Connect with us
Image: Uttarakhand foundation day-2019 celebration in state this time is very special

इस बार बेहद खास होगा उत्तराखंड के जन्मदिन का जश्न, 5 जगहों पर होंगे खास प्रोग्राम

राज्य स्थापना दिवस पर होने वाले कार्यक्रमों के जरिए प्रदेश सरकार रिवर्स पलायन का संदेश देगी, जानिए समारोह की खास बातें...

उत्तराखंड का राज्य स्थापना दिवस समारोह इस बार खास होगा। समारोह को यादगार बनाने की तैयारियां जारी हैं। 19वें स्थापना दिवस का समारोह एक हफ्ते पहले ही शुरू हो जाएगा। यानि कार्यक्रम 3 नवंबर से आरंभ हो जाएंगे। आमतौर पर राज्य स्थापना समारोह के कार्यक्रम केवल राजधानी देहरादून में होते थे, पर इस बार दून के साथ-साथ टिहरी, श्रीनगर, अल्मोड़ा और मसूरी में भी अलग-अलग थीम पर कार्यक्रम होंगे। कार्यक्रम 3 नवंबर से शुरू होंगे, जो कि 9 नवंबर तक चलेंगे। कार्यक्रमों में उत्तराखंड की लोक संस्कृति और परंपरा दिखेगी। पलायन को रोकने का संदेश भी दिया जाएगा। कार्यक्रमों के जरिए सरकार रिवर्स पलायन का संदेश भी देगी। कार्यक्रमों में अलग-अलग क्षेत्रों की मशहूर हस्तियां और प्रवासी उत्तराखंडी हिस्सा लेंगे।

यह भी पढ़ें - पहाड़ में चुनावी रंजिश के चलते खौफनाक हत्याकांड, ग्राम प्रधान का भाई गिरफ्तार
राज्य स्थापना दिवस यूं तो हर उत्तराखंडी के लिए बेहद अहम दिन है, लेकिन इस बार इस समारोह की सबसे खास बात ये रहेगी कि सरकार पलायन रोकने के लिए लोगों को जागरूक करेगी। प्रवासी उत्तराखंडियों से अपने घर-गांव लौट आने की अपील करेगी। अलग-अलग विषयों पर सम्मेलन होंगे। आइए इनके बारे में भी जानते हैं। तीन नवंबर को टिहरी में ‘आवा अपुण घोर’ (आइये अपने घर) कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। चार नवंबर को राजधानी देहरादून में ‘मेरा सैनिक मेरा अभिमान’ कार्यक्रम होगा। छह नवंबर को श्रीनगर गढ़वाल में महिला सम्मेलन आयोजित होगा। सात नवंबर को अल्मोड़ा में युवाओं पर केंद्रित ‘मेरा युवा मेरी शान’ सम्मेलन का आयोजन होगा। आठ नवंबर को पर्यटन नगरी मसूरी में फिल्मी हस्तियां जुटेंगी। इस कार्यक्रम का उद्देश्य प्रदेश में फिल्म उद्योग को प्रोत्साहित करना है। मसूरी में फिल्म कॉन्क्लेव का आयोजन होगा। नौ नवंबर को प्रदेश सरकार स्थापना दिवस का मुख्य समारोह देहरादून में आयोजित करेगी। सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि राज्य स्थापना दिवस इस बार अलग अंदाज में मनाया जाएगा। हमारी कोशिश है कि लोग अपने छूटे हुए घरों और खेत खलिहानों को सहेजने के लिए वापस लौटें।

वीडियो : बाघ-तेंदुओं से अकेले ही भिड़ जाता है पहाड़ का भोटिया कुत्ता
वीडियो : DM स्वाति भदौरिया से खास बातचीत
वीडियो : उत्तराखंड में मौजूद है परीलोक...जानिए खैंट पर्वत के रहस्य
Loading...
Loading...

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

वायरल वीडियो

इमेज गैलरी

SEARCH

To Top