गढ़वाली बोलिए, गर्व कीजिए..उत्तराखंड ने एक सुर में की इस काम की तारीफ..देखिए वीडियो (rj rajat negi video with garhwali people)
Connect with us
Image: rj rajat negi video with garhwali people

गढ़वाली बोलिए, गर्व कीजिए..उत्तराखंड ने एक सुर में की इस काम की तारीफ..देखिए वीडियो

पौड़ी में बच्चे गढ़वाली पढ़ने लगे हैं, प्रशासन की इस पहल को लेकर रजत नेगी ने लोगों की प्रतिक्रिया जानी, देखिए लोगों ने क्या कहा....

उत्तराखंड की बोली-भाषाएं, संस्कृति हमारा अभिमान हैं। पौड़ी के सरकारी स्कूलों में बच्चे गढ़वाली पढ़ने लगे हैं, रुद्रप्रयाग में भी बच्चे जल्द ही गढ़वाली लिखेंगे-पढ़ेंगे। उम्मीद है अब हमारी गढ़वाली बचेगी, हमारी संस्कृति बचेगी। अच्छी बात ये है कि उत्तराखंड के युवा भी इस प्रयास को बेहतरीन पहल मानते हैं और अपनी-अपनी तरह से गढ़वाली को प्रमोट करने की कोशिशों में जुटे हैं। हाल ही में देहरादून के एक निजी रेडियो चैनल में काम करने वाले रजत नेगी ने पौड़ी प्रशासन की नई पहल पर लोगों की राय जानी। रजत नेगी ने पौड़ी के स्कूलों में शुरू हुए गढ़वाली पाठ्यक्रम के बारे में लोगों से सवाल पूछे, और यकीन मानिए जवाब में इस पहल की लोगों ने खूब सराहना की। पौड़ी प्रशासन के साथ ही, प्रदेश सरकार को भी धन्यवाद दिया। कुल मिलाकर अब प्रदेश का हर बच्चा गढ़वाली बोलने-पढ़ने को तैयार है। रजत ने लोगों की प्रतिक्रियाओं पर एक शानदार वीडियो भी तैयार किया है। आप भी ये वीडियो देखें।

यह भी पढें - इस गढ़वाली गीत ने बनाया बड़ा रिकॉर्ड, 2 करोड़ हिट्स के पार पहुंचने वाला पहला पहाड़ी गीत
चलिए अब आपको रजत नेगी के बारे में बताते हैं। रजत आरजे हैं और एक निजी रेडियो स्टेशन के लिए काम करते हैं, ये तो आप जान ही चुके हैं। वो मूलरूप से पौड़ी के ही रहने वाले हैं, पर अब उनका परिवार देहरादून में रहता है। पहाड़ी संस्कृति, पर्यावरण और गढ़वाली को बचाने के लिए बना ये वीडियो रजत का पर्सनल एफर्ट है। वो यूट्यूब और फेसबुक पर अपने बनाए वीडियो अपलोड करते रहते हैं जिन्हें लोग खूब पसंद करते हैं। कई वीडियोज को तो एक-एक लाख से ज्यादा बार देखा गया, सैकड़ों बार शेयर किया गया। रजत कहते हैं कि पौड़ी में शानदार काम हो रहा है, देहरादून में ही ऐसे कई लोग हैं जो भले ही उत्तराखंड के ना हों, लेकिन अच्छी गढ़वाली बोलते हैं, इससे लगाव महसूस करते हैं। हम पहाड़ी हैं तो गढ़वाली बोलने में झिझक कैसी। अपनी संस्कृति-बोली को बचाने का काम कर के सचमुच संतुष्टी का अहसास होता है। युवा पीढ़ी भी नए-नए माध्यमों के जरिए गढ़वाली को प्रमोट करने की कोशिश कर रही है, ये अच्छी पहल है। ऐसी कोशिशें होती रहनी चाहिए। रजत के बनाए इस वीडियो में कैमरे पर उनका साथ दिया है हिमांशु कोठारी ने...ये शानदार वीडियो आप भी देखिए और जानिए कि पौड़ी में हुई पहल का लोग किस तरह स्वागत कर रहे हैं। वीडियो पसंद आए तो इसे शेयर भी करें और कमेंट के तौर पर अपनी प्रतिक्रिया भी दें…

YouTube चैनल सब्सक्राइब करें -

Loading...

Latest Uttarakhand News Articles

वीडियो : श्री बदरीनाथ धाम से जुड़े अनसुने रहस्य
वीडियो : उत्तराखंड का अमृत: किलमोड़ा
वीडियो : यहां जीवित हो उठता है मृत व्यक्ति - लाखामंडल उत्तराखंड

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

वायरल वीडियो

इमेज गैलरी

SEARCH

To Top