उत्तराखंड चम्पावतDevidhura Ramesh ram beaten by people

उत्तराखंड में दलित युवक की पीट-पीटकर हत्या, शादी में खाने को लेकर हुई थी पिटाई

रमेश राम को शादी में आने का न्योता मिला था। वहां वो अपने हाथ से खाना निकाल कर खाने लगा, यही बात वहां मौजूद ऊंची जाति के लोगों को चुभ गई। आगे जानिए पूरा मामला-

Devidhura Ramesh ram: Devidhura Ramesh ram beaten by people
Image: Devidhura Ramesh ram beaten by people

चम्पावत: उत्तराखंड के चंपावत में पिछले दिनों एक ऐसी घटना हुई, जिसने देवभूमि को शर्मसार कर दिया। यहां शादी में खाना खा रहे एक दलित शख्स रमेश राम की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। हत्या का आरोप ऊंची जाति के लोगों पर लगा है। रमेश की गलती सिर्फ ये थी कि वो गरीब था, दलित था। इसी की कीमत रमेश ने चुकाई और कुछ लोगों ने उसे मार डाला। रमेश राम देवीधुरा के केदारनाथ गांव में एक किराये की दुकान पर टेलर का काम करता था। 28 नवंबर को दुकान स्वामी के यहां बारात का कार्यक्रम था। रमेश राम को भी निमंत्रण मिला। वहां दलित रमेश राम अपने हाथों से खाना लेकर भोजन करने लगा, बस यही बात अगड़ी जाति के लोगों को चुभ गई। उन्होंने रमेश राम पर हमला कर दिया और उसे बेतहाशा पीटने लगे। बाद में 45 साल के रमेश राम की अस्पताल में मौत हो गई। इस मामले में मृतक के पुत्र और पत्नी तुलसी देवी ने पुलिस को तहरीर दी है। मृतक के बेटे संजय का कहना है कि देर शाम जब उसके पापा बारात से वापस नहीं लौटे तो उसने फोन किया। फोन किसी और शख्स ने उठाया और कहा कि तुम्हारे पापा सुबह तक आ जाएंगे। आगे पढ़िए

ये भी पढ़ें:

यह भी पढ़ें - देहरादून: गोभी की सब्जी खाने के बाद एक युवक की मौत, 1 की हालत गंभीर
सुबह 108 एंबुलेंस वालों का फोन आया, उन्होंने बताया कि तुम्हारे पापा लोहाघाट अस्पताल में भर्ती हैं। मैं अपनी मां को लेकर वहां पहुंचा तो देखा कि मेरे पापा फर्श पर बैठे थे। उनके कपड़े फटे थे। बाद में उन्हें चंपावत और फिर हल्द्वानी के अस्पताल रेफर किया गया। मृतक के बेटे ने बताया कि मेरे पापा ने इस बीच मुझे बताया कि खाना खाते वक्त मुझे मारा गया। रमेश राम की हल्द्वानी में इलाज के दौरान मृत्यु हो गई। पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया। इस घटना के बाद पीड़ित परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। वो सदमे में हैं। तमाम सामाजिक संगठन रमेश राम को इंसाफ दिलाने के लिए लगातार आवाज उठा रहे हैं। उन्होंने रमेश राम हत्याकांड के लिए जिम्मेदार लोगों के लिए फांसी की मांग की। वहीं पुलिस ने इस मामले में अज्ञात आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज किया है। डूंगर सिंह, जिसके यहां शादी थी। उससे और उसके परिजनों से भी पूछताछ की जा रही है।