उत्तराखंड रुद्रप्रयागUttarakhand char dham devasthanam board dissolve

उत्तराखंड: सीएम पुष्कर सिंह धामी का बहुत बड़ा फैसला, भंग हुआ देवस्थानम बोर्ड

पहले ही इस बात को लेकर अंदेशा जताया जा रहा था कि सीएम पुष्कर सिंह धामी इसे लेकर एक बड़ा फैसला सुना सकते हैं।

Devasthanam board dissolution: Uttarakhand char dham devasthanam board dissolve
Image: Uttarakhand char dham devasthanam board dissolve

रुद्रप्रयाग: उत्तराखंड में चार धाम के पुरोहितों के तप तपस्या आंदोलन और प्रदर्शन की जीत हुई है। आखिरकार उत्तराखंड में देवस्थानम बोर्ड भंग करने का ऐलान हो गया है। आपको बता दें कि पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के कार्यकाल के वक्त देवस्थानम बोर्ड का गठन किया गया था। इस बोर्ड के अंतर्गत उत्तराखंड में चारों धामों को रखा गया था। इस बोर्ड के गठन के बाद से ही चार धाम के हक हुकूक धारी और तीर्थ पुरोहित आंदोलन कर रहे थे। त्रिवेंद्र सिंह रावत के बाद तीरथ सिंह रावत आए लेकिन उन्होंने भी देवस्थानम बोर्ड पर कोई ऐलान नहीं किया। आखिरकार सीएम पुष्कर सिंह धामी ने उत्तराखंड देवस्थानम बोर्ड भंग करने का ऐलान किया है।

Devasthanam Board Dissolution

पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के कार्यकाल के वक्त देवस्थानम बोर्ड का गठन किया गया था। इस बोर्ड के अंतर्गत उत्तराखंड में चारों धामों के साथ ही कुल 51 मंदिरों को रखा गया था। इसके बाद चार धाम के तीर्थ पुरोहितों ने अब बड़े आंदोलन का ऐलान किया था। विधानसभा चुनाव नजदीक है और ऐसे में सीएम पुष्कर सिंह धामी ने एक और मास्टर स्ट्रोक खेला है।
यह भी पढ़ें - गढ़वाल: 10 साल के प्रभु भट्ट ने बॉलीवुड में धूम, कई फिल्मों में की दमदार एक्टिंग