ऋषिकेश-हरिद्वार में गंगा उफान पर...भयंकर बारिश के कारण उत्तराखंड में 2 दिन का अलर्ट (weather alert in uttarakhand due to heavy rain)
Connect with us
uttarakhand govt campaign for corona guidelines
Follow corona guidelines
Image: weather alert in uttarakhand due to heavy rain

ऋषिकेश-हरिद्वार में गंगा उफान पर...भयंकर बारिश के कारण उत्तराखंड में 2 दिन का अलर्ट

बिगड़ते हुए मौसम को देखते हुए आज और कल मौसम विभाग ने उत्तराखंड के अधिकांश जिलों में किया अलर्ट जारी। ऋषिकेश और हरिद्वार में गंगा नदी उफान पर...

देखते ही देखते उत्तराखंड में मानसून ने रफ्तार पकड़ ली है और रफ्तार पकड़ने से गढ़वाल और कुमाऊं मंडल में हादसों का सिलसिला भी लगातार बढ़ रहा है। लगातार हो रही बरसात से राज्य में लोगों को भारी चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है। पहाड़ों पर लगातार बरसात हो रही है। नदियां, नाले, गदेरे लगातार हो रही बरसात के कारण उफान पर आ रखे हैं। वहीं मौसम विभाग ने शनिवार और रविवार यानी कि आज और कल प्रदेश में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। जगह-जगह से भूस्खलन की बुरी खबरें सामने आ रही है। राज्य की तमाम नदियों का जलस्तर बढ़ने के कारण नदी के आसपास जाना भी खतरे से खाली नहीं है। बात करें हरिद्वार और ऋषिकेश की तो वहां पर भी गंगा खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। ऐसे में आसपास की आबादी को रात में सुरक्षित स्थानों पर भेज दिया गया है। देवप्रयाग में भी यही हालात है। देवप्रयाग में अलकनंदा और मंदाकिनी नदी का जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर बना हुआ है जिसके बाद नदी तट और उसके आसपास के इलाकों में लोगों को अलर्ट कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें - बदरी-केदार रेल लाइन का सीमांकन कार्य पूरा..कर्णप्रयाग से केदारनाथ के लिए बनेंगे 6 रेलवे स्टेशन
बात करें हरिद्वार जिले की तो जिले में गंगा का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है। कई दिनों से झमाझम हो रही बरसात के कारण गंगा खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। गंगा के खतरे का निशान 294 मीटर है। हरिद्वार में वर्तमान में गंगा नदी 294.40 मीटर पर बह रही है। खतरे को भांपते हुए प्रशासन ने वहां पर अलर्ट जारी कर दिया है और सभी बाढ़ चौकियों को भी सतर्क कर दिया है। इसी के साथ में गंगा के तटीय इलाकों में सतर्कता भी बढ़ाई जा रही है और पुलिस प्रशासन इस पर लगातार नजर बनाए हुए है। वही टिहरी गढ़वाल में भी गंगा खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। देवप्रयाग में 464 मीटर पर गंगा बह रही है जबकि 463 से ऊपर गंगा के खतरे का निशान है। राज्य में मौसम का प्रहार जितना तेज हो रहा है उतनी ही तेजी से दुश्वारियां भी बढ़ती नजर आ रही हैं। बता दे कि उत्तराखंड में 13 जून को मानसून पहुंच गया था मगर तब उसकी रफ्तार धीमी पड़ गई थी मगर गुरुवार की शाम से मॉनसून ने गति पकड़ ली है और उत्तराखंड को तीव्र बरसात का सामना करना पड़ रहा है। मौसम विभाग के मुताबिक आज 2 जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है जबकि अन्य जिलों के लिए यलो अलर्ट जारी किया गया है.

यह भी पढ़ें - रुद्रप्रयाग में पुल बहा..मूसलाधार बारिश से आपदा जैसे हालात, खतरे के निशान के ऊपर नदियां
आज मौसम विभाग ने नैनीताल और चंपावत जिले के लिए ऑरेंज अलर्ट जबकि अन्य पहाड़ी जिलों के लिए यलो अलर्ट जारी किया है। मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार कल देहरादून, टिहरी, पौड़ी और नैनीताल में मूसलाधार बरसात के आसार हैं जिसको देखते हुए कल भी उत्तराखंड में अलर्ट जारी किया गया है। नदियों का जलस्तर बढ़ने के साथ ही प्रदेश में भारी बरसात के कारण पहाड़ी इलाके भी खतरे के दायरे के भीतर आ गए हैं। गंगोत्री, बद्रीनाथ और केदारनाथ मार्ग पर कई स्थानों पर भूस्खलन की वजह से यातायात बाधित हो रखा है। बदरीनाथ हाईवे भूस्खलन के कारण ब्यासी के पास बंद हो रखा है। दो लिंक रोड भी मलबा आने के कारण बाधित हो रखी है। इन दोनों मार्गों को खोलने का प्रयास किया जा रहा है। यमुनोत्री हाईवे भी धरासू बैंड के पास से बंद हो रखा है और मार्ग को सुचारू करने के लिए एनएच की टीम जुटी हुई है।

YouTube चैनल सब्सक्राइब करें -

Loading...

Latest Uttarakhand News Articles

वीडियो : बाबा रामदेव का सबसे बड़ा पंगा
वीडियो : कर्नल अजय कोठियाल का शानदार काम
वीडियो : वैज्ञानिकों ने दे दी बहुत बड़ी चेतावनी...सावधान उत्तराखंड
वीडियो : Garhwali Song - AACHRI

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

वायरल वीडियो

इमेज गैलरी

SEARCH

पढ़िये... उत्तराखंड की सत्ता से जुड़ी हर खबर, संस्कृति से जुड़ी हर बात और रिवाजों से जुड़े सभी पहलू.. rajyasameeksha.com पर।


Copyright © 2017-2021 राज्य समीक्षा.

To Top