उत्तराखंड बॉर्डर से वापस लौटाए गए 1000 से ज्यादा वाहन, पुलिस का सख्त पहरा (Hundreds of vehicles returned from the border in Haridwar)
Connect with us
Uttarakhand Govt Denghu Awareness Campaign
Image: Hundreds of vehicles returned from the border in Haridwar

उत्तराखंड बॉर्डर से वापस लौटाए गए 1000 से ज्यादा वाहन, पुलिस का सख्त पहरा

उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश की सीमा पर से उत्तराखंड पुलिस ने 1500 से अधिक वाहनों को वापस लौटा दिया क्योंकि उनमें से किसी के पास भी राज्य में प्रवेश करने की परमिशन नहीं थी।

भले ही लॉकडाउन हट चुका हो मगर उत्तराखंड राज्य में आवाजाही करने वाले लोगों के ऊपर पुलिस प्रशासन अब भी कड़ी निगाह रख रहा है और सख्ती बरत रहा है। ऐसा इसलिए क्योंकि कांवड़ यात्रा स्थगित हो चुकी है और कांवड़ियों का गंतव्य स्थान हरिद्वार है। ऐसे में हरिद्वार में बाहर से आ रहे लोगों को बिना अनुमति के प्रवेश नहीं करने दिया जा रहा है। साथ ही जनपद की सीमा के सभी बॉर्डर पर उत्तराखंड का पुलिस प्रशासन तैनात होकर चेकिंग कर रहा है और बिना परमिशन लिए आए लोगों को वापस भेज रहा है। उत्तराखंड से उत्तर प्रदेश की सीमा में आने वाले 12 से अधिक संपर्क मार्गों पर पुलिस की तैनाती की गई है जिससे बिना परमिशन के कोई भी उत्तराखंड की सीमा में प्रवेश न कर सके। हाल ही में उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश की सीमा पर से राज्य की पुलिस ने 1500 से अधिक वाहनों को वापस लौटा दिया। ऐसा इसलिए क्योंकि उनमें से किसी के पास भी राज्य में प्रवेश करने की परमिशन नहीं थी। आगे पढ़िए

यह भी पढ़ें - गुड न्यूज: उत्तराखंड की सैर कर सकेंगे दूसरे राज्यों के पर्यटक, इन नियमों का करना होगा पालन
वाहन चालक पुलिस से गुजारिश करते रहे मगर पुलिस ने उनकी एक न सुनी और बॉर्डर से ही वापस भेज दिया। बता दें कि कांवड़ यात्रा के चलते राज्य सरकार किसी भी प्रकार की लापरवाही नहीं बरतना चाह रही है इसलिए जनपद के सभी बोर्ड्र्स पर पुलिस फोर्स तैनात है। राज्य में प्रवेश करने वाले लोगों को बिना अनुमति के राज्य में प्रवेश नहीं मिल रहा है। इसके बावजूद भी हरियाणा, पंजाब, यूपी और दिल्ली समेत कई राज्यों से लोग उत्तराखंड में दाखिल होने के लिए आ रहे हैं मगर परमिशन न होने के कारण इनको राज्य में प्रवेश नहीं करने दिया जा रहा है। मंगलवार को पुलिस ने करीब 2000 वाहनों को वापस लौटने का रास्ता दिखा दिया है। बीते बुधवार को पुलिस ने रुड़की जिले के मंडावर बॉर्डर, तेज्जूपुर बॉर्डर, भगवानपुर स्थित काली नदी, और नारसन बॉर्डर से 1500 से अधिक वाहनों को वापस भेजा गया।

यह भी पढ़ें - उत्तराखंड में यहां बनेगा इंडस्ट्रियल कॉरिडोर, केंद्र सरकार उठाएगी खर्च..मिलेगा रोजगार
भगवानपुर के 3 बॉर्डर से लगभग 500 वाहनों को वापसी का द्वार दिखाया गया। वहीं नारसन बॉर्डर पर भी करीबन 1000 से अधिक वाहनों को राज्य की सीमा में प्रवेश नहीं मिला। उत्तरप्रदेश से आने वाले लोगों को रोकने के लिए राज्जूपुर, कुआहेड़ी, सकौती, खेड़ाजट, नारसन क्षेत्र के उल्हेड़ा, मोहम्मदपुर जट, बुडपुर जट और ब्रह्मपुर जट गांव से होकर आने वाले सभी संपर्क मार्गों पर पुलिस फोर्स को चेकिंग के लिए तैनात की गई है। कांवड़ मेला स्थगित होने के बाद खानपुर-पुरकाजी और बालावाली- बिजनौर सीमा को सील कर दिया गया। स्थानीय निवासियों को आवाजाही में कोई प्रतिबंध नहीं रहेगा। वहीं बाहरी राज्यों से आ रहे लोगों को आवश्यक कार्य के लिए अनुमति लेकर आना पड़ेगा तभी उनको जिले में प्रवेश दिया जाएगा। खानपुर के थानाध्यक्ष पीडी भट्ट ने बताया कि 6 जुलाई से अभी तकरीबन 2500 से अधिक वाहनों को वापस लौटाया जा चुका है।

Loading...

Latest Uttarakhand News Articles

वीडियो : IPS अधिकारी के रिटायर्मेंट कार्यक्रम में कांस्टेबल को देवता आ गया
वीडियो : बाघ-तेंदुओं से अकेले ही भिड़ जाता है पहाड़ का भोटिया कुत्ता
वीडियो : उत्तराखंड में मौजूद है परीलोक...जानिए खैंट पर्वत के रहस्य

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

वायरल वीडियो

इमेज गैलरी

Trending

SEARCH

पढ़िये... उत्तराखंड की सत्ता से जुड़ी हर खबर, संस्कृति से जुड़ी हर बात और रिवाजों से जुड़े सभी पहलू.. rajyasameeksha.com पर।


Copyright © 2017-2020 राज्य समीक्षा.

To Top