उत्तराखंड नैनीतालUP tourists fight with police in Nainital

उत्तराखंड आकर पुलिस से भिड़ गए UP के पर्यटक, बीच सड़क पर काटा बवाल

उत्तराखंड के नैनीताल में वाहन एंट्री देने से रोका तो पुलिस से भिड़ गए उत्तर प्रदेश से आए हुए पर्यटक..पढ़िए पूरी खबर

uttarakhand news rajya sameeksha Vikalp rahit sankalp sep 22
nainital police up tourist: UP tourists fight with police in Nainital
Image: UP tourists fight with police in Nainital (Source: Social Media)

नैनीताल: उत्तराखंड के नैनीताल में बीते रविवार को यूपी के कुछ पर्यटकों ने बवाल खड़ा कर दिया।

UP tourists fight with police in Nainital

दरअसल नैनीताल में इन दिनों पर्यटकों की भारी भीड़ की वजह से जाम की स्थिति उत्पन्न हो रखी है। शहर में पार्किंग की समस्या को देखते हुए वीकेंड पर पर्यटकों को केवल शटल सेवा के माध्यम से ही शहर में एंट्री जा रही है और उनके सभी वाहनों को रूसी बाईपास क्षेत्र में पार्क किया जा रहा है। मगर इस नियम से यूपी के कुछ पर्यटकों को काफी समस्या हो रही है और बीते रविवार को यूपी के कुछ पर्यटकों ने नैनीताल में वाहन की एंट्री नहीं मिलने पर बवाल खड़ा कर दिया। जब बाईपास क्षेत्र में पर्यटक वाहन को पुलिस कर्मियों ने बाईपास में ही खड़ा करने के निर्देश दिए तो पर्यटक पुलिस से ही भिड़ गए। जब बहुत समझाने के बाद भी पर्यटक शांत नहीं हुए तो पुलिस उन को गिरफ्तार कर थाने ले आई। मिली जानकारी के मुताबिक बीते रविवार की सुबह से ही नैनीताल शहर में वीकेंड होने की वजह से पर्यटक वाहनों का दबाव बढ़ने लगा और पुलिस ने वाहनों को रूसी बाईपास क्षेत्र में ही पार्क करवा कर पर्यटकों को शटल सेवा के माध्यम से शहर के भीतर पहुंचाया।

ये भी पढ़ें:

इसी बीच नैनीताल यूपी के कुछ पर्यटकों का वाहन आ रहा था जिसको पुलिस ने रोक लिया और पुलिस ने उनको शटल सेवा के माध्यम से नैनीताल जाने की जानकारी दी। मगर इस दौरान वाहन में मौजूद पर्यटक पुलिस से नोकझोंक करने लगे और उनके बीच में तीखी बहस हो गई और वे जबरदस्ती अपना वाहन भीतर ले जाने के बाद करने लगे। जिसके बाद मौके पर हंगामा खड़ा हो गया। हंगामा बढ़ता देख ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मियों ने तल्लीताल पुलिस को मामले की सूचना दी। सूचना मिलते ही एसआई बबीता समेत अन्य पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे और पर्यटकों को डांट फटकार कर शांत कराने का प्रयास किया मगर यूपी से आए हुए पर्यटक उसके बावजूद भी जिद पर अड़े रहे। इसके बाद पुलिस ने सीआरपीसी धारा 151 के तहत उनको गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया।