान हासिल किया। हर्षी बताती हैं कि उन्होंने पढ़ाई करते वक्त हर विषय को पूरा समय दिया। वो दिन में रोजाना 8-10 घंटे घर पर पढ़ाई करती थीं। हर्षी की सफलता इसलिए खास है, क्योंकि उन्होंने बचपन से आज तक बिना ट्यूशन के ही पढ़ाई की। गणित और विज्ञान विषय में उनके पिता ने मदद की, जबकि माता के सहयोग से उन्होंने हिंदी विषय की पढ़ाई की। नैनीताल जिले के रहने वाले आर्यन भट्ट भी 497 (99.4 प्रतिशत) अंक पाकर प्रदेश में दूसरा स्थान हासिल करने में सफल रहे। आर्यन ने भी बिना ट्यूशन के सेल्फ स्टडी करके सफलता हासिल की है। इसी तरह रितिका पालीवाल भी सीबीएसई की 10 वीं की बोर्ड परीक्षा में 99.4 प्रतिशत अंक हासिल कर प्रदेश में दूसरा स्थान हासिल करने में सफल रहीं।

यह भी पढ़ें - रुद्रप्रयाग: बंद कमरे में मिली पति-पत्नी की लाश, 2 साल पहले ही हुई थी शादी
प्रदेश में सीबीएसई दसवीं की परीक्षा में तीसरा नंबर रुद्रपुर की छात्रा प्रिया सिंह ने हासिल किया। उन्होंने हाईस्कूल में 496 (99.2 प्रतिशत) अंक हासिल किए। प्रिया बताती हैं कि उन्होंने पढ़ाई के लिए कोई खास शेड्यूल तय नहीं किया था, लेकिन वो रोजाना पांच घंटे पढ़ाई जरूर करती थीं। प्रिया बड़ी होकर आईएएस अधिकारी बनना चाहती हैं। रुद्रपुर के शिवांग भी 496 (99.2 प्रतिशत) अंकों के साथ प्रदेश में तीसरा स्थान हासिल करने में सफल रहे। शिवांग ने अपनी सफलता का श्रेय बड़ी बहन सोनाक्षी को दिया। उन्होंने कहा कि माता-पिता और गुरुजनों के साथ उनकी बहन सोनाक्षी ने भी पढ़ाई में उनकी बहुत मदद की। खटीमा की रहने वाली आरुषि बत्रा भी 496 (99.2 प्रतिशत) अंक लाकर प्रदेश में तीसरा स्थान प्राप्त करने में सफल रहीं। इसी तरह हल्द्वानी की छात्रा काव्या उपाध्याय ने भी हाईस्कूल की परीक्षा में 496 (99.2) प्रतिशत अंक प्राप्त किए। सीबीएसई की हाईस्कूल परीक्षा में टॉप करने वाले छात्रों ने अपने सक्सेस मंत्र के बारे में भी बात की। छात्रों ने कहा कि लक्ष्य निर्धारित कर के तैयारी की जाए तो सफलता जरूर मिलेगी। इसके अलावा स्कूल में जो भी पढ़ाया जाता है, उसका रिवीजन करना भी जरूरी है। राज्य समीक्षा टीम की तरफ से बोर्ड परीक्षा में सफलता हासिल करने वाले छात्रों को बधाई। हम इनके उज्जवल भविष्य की कामना करते हैं।

Loading...

Latest Uttarakhand News Articles

वीडियो : DM स्वाति भदौरिया से खास बातचीत
वीडियो : बाघ-तेंदुओं से अकेले ही भिड़ जाता है पहाड़ का भोटिया कुत्ता
वीडियो : यहां जीवित हो उठता है मृत व्यक्ति - लाखामंडल उत्तराखंड

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

वायरल वीडियो

इमेज गैलरी

Trending

SEARCH

पढ़िये... उत्तराखंड की सत्ता से जुड़ी हर खबर, संस्कृति से जुड़ी हर बात और रिवाजों से जुड़े सभी पहलू.. rajyasameeksha.com पर।


Copyright © 2017-2020 राज्य समीक्षा.

To Top