पिथौरागढ़ में भारी बारिश के बाद तबाही..दो महिलाओं की मौत, चीन सीमा को जोड़ने वाला पुल बहा (Destruction after heavy rains in pithoragarh)
Connect with us
Uttarakhand Govt Denghu Awareness Campaign
Image: Destruction after heavy rains in pithoragarh

पिथौरागढ़ में भारी बारिश के बाद तबाही..दो महिलाओं की मौत, चीन सीमा को जोड़ने वाला पुल बहा

मौसम के मिजाज से मुनस्यारी, बंगापानी और तेजम तहसील क्षेत्रों के लोग सहमे हुए हैं। मौरी गांव में बारिश के साथ आए सैलाब में चार मकान बह गए। मेंतली में मलबे में दबने की वजह से 45 साल की महिला की मौत हो गई। आगे पढ़िए पूरी खबर

आपदा की ये तस्वीरें सीमांत जिले पिथौरागढ़ की हैं, जहां बारिश के साथ आई मुसीबत का सिलसिला थम नहीं रहा। सोमवार रात यहां मूसलाधार बारिश ने जमकर कहर बरपाया। धारचूला और बंगापानी क्षेत्र में भारी बारिश के चलते जौलजीबी-मुनस्यारी रोड पर लुमती के पास बीआरओ का मोटर पुल बह गया। जौलजीबी-मुनस्यारी रोड भारत को चीन सीमा से जोड़ती है। मौरी गांव में बारिश के साथ आए सैलाब में चार मकान बह गए। यहां के लोग अब खुले में रहने को मजबूर हैं। बंगापानी के मेंतली में मलबे में दबने की वजह से 45 साल की महिला की मौत हो गई। धारचूला में भी भूस्खलन की खबर है। यहां गोरी नदी जौलजीबी में खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। नदी का जलस्तर बरम के मोटर पुल तक पहुंच चुका है। आगे भी पढ़िए

यह भी पढ़ें - उत्तराखंड के 6 जिलों में मूसलाधार बारिश की चेतावनी, मौसम विभाग ने जारी किया ऑरेंज अलर्ट
गोरी नदी घाटी में लुमती से आगे संपर्क कट गया है। जिससे जिला मुख्यालय के 100 से ज्यादा गांव अलग-थलग पड़े हैं। बंगापानी में तहसील भवन की भूमि सैलाब में बह गई। लुमती, मौरी और जाराजिबली के लोगों ने भी अपने घर छोड़ दिए हैं। धारचूला के खुमती में एक दुकान और चार वाहन बारिश के साथ आए सैलाब में बह गए। यहां रविवार रात बंगापानी के धामी गांव में भूस्खलन से एक मकान ढह गया था। हादसे में मां और बेटे की मौत हो गई थी। सोमवार को दोनों के शव मलबे से बरामद कर लिए गए। ग्रामीणों ने बताया कि 60 वर्षीय विशना देवी और उसके 30 वर्षीय बेटे जोहार सिंह का शव मलबे से निकाल लिया गया है, लेकिन 47 जानवर अब भी मलबे में दबे हैं।

यह भी पढ़ें - चमोली जिले में बादल फटने से तबाही, एक महिला की मौत..एक बच्ची की हालत गंभीर
मुनस्यारी तहसील के गूटी गांव में भी हादसा हुआ है, यहां शौचालय पर बोल्डर गिरने से एक महिला की मौत हो गई। नाचनी क्षेत्र में हुई मूसलाधार बारिश से बरागाड़ नदी उफान पर है। यहां बांसबगड़ में नदी किनारे के खेत, शौचालय और कई पेड़ नदी में समा गए। नदी किनारे रह रहे सभी परिवारों को सुरक्षित स्थानों पर शिफ्ट कर दिया गया है। कुमाऊं मंडल के लिए अगले 48 घंटे मुश्किल भरे रहेंगे। मौसम विभाग ने कुमाऊं के पर्वतीय क्षेत्रों में भारी बारिश का सिलसिला जारी रहने की संभावना जताई है। आज नैनीताल, बागेश्वर, पिथौरागढ़, चंपावत और ऊधमसिंहनगर जिले में भारी से बहुत भारी बारिश हो सकती है। इसलिए पर्वतीय क्षेत्र के लोग अतिवृष्टि को लेकर सतर्क रहें। नदी, नालों के करीब जाने से बचें।

Loading...

Latest Uttarakhand News Articles

वीडियो : आछरी - गढ़वाली गीत
वीडियो : उत्तराखंड में मौजूद है परीलोक...जानिए खैंट पर्वत के रहस्य
वीडियो : श्री बदरीनाथ धाम से जुड़े अनसुने रहस्य

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

वायरल वीडियो

इमेज गैलरी

SEARCH

पढ़िये... उत्तराखंड की सत्ता से जुड़ी हर खबर, संस्कृति से जुड़ी हर बात और रिवाजों से जुड़े सभी पहलू.. rajyasameeksha.com पर।


Copyright © 2017-2020 राज्य समीक्षा.

To Top