उत्तराखंड रुद्रप्रयागShort film Paatal Tee to be screened at Moscow Film Festival

रुद्रप्रयाग के होनहारों ने कमाल कर दिया, मॉस्को फिल्म फेस्टिवल में दिखाई जाएगी इनकी फिल्म

शॉर्ट फिल्म 'पताल ती' Short film Paatal Tee को बुसान इंटरनेशनल शॉर्ट फिल्म फेस्टिवल में भी खूब सराहा गया था। अब इसे Moscow Film Festival में दिखाया जाएगा।

uttarakhand news rajya sameeksha Vikalp rahit sankalp sep 22
paatal Tee short film rudraprayag: Short film Paatal Tee to be screened at Moscow Film Festival
Image: Short film Paatal Tee to be screened at Moscow Film Festival (Source: Social Media)

रुद्रप्रयाग: उत्तराखंड के युवाओं द्वारा तैयार की गई शॉर्ट फिल्म 'पताल ती' दुनिया के प्रतिष्ठित मॉस्को इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में धूम मचाने को तैयार है।

film Paatal Tee to be screened at Moscow Film Festival

ये शॉर्ट फिल्म भोटिया भाषा की लोक कथा और पहाड़ के जीवन दर्शन पर बेस्ड है। जिसका चयन मॉस्को इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल के लिए हुआ है। इससे पहले यह फिल्म बुसान इंटरनेशनल शॉर्ट फिल्म फेस्टिवल के लिए चुनी गई थी। जहां फिल्म को खूब सराहना मिली और ये चौथा स्थान हासिल करने में सफल रही। बुसान की सफलता के बाद अभी यह फिल्म इटली के डेल्ला लेसिनिया फिल्म फेस्टिवल के लिए चुनी गई है, जो 19 से 28 अगस्त तक इटली के वेरोना शहर में होगा। वहां के बाद यह फिल्म मॉस्को इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल Moscow Film Festival में 30 अगस्त 2022 को दिखाई जाएगी। हमारे लिए ये उपलब्धि इसलिए भी खास है, क्योंकि 'पताल ती' paatal Tee भारत से चुनी गई एकमात्र शॉर्ट फिल्म है, जो कि मॉस्को इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में दिखाई जाएगी।

ये भी पढ़ें:

शॉर्ट फिल्म पताल ती paatal Tee को रुद्रप्रयाग जिले के तीन युवाओं ने मिलकर तैयार किया है। इनमें निर्माता-निर्देशक संतोष रावत, सिनोमेटोग्राफर बिट्टू रावत, एक्जीक्यूटिव प्रोड्यूसर गजेन्द्र रौतेला और उनके बेटे कैमरामैन दिव्यांशु रौतेला शामिल हैं। यह फिल्म उत्तराखंड और खासकर भोटिया जनजाति को एक नए नजरिए से देश-दुनिया के सामने लाई है। फिल्म के एग्जीक्यूटिव प्रोड्यूसर गजेंद्र रौतेला कहते हैं कि फिल्म की कथा पहाड़ के जीवन दर्शन को दर्शाती है। यह हमारा सौभग्य है कि मास्को फिल्म फेस्टिवल में हमारी फिल्म ऐसे समय में दिखाई जा रही है, जब हमारे देश के महान फिल्मकार सत्यजीत रे की जन्म शताब्दी वर्ष पर फेस्टिवल में उनकी फिल्मों का रेट्रोस्पेक्टिव हो रहा है। बता दें कि 44वें मॉस्को इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल Moscow Film Festival के कंपटीशन में इस साल फीचर फिल्मों, डॉक्यूमेंट्री और शॉर्ट फिल्मों के लिए 40 फिल्मों का चयन हुआ है। जिसमें 12 फीचर फिल्म, 10 डॉक्यूमेंट्री फिल्म और 18 शॉर्ट फिल्में शामिल हैं।