देवभूमि का अमृत: कड़ाके की ठंड में गर्माहट देगा कंडाली का साग, जानिए इसके बेमिसाल फायदे (Uses and benefits of kandali)
Connect with us
Image: Uses and benefits of kandali

देवभूमि का अमृत: कड़ाके की ठंड में गर्माहट देगा कंडाली का साग, जानिए इसके बेमिसाल फायदे

पहाड़ के बुजुर्ग लोग कंडाली के मेडिशनल फायदे जानते थे, तभी तो कंडाली का साग उनके खान-पान का अहम हिस्सा था...

उत्तराखंड में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। ठंड से बचाव के तमाम इंतजाम फेल हो रहे हैं, लेकिन अगर आपका इम्यून सिस्टम मजबूत है तो यकिन मानिए आप ठंड से सुरक्षित भी रहेंगे और स्वस्थ भी। ठंड से बचाव का एक और आसान तरीका है, आप कंडाली से बना साग खाना शुरू कर दीजिए। कंडाली को बिच्छू घास और सिसौण भी कहते हैं। पहाड़ के पुराने लोग इसके मेडिटेशनल फायदे जानते थे, तभी तो कंडाली का साग उनके खान-पान का अहम हिस्सा था। इसके औषधीय गुण जानकर आप भी हैरान रह जाएंगे। कंडाली के पत्तों में खूब आयरन होता है, जो कि खून की कमी को दूर करता है। इसके अलावा फोरमिक एसिड, एसटिल कोलाइट और विटामिन ए भी कंडाली में खूब मिलता है। इसका सेवन पीलिया, उदर रोग, खांसी-जुकाम में फायदा देता है। मोटापे से निजात दिलाने में भी ये फायदेमंद है। इसके अलवा किडनी संबंधी बीमारियों में भी कंडाली के सेवन की सलाह दी जाती है।

यह भी पढ़ें - वाह! उत्तराखंड में चाइनीज फूड को लगा तमाचा, अब खाइए कोदा से बने मोमो और स्प्रिंग रोल
इसमें कैंसर को खत्म करने के गुण हैं, यही वजह है कि अब कंडाली के बीजों से कैंसर की दवाई बनाई जा रही है। कंडाली एक ऐसा पौधा है, जिसके हर हिस्से का इस्तेमाल होता है। ये तो हुई कंडाली की बातें, चलिए अब आपको कंडाली की रेसेपी बताते हैं। डरने की जरूरत बिल्कुल नहीं है, भले ही कंडाली कांटेदार दिखती है, पर इसकी सब्जी खाते वक्त आपको इन कांटों का अहसास कतई नहीं होगा। कंडाली की सब्जी या कफली बनाने के लिए कंडाली की नई मुलायम पत्तियां लें। इन्हें झाड़कर साफ करें। बाद में लोहे की कढ़ाई में कम पानी में अच्छी तरह पकाएं। बर्तन को ढंक कर रखें। कंडाली की पत्तियों के साथ अमिल्डा की हरी पत्तियों को भी पकाएं, इससे सब्जी का स्वाद बढ़ेगा। उबली हुई पत्तियों का साग बनाएं। इसके लिए सरसों के तेल में जख्या का तड़का लगाएं। बाद में लहसुन की कलियां, हींग, हरी मिर्च और स्वादानुसार नमक डालें। बाद में कंडाली की उबली पत्तियां मिलाएं। अब इसे कलछी से हिलाते रहें। बस थोड़ी ही देर में कंडाली का साग बनकर तैयार है। इसमें आप बेसन का घोल या फिर पिसे हुए चावल डालकर आलण भी बना सकते हैं। ठंड के मौसम में कंडाली का सेवन आपको सेहतमंद रखेगा। कंडाली से बनने वाली कोई अन्य रेसेपी आपके पास हो तो, हमारे साथ शेयर जरूर कीजिएगा...

Loading...

Latest Uttarakhand News Articles

वीडियो : खूबसूरत उत्तराखंड : स्वर्गारोहिणी
वीडियो : उत्तराखंड में मौजूद है परीलोक...जानिए खैंट पर्वत के रहस्य
वीडियो : DM स्वाति भदौरिया से खास बातचीत

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

वायरल वीडियो

इमेज गैलरी

SEARCH

पढ़िये... उत्तराखंड की सत्ता से जुड़ी हर खबर, संस्कृति से जुड़ी हर बात और रिवाजों से जुड़े सभी पहलू.. rajyasameeksha.com पर।


Copyright © 2017-2020 राज्य समीक्षा.

To Top