उत्तराखंड रुद्रपुरPolice investigation in Udham Singh Nagar Govansh case

उत्तराखंड में चुनाव से पहले सांप्रदायिक सौहार्द भड़काने की साजिश, UP से जुड़े तार

सीसीटीवी फुटेज की मदद से आरोपियों की पहचान कर ली गई है। आरोपी यूपी के रहने वाले बताए जा रहे हैं, उनके लोकल कनेक्शन की जानकारी भी जुटाई जा रही है।

Rudrapur Govansh News: Police investigation in Udham Singh Nagar Govansh case
Image: Police investigation in Udham Singh Nagar Govansh case

रुद्रपुर: ऊधमसिंहनगर। उत्तराखंड का औद्योगिक जिला। चुनाव की तैयारियों के बीच सोमवार को यहां कुछ ऐसा हुआ, जिसने सुरक्षा एजेंसियों के होश उड़ा दिए। रुद्रपुर के रवींद्रनगर में एक बारात घर के सामने खाली प्लॉट में कुत्ते भौंक रहे थे। एक आदमी ने पास जाकर देखा तो गोवंश के टुकड़े पड़े दिखे। देखते ही देखते मौके पर लोगों की भीड़ जुट गई। गोवंश की हत्या से हिंदूवादी संगठनों का गुस्सा भड़क उठा। कुल मिलाकर शहर में सांप्रदायिक तनाव की स्थिति बन गई थी। शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए इंटरनेट सेवा बंद करनी पड़ी। पुलिस प्रशासन पर घटना का जल्द खुलासा करने और आरोपियों की गिरफ्तारी का दबाव था। बहरहाल पुलिस ने ये पता लगा लिया है कि ऊधमसिंहनगर को सुलगाने की साजिश किसने रची थी। घटना के 24 घंटे के भीतर ही पुलिस ने आरोपियों की पहचान कर ली। अब तक मिले साक्ष्यों के आधार पर पुष्टि हो गई है कि जिले का माहौल खराब करने में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ अराजक तत्वों का हाथ था।

ये भी पढ़ें:

सीसीटीवी फुटेज की मदद से आरोपियों की पहचान कर ली गई है। अब पुलिस आरोपियों तक पहुंचने में यूपी पुलिस की मदद ले रही है। उनके लोकल कनेक्शन के बारे में भी जानकारी जुटाई जा रही है। बता दें कि जिले को दहलाने की साजिश पहले भी कई बार हो चुकी है। साल 2011 में जिले में दंगे भड़के थे। इसी तरह 2016-17 में गो तस्करों ने गदरपुर में एक कांस्टेबल की वाहन से कुचलकर हत्या कर दी थी। सोमवार को एक बार फिर रुद्रपुर का माहौल बिगाड़ने की कोशिश की गई, लेकिन पुलिस अधिकारियों की सक्रियता ने अराजक तत्वों के मंसूबों को नाकाम कर दिया। बहरहाल रुद्रपुर में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए भारी पुलिस बल की तैनाती की गई है। पुलिस और खुफिया एजेंसियां धार्मिक स्थलों के आसपास सुबह और शाम को ऑपरेशन क्लीन स्वीप भी चलाएंगी, ताकि शहर का सांप्रदायिक माहौल खराब न हो।