दिल्ली: गढ़वाल भवन में IAS मंगेश घिल्डियाल का गढ़वाली भाषण, मंत्रमुग्ध हुए लोग..आप भी देखिए (IAS Mangesh Ghildiyal speech in Garhwali)
Connect with us
Image: IAS Mangesh Ghildiyal speech in Garhwali

दिल्ली: गढ़वाल भवन में IAS मंगेश घिल्डियाल का गढ़वाली भाषण, मंत्रमुग्ध हुए लोग..आप भी देखिए

आईएएस मंगेश घिल्डियाल अब भले ही दिल्ली चले गए हों, लेकिन वो पहाड़ को कभी नहीं भूले। हाल में उन्होंने दिल्ली में हुए कार्यक्रम में छात्रों-अभिभावकों से बातचीत की। आगे देखें वीडियो

कुछ लोग मिसाल बनकर कई जिंदगियों को रौशन कर देते हैं। लोगों को आगे बढ़ने का जज्बा देते हैं। आईएएस मंगेश घिल्डियाल भी एक ऐसी ही शख्सियत हैं। पहले रुद्रप्रयाग और फिर टिहरी के डीएम के तौर पर सेवाएं देने वाले आईएएस मंगेश घिल्डियाल अब केंद्र में सेवाएं दे रहे हैं। वो पीएमओ में तैनात हैं। आईएएस मंगेश घिल्डियाल अब भले ही दिल्ली चले गए हों, लेकिन वो पहाड़ से अब भी जुड़े हुए हैं। यहां के लोगों ने भी उन्हें अपने बेटे-भाई की तरह सम्मान दिया। उत्तराखंड के काबिल अफसरों में शुमार आईएएस मंगेश घिल्डियाल ने यहां रहते हुए अपने काम से अफसरों के लिए एक नजीर पेश की। उन्होंने केदारनाथ पुनर्निर्माण प्रोजेक्ट में अहम भूमिका निभाई। रुद्रप्रयाग में उन्होंने केदारनाथ यात्रा से ग्रामीणों की आर्थिकी को जोड़ा। आगे देखिए वीडियो

यह भी पढ़ें - उत्तराखंड: गैरसैंण में 1 से 9 मार्च तक बजट सत्र, जानिए क्या हो सकते हैं ऐलान
महिलाओं को रोजगार देने के लिए कई प्रोजेक्ट शुरू किए। आपदा प्रभावित केदारघाटी के पुनर्निर्माण के लिए जी-जान से जुटे रहे। 24 घंटे आमजन के लिए उपलब्ध रहने वाले आईएएस मंगेश घिल्डियाल ने जिले को कई राष्ट्रीय पुरस्कार भी दिलाए। लोक सेवक के रूप में काम करने वाले आईएएस मंगेश घिल्डियाल ने कम समय में नई ऊंचाईयां हासिल की। यही वजह है कि उन्हें जल्द ही पीएमओ से न्यौता आ गया और पहाड़ के इस अफसर को दिल्ली बुला लिया गया। हाल में आईएएस मंगेश घिल्डियाल दिल्ली में हुए एक कार्यक्रम में छात्रों और उनके अभिभावकों से बातचीत करते नजर आए। उन्होंने बच्चों संग अपने अनुभव बांटे। साथ ही अभिभावकों से अपने बच्चों को पहाड़ से जोड़े रखने की अपील भी की। आगे देखिए वीडियो

यह भी पढ़ें - वाह: गढ़वाल के लिए सिद्धबली एक्सप्रेस, कुमाऊं के लिए पूर्णागिरी एक्सप्रेस..बलूनी ने दी गुड न्यूज
आईएएस मंगेश घिल्डियाल ने कहा कि पहाड़ में पढ़ाई कर रहे बच्चों के पास संसाधनों की कमी है, ऐसे में दिल्ली जैसे महानगरों में पढ़ रहे बच्चों की जिम्मेदारी और बढ़ जाती है कि वो समाज के लिए कुछ बेहतर कर के दिखाएं। कठिन परिश्रम का कोई विकल्प नहीं है। अपने लक्ष्य को हासिल करने के लिए जरूरी है कि हम अपने कंफर्टजोन से बाहर आएं। पानी का जहाज सबसे ज्यादा सुरक्षित किनारे पर होता है, लेकिन वो बंदरगाह पर रुकने के लिए नहीं बना होता, उसे समुद्री लहरों के बीच जाना होता है। इसी तरह हमारा जीवन सरल लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए नहीं बना है। कंफर्टजोन से बाहर निकल कर अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए मेहनत करें। चलिए आपको कार्यक्रम का वीडियो दिखाते हैं, जिसे आईएएस मंगेश घिल्डियाल के फैंस ने एफबी पेज पर शेयर किया है। अगर आप भी जीवन में कुछ बेहतर हासिल करना चाहते हैं, तो ये मोटिवेशनल वीडियो जरूर देखें।

YouTube चैनल सब्सक्राइब करें -

Loading...

Latest Uttarakhand News Articles

वीडियो : श्री बदरीनाथ धाम में बर्फबारी का मनमोहक नजारा देखिये..
वीडियो : खूबसूरत उत्तराखंड : स्वर्गारोहिणी
वीडियो : IPS अधिकारी के रिटायर्मेंट कार्यक्रम में कांस्टेबल को देवता आ गया

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

वायरल वीडियो

इमेज गैलरी

SEARCH

पढ़िये... उत्तराखंड की सत्ता से जुड़ी हर खबर, संस्कृति से जुड़ी हर बात और रिवाजों से जुड़े सभी पहलू.. rajyasameeksha.com पर।


Copyright © 2017-2021 राज्य समीक्षा.

To Top