उत्तराखंड पुलिस की इस महिला SI को सलाम, अपना खून देकर बचाई गर्भवती की जान (Uttarakhand Police Manisha Negi Blood Donation)
Connect with us
Image: Uttarakhand Police Manisha Negi Blood Donation

उत्तराखंड पुलिस की इस महिला SI को सलाम, अपना खून देकर बचाई गर्भवती की जान

मिलिए उत्तरकाशी कोतवाली की बाजार चौकी इंचार्ज निरीक्षक मनीषा नेगी से जो ऐन वक्त पर गर्भवती और उसके बच्चे के लिए वरदान बनकर सामने आईं

मित्रता सेवा और सुरक्षा, यह है उत्तराखंड पुलिस का स्लोगन। कोरोना काल के शुरुआत से ही पुलिस विभाग राज्य के उन विभागों में से एक है जो दिन-रात सुबह -शाम 24 घंटे राज्य के निवासियों की सुरक्षा के लिए तत्पर है और अपनी ड्यूटी पर तैनात है। इस मुश्किल समय में पुलिसकर्मी लगातार लोगों की मदद कर रहे हैं और मानवता की मिसाल पेश कर रहे हैं। कठिन समय में पुलिसकर्मियों द्वारा राज्य के निवासियों की मदद करके यह साबित कर रहे हैं कि इंसानियत और संवेदना अब भी जिंदा हैं। उत्तरकाशी में भी पुलिस का ऐसा ही एक मानवीय गुण सामने आया है जिसमें समाज के सामने एक नेकदिली की ठोस मिसाल पेश की है। आज हम उत्तरकाशी की एक ऐसी एसआई के बारे में आपको बताने जा रहे हैं जिन्होंने अपना रक्तदान कर एक गर्भवती की जान बचाई है। उन्होंने मुश्किल वक्त में रक्तदान कर गर्भवती के साथ-साथ उसके नवजात शिशु को भी जीवनदान प्रदान किया है जिसके बाद सब उनकी बेहद सराहना कर रहे हैं। बता दें कि इससे पहले भी वे उत्तरकाशी में ही 3 बार और अपना खून डोनेट कर इंसानियत की जीती जागती मिसाल पेश कर चुकी हैं।

यह भी पढ़ें - देहरादून का ईनामी डॉक्टर 26 साल बाद गिरफ्तार, DIG अरुण मोहन जोशी का प्लान काम आया
बीते शुक्रवार को उत्तरकाशी में एक गर्भवती को ओ नेगेटिव रक्त की जरूरत थी क्योंकि उनका हीमोग्लोबिन का स्तर काफी कम था। ऐसे में प्रसव कराने में मां और बच्चे दोनों की जान को काफी खतरा था। मगर उत्तरकाशी कोतवाली की बाजार चौकी इंचार्ज निरीक्षक मनीषा नेगी ने आखिरी समय में गर्भवती और उसके बच्चे के लिए वरदान बनकर सामने आईं और रक्तदान कर उनको एक नया जीवन दान प्रदान किया। महिला पुलिसकर्मी के इस मानवीय कदम की अस्पताल प्रशासन और गर्भवती के परिजनों ने खूब सराहना की है और उनका धन्यवाद दिया है। चलिए अब आपको पूरी घटना से अवगत कराते हैं। घटना बीते शुक्रवार की है जहां पर उत्तरकाशी जिला महिला अस्पताल में एक गर्भवती प्रसार के लिए भर्ती हुई थी। चिकित्सकों ने गर्भवती के परिजनों को ओ नेगेटिव रक्त की व्यवस्था करने के लिए कहा था मगर गर्भवती के स्वजनों को उनके परिचितों में और नेगेटिव ग्रुप वाला कोई भी व्यक्ति नहीं मिला।

यह भी पढ़ें - उत्तराखंड में कांग्रेस को झटका..प्रदेश सचिव ने थामा AAP का दामन
इसके बाद उन्होंने रेड क्रॉस सोसाइटी से संपर्क किया। रेड क्रॉस में अपने रक्तदाताओं की सूची देखी तो उसमें उत्तरकाशी जिले की उप निरीक्षक मनीषा नेगी ओ नेगेटिव ब्लड ग्रुप से थीं जिसके बाद रेड क्रॉस सोसाइटी ने बिना देरी किए उत्तरकाशी कोतवाली के बाजार चौकी इंचार्ज मनीषा नेगी से संपर्क किया और एसआई मनीषा ने तुरंत ही रक्तदान करने के लिए हामी भर दी। तत्काल रुप से वे जिला अस्पताल रक्तदान करने पहुंचीं और जरूरतमंद गर्भवती को रक्तदान किया। इसके बाद उनका रक्त लेकर गर्भवती को चढ़ाया गया और गर्भवती का प्रसव हुआ और गर्भवती ने स्वस्थ बच्चे को जन्म दिया। खुशखबरी यह है कि जच्चा-बच्चा दोनों स्वस्थ हैं। उपनिरीक्षक मनीषा नेगी ने उत्तरकाशी में इससे पहले भी तीन बार रक्तदान कर जरूरतमंदों की जान बचाई है जिसके बाद उनको काफी सराहना मिली है। पुलिस अधीक्षक पंकज भट्ट ने भी उप निरीक्षक मनीषा नेगी के इस नेक कार्य के लिए शुभकामनाएं दी हैं।

Loading...

Latest Uttarakhand News Articles

वीडियो : यहां जीवित हो उठता है मृत व्यक्ति - लाखामंडल उत्तराखंड
वीडियो : IPS अधिकारी के रिटायर्मेंट कार्यक्रम में कांस्टेबल को देवता आ गया
वीडियो : खूबसूरत उत्तराखंड : स्वर्गारोहिणी

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

वायरल वीडियो

इमेज गैलरी

SEARCH

पढ़िये... उत्तराखंड की सत्ता से जुड़ी हर खबर, संस्कृति से जुड़ी हर बात और रिवाजों से जुड़े सभी पहलू.. rajyasameeksha.com पर।


Copyright © 2017-2020 राज्य समीक्षा.

To Top