उत्तराखंड कोटद्वारIgnoring standards in Uttarakhand Agniveer Recruitment 2022

उत्तराखंड अग्निवीर भर्ती में मानकों की अनदेखी, कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज ने ही उठाए सवाल

कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज ने उत्तराखंड अग्निवीर भर्ती Uttarakhand Agniveer bharti 2022 में मानकों की अनदेखी का आरोप लगाया है।

uttarakhand news rajya sameeksha Vikalp rahit sankalp sep 22
uttarakhand agniveer bharti 2022: Ignoring standards in Uttarakhand Agniveer Recruitment 2022
Image: Ignoring standards in Uttarakhand Agniveer Recruitment 2022 (Source: Social Media)

कोटद्वार: उत्तराखंड के युवाओं के साथ अग्निवीर भर्ती के मानकों में हो रही अनदेखी पर कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज खासे मुखर हैं।

ignorance of Standards in Uttarakhand Agniveer bharti 2022

एक दिन पहले रक्षा राज्यमंत्री से इस बात की शिकायत करने के बाद अब सतपाल महाराज ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से हस्तक्षेप की मांग की है। सतपाल महाराज ने इसके लिए राजनाथ सिंह को पत्र लिखा है औऱ मांग की है कि भर्ती प्रक्रिया निर्धारित मानकों के अनुरूप कराई जाए। गौरतलब है कि कोटद्वार और रानीखेत में इन दिनों उत्तराखंड के युवाओँ के लिए अग्निवीर की भर्ती चल रही है। भर्ती में शामिल होने आए कई युवाओं ने आरोप लगाया कि दौड़ का क्वालिफाइंग समय निर्धारित मानक से कम किया गया है। इसके अलावा पहाड़ के अभ्यर्थियों को ऊंचाई में भी बाहर किया जा रहा है, जबकि उन्हें पर्वतीय होने के नाते ऊंचाई में छूट मिलती है। कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज ने इसका संज्ञान लिया है। सतपाल महाराज ने मंगलवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट को पत्र लिखा। उसमें भर्ती प्रक्रिया को पूर्व में निर्धारित मानकों के अनुसार संचालित करने का अनुरोध किया है। आगे पढ़िए

ये भी पढ़ें:

Satpal Maharaj letter on Agniveer Recruitment

कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज ने पत्र के माध्यम से अवगत कराया कि भारत सरकार की “अग्निवीर भर्ती योजना” के तहत कोटद्वार में 19 से 31 अगस्त 2022 तक बीआरओ लैंसडाउन के द्वारा अग्निवीरों की भर्ती की जा रही है। इस दौरान उन्हें युवाओं द्वारा भेजी गई कुछ वीडियो क्लिपिंग से पता चला है कि भर्ती के दौरान राज्य के 300 युवाओं को एक साथ दौडा़या जा रहा है। उसमें से भी मात्र 8 या 10 युवाओं को ही चुना जा रहा है, जबकि शारीरिक में पूर्व में औसतन 300 में से 60 का चयन किया जाता था। उन्होने पत्र के माध्यम से रक्षा मंत्री को बताया कि भर्ती होने वाले युवाओं का कहना है कि भर्ती के दौरान मानकों की अनदेखी की जा रही है। मुझे बताया गया कि दौड़ का समय 1600 मीटर के लिये 5:40 सेकंड है, लेकिन वह सिर्फ 5 मिनट में ही दौड़ को समाप्त कर दे रहे हैं। उतराखंड के जवानों के लिए 163 सेंटीमीटर लंबाई है, जो स्वर्गीय पूर्व थलसेना अध्यक्ष जनरल विपिन रावत ने उतराखंड के लिए करवाई थी। लेकिन भर्ती होने आए युवाओं की हाइट अब 170 सेंटीमीटर ले रहें हैं