Connect with us
Image: Former gram pradhan anand will receive india-nepal harmony award

उत्तराखंड: पूर्व ग्राम प्रधान को मिलेगा इंडो-नेपाल समरसता अवॉर्ड, 29 दिसंबर को होंगे सम्मानित

कैन्यूर गांव के प्रधान रह चुके आनंद सिंह का चयन इंडो-नेपाल समरसता अवॉर्ड के लिए हुआ है..

पौड़ी के पूर्व प्रधान आनंद सिंह को भारत-नेपाल समरसता अवॉर्ड से नवाजा जाएगा। 29 दिसंबर को नेपाल के काठमांडू में होने वाले कार्यक्रम में आनंद सिंह को सम्मानित किया जाएगा। आनंद सिंह पौड़ी के कैन्यूर गांव के प्रधान रह चुके हैं। प्रधान के पद पर रहते हुए उन्होंने क्षेत्र के विकास के लिए कई काम किये। गांव में सड़कें बनवाईं, दूसरी व्यवस्थाएं भी दुरुस्त कीं। गांव वाले भी अपने पूर्व प्रधान की खूब तारीफ करते हैं। गांव में कराये गए विकास कार्यों के लिए उन्हें इंडो नेपाल समरसता अवॉर्ड दिया जाएगा। बता दें कि इंडो नेपाल समरसता अवॉर्ड के लिए देशभर से 150 ग्राम प्रधानों का चुनाव किया गया है। इन ग्राम प्रधानों में पौड़ी के आनंद सिंह भी शामिल हैं। वो थलीसैंण ब्लॉक के कैन्यूर गांव का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं।

यह भी पढ़ें - उत्तराखंड में नौकरी तलाश रहे युवाओं के लिए खुशखबरी, वन विभाग में 1774 भर्तियां
अवॉर्ड लेने के लिए भारत के 150 ग्राम प्रधानों का शिष्टमंडल नेपाल की राजधानी काठमांडू जाएगा। आनंद सिंह भी इस दल का हिस्सा होंगे। 29 दिसंबर को काठमांडू में भारत-नेपाल सांस्कृतिक समन्वय सम्मेलन का आयोजन होना है। इस सम्मेलन में अपने क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले जनप्रतिनिधियों को इंडो-नेपाल समरसता अवॉर्ड दिया जाएगा। अवॉर्ड के लिए पूरे देश से 150 ग्राम प्रधान चुने गए हैं। कैन्यूर गांव के लोग भी अवॉर्ड के लिए आनंद सिंह का चयन होने से खुश हैं। उन्होंने कहा कि आनंद सिंह ने क्षेत्र के विकास के लिए ईमानदारी से काम किया। अब उनके काम का सम्मान किया जा रहा है, ये पूरे प्रदेश के लिए गौरवपूर्ण उपलब्धि है।

वीडियो : DM स्वाति भदौरिया से खास बातचीत
वीडियो : आछरी - गढ़वाली गीत
वीडियो : उत्तराखंड में मौजूद है परीलोक...जानिए खैंट पर्वत के रहस्य
Loading...
Loading...

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

वायरल वीडियो

इमेज गैलरी

SEARCH

To Top