Connect with us
Image: Wedding in uttarakhand triyuginarayan dham

उत्तराखंड: त्रियुगीनारायण धाम में इंग्लैंड से आया प्रेमी जोड़ा, गढ़वाली रिवाजों से हुई शादी ..देखिए वीडियो

देवभूमि उत्तराखंड अब विदेश के लोगों को अपनी तरफ आकर्षित कर रही है। इंग्लैंड से आए प्रेमी जोड़े का यहां विवाह हुआ है। आप भी देखिए ये वीडियो

19 फरवरी 2020 को देहरादून के जौली ग्रांट एयरपोर्ट पर इंग्लैंड से आये शिव और नन्दा जब पहुंचे, तो वो बहुत उत्साहित थे। दरअसल फरवरी माह में शिवरात्रि के दिन भगवान त्रिजुगीनारायण के धाम में उनका विवाह होना था। शिवा पहले भी भारत आ चुके हैं, लेकिन नन्दा पहली बार यहाँ आई है। शिव ने बताया कि वह देवभूमि उत्तराखंड से खास लगाव रखते हैं और वे शिवरात्रि के दिन त्रिजुगीनारायण में विवाह करना चाहते हैं। उन्होंने कहा "चाहे उस दिन बारिश पड़े या बर्फ अगर उस धरती पर हमारे पैर हैं, हमारे लिए उतना ही काफी है" एयरपोर्ट से शिव और नन्दा सीधा डिंडयाली होमस्टे गए। डिंडयाली होम स्टे एयरपोर्ट से 8 किलोमीटर दूर सिरियों गाँव में है। डिंडयाली में उस दिन मंगल स्नान का कार्यक्रम रखा था..डिंडयाली पहुंचते ही उनका स्वागत गढ़वाली पारम्परिक तरीके से किया गया। वहां सभी महिलाएं पारम्परिक वेशभूषा में थी। उसके बाद गढ़वाली व्यंजन शिवा और नन्दा को परोसे गए और मांगलिक धुनों के साथ दोनों का मंगल स्नान शुरू हुआ। नन्दा ने पीला सूट और सिर पर दुप्पट्टा रखा और शिव ने धोती कुर्ता और गढ़वाली टोपी। बान शुरू होते ही नन्दा भावुक हो गयी और रोने लगी। आगे देखिए वीडियो

यह भी पढ़ें - देवभूमि में यहां हुई थी शिव-पार्वती की शादी
उसके बाद स्नान के बाद दोनों आरती के लिए तैयार हुए नन्दा ने pahadi e kart से ली गई टिहरी नथ,गुलबन्द,पौंचि और पिछौड़ा पहना। शिव ने पीला कुर्ता पजामा टोपी पहनी और फिर गढ़वाली गीतों पर नृत्य हुआ। 20 फरवरी को शिव और नन्दा रवाना हुए त्रिजुगीनारायण के लिए । वहां पहुंचते ही बारिश शुरू हो गयी। 21 फरवरी की सुबह दोनों को गढ़वाली परिधान में तैयार किया गया, जो उन्हें बहुत पसन्द आया। ढोल दमाऊं मसकबीन बजते ही बर्फ पड़नी शुरू हो गयी और बर्फबारी के बीच किसी तरह मन्दिर पहुंच कर विवाह का कार्यक्रम सम्पन्न हुआ। वीडियो देखिए

Dindyaali welcomed a couple Shiva Nand and Aphrodite Nand from England with all their heart and soul for a Garhwali wedding which was held in Triyuginarayan by @triyuginarayanweddings in proper garhwali traditions..Here is the small video of Mangal snaan (haldi ceremony) at @dindyaali shot by @rajabajafilms

The jewellery and Pichodda sponser @pahadi_ekart .

.

.

#insta_pahadi #connecttoroots #uttarakhandtourism

Posted by Navendu Raturi on Wednesday, February 26, 2020

उसके बाद एक वृक्ष उनके विवाह के उपलक्ष में उनके द्वारा रोपा गया। देवभूमि में मिले इस प्यार को देखकर वो बहुत भावुक हैं और जल्द वापस उत्तराखंड आकर और भी देवस्थानों का भृमण करना चाहते हैं। भारत की संस्कृति क्यों विदेशियों को भी अपनी ओर आकर्षित करती हैं क्योंकि सरलता में ही सरसता है। ये ऐसा आकर्षण है, जो सभी को भाता है लेकिन जहाँ विदेशी हमारी संस्कृति अपना रहे हैं वही हम अपनी सँस्कृति से दूर होते जा रहे हैं।

Loading...

Latest Uttarakhand News Articles

वीडियो : खूबसूरत उत्तराखंड : स्वर्गारोहिणी
वीडियो : बाघ-तेंदुओं से अकेले ही भिड़ जाता है पहाड़ का भोटिया कुत्ता
वीडियो : यहां जीवित हो उठता है मृत व्यक्ति - लाखामंडल उत्तराखंड

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

वायरल वीडियो

इमेज गैलरी

Trending

SEARCH

To Top