उत्तराखंड टिहरी गढ़वालRajan Mishra dies in Oneshwar temple of Tehri Garhwal

गढ़वाल में शिवरात्रि पर दुखद हादसा, भगवान की डोली लेकर आए परिवार के इकलौते बेटे की मौत

बड़ी मन्नतों के बाद घर में बेटे का जन्म हुआ था। 17 साल का राजन तीन बहनों का इकलौता भाई था, मंगलवार को उसकी संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई।

uttarakhand news rajya sameeksha Vikalp rahit sankalp sep 22
Tehri Garhwal Oneshwar Temple Rajan Mishravan Death: Rajan Mishra dies in Oneshwar temple of Tehri Garhwal
Image: Rajan Mishra dies in Oneshwar temple of Tehri Garhwal (Source: Social Media)

टिहरी गढ़वाल: टिहरी के ओणेश्वर मेले में देव डोलियों के नृत्य के समय एक दुखद हादसा हो गया। मेले में देव डोली लेकर पहुंचा किशोर देव डोली नृत्य के दौरान अचानक बेहोश होकर फर्श पर गिर गया। परिजन किशोर को तुरंत अस्पताल ले गए, लेकिन अस्पताल पहुंचने से पहले ही उसकी मौत हो चुकी थी। इस दुखद हादसे के बाद परिजनों पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। मरने वाला किशोर अपनी तीन बहनों का इकलौता भाई था। बड़ी मन्नतों के बाद परिवार में बेटा हुआ था, जिस पर परिजन खूब जान छिड़कते थे, लेकिन महाशिवरात्रि के दिन इस परिवार की सारी खुशियां छिन गईं। शिवरात्रि के मौके पर लंबगांव के देवल ओणेश्वर मंदिर में मेले का आयोजन किया गया था। खोलगढ़ पल्ला निवासी राजपाल सिंह मिश्रवाण का बेटा राजन मिश्रवाण (17) गांव से देव डोली के साथ देवल ओणेश्वर मंदिर पहुंचा था।

ये भी पढ़ें:

सुबह 11 बजे मंदिर परिसर में देव डोलियों का नृत्य होने लगा तो राजन को न जाने क्या हुआ। वो बेहोश होकर वहीं फर्श पर गिर पड़ा। आनन-फानन में लोग उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, चौंड लेकर पहुंचे। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। अस्पताल के डॉक्टरों ने बताया कि अस्पताल पहुंचने से पहले ही किशोर की मौत हो चुकी थी। हो सकता है सिर पर चोट लगने से मौत हुई हो। मामले की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची तो परिजनों ने पोस्टमार्टम कराने से इनकार कर दिया। रोते-बिलखते परिजन बेटे का शव ले गए। राजन मिश्रवाण गांव के इंटर कॉलेज में 10वीं में पढ़ता था। उसके पिता पुजारी हैं। थानाध्यक्ष महिपाल सिंह रावत ने बताया कि मेले के दौरान एक किशोर की मौत की सूचना मिली थी, लेकिन परिजनों ने कोई तहरीर नहीं दी। वो बिना पोस्टमार्टम कराए शव को ले गए।