पहाड़ में ऐसे जिलाधिकारी भी हैं..DM ने सुदूर गांवों को दिलाई हाईटेक सुविधाओं से लैस दो एंबुलेंस (Two high tech ambulance start in uttarkashi district)
Connect with us
Uttarakhand Govt Denghu Awareness Campaign
Image: Two high tech ambulance start in uttarkashi district

पहाड़ में ऐसे जिलाधिकारी भी हैं..DM ने सुदूर गांवों को दिलाई हाईटेक सुविधाओं से लैस दो एंबुलेंस

जिस जगह लोगों को रोज की जरूरतें पूरी करने के लिए भी कड़ा संघर्ष करना पड़ता हो, वहां गांव से अस्पताल पहुंचना भी एक बड़ी चुनौती है...

उत्तराखंड में स्वास्थ्य सेवाएं बदहाल हैं। कहीं अस्पताल नहीं हैं, कहीं डॉक्टर...और कहीं एंबुलेंस...जहां ये तीनों हैं वहां पर भी लोगों को समय रहते इलाज नहीं मिल पाता। दूरस्थ ग्रामीण इलाकों में तो हाल और भी बुरे हैं, एंबुलेंस ना मिल पाने की वजह से लोग अस्पताल पहुंचने से पहले ही दम तोड़ देते हैं। चलिए अब कम से कम उत्तरकाशी की हर्षिल घाटी को ये दर्द नहीं सहना पड़ेगा। सोमवार को जिला प्रशासन ने क्षेत्र को दो नई एंबुलेंस की सौगात दी। ये दोनों एंबुलेंस हाईटेक सुविधाओं से लैस हैं। जिससे आपातकाल में लोगों को समय रहते मदद मिल सकेगी। डीएम डॉ. आशीष चौहान, यमुनोत्री विधायक केदार रावत और गंगोत्री विधायक गोपाल रावत ने दोनों एंबुलेंस को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इन एंबुलेंस के जरिए सीमांत हर्षिल और मोरी के लोगों को मदद दी जाएगी। दोनों एंबुलेंस अलग-अलग क्षेत्रों में अपनी सेवाएं देंगी। दोनों एंबुलेंस में लाइट सिक्योरिटी सिस्टम लगा है, जिससे गंभीर रूप से बीमार होने या दूसरी आपातकालीन स्थिति में मरीज को समय रहते मदद मिल सकेगी। एक एंबुलेंस सीमांत हर्षिल घाटी के गांवों के लिए है, जबकि दूसरी एंबुलेंस मोरी में सेवाएं देगी।

यह भी पढ़ें - गजब: देहरादून में डॉक्टरों ने सर्जरी से बनाई आहार नाल, 1 साल के बच्चे को दी नई जिंदगी
दूरस्थ इलाकों की स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार के नजरिये से ये बड़ा कदम है। इस पहल का श्रेय यहां के डीएम डॉ. आशीष चौहान को भी जाता है, जो कि स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने की कोशिश में जुटे हैं। वो क्षेत्र के विकास के लिए काम कर रहे हैं। आपको बता दें कि दूरस्थ क्षेत्र में बसे हर्षिल घाटी और मोरी में आपातकालीन वक्त में स्वास्थ्य सेवाएं नहीं मिल पाती थीं। एंबुलेंस ना होने की वजह से गंभीर रूप से बीमार लोगों को समय पर मदद नहीं मिलती थी। जिस जगह लोगों को रोज की जरूरतें पूरी करने के लिए भी कड़ा संघर्ष करना पड़ता हो, वहां गांव से अस्पताल पहुंचना भी एक बड़ी चुनौती है। उम्मीद है यहां के लोगों को अब राहत मिलेगी। अस्पताल पहुंचने के लिए दूसरे वाहनों की बाट नहीं जोहनी पड़ेगी। नई एंबुलेंस स्वास्थ्य सेवाओं के लिए वरदान साबित होंगी।

Loading...

Latest Uttarakhand News Articles

वीडियो : यहां जीवित हो उठता है मृत व्यक्ति - लाखामंडल उत्तराखंड
वीडियो : IPS अधिकारी के रिटायर्मेंट कार्यक्रम में कांस्टेबल को देवता आ गया
वीडियो : आछरी - गढ़वाली गीत

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

वायरल वीडियो

इमेज गैलरी

Trending

SEARCH

पढ़िये... उत्तराखंड की सत्ता से जुड़ी हर खबर, संस्कृति से जुड़ी हर बात और रिवाजों से जुड़े सभी पहलू.. rajyasameeksha.com पर।


Copyright © 2017-2020 राज्य समीक्षा.

To Top