Connect with us
Image: 15 villagers died due to unidentified disease in uttarkashi says report

उत्तराखंड के बड़कोट में 15 लोगों की मौत, अज्ञात बीमारी की वजह से दहशत में लोग!

उत्तराखंड के बड़कोट में अज्ञात बीमारी की वजह से लोग दहशत में जी रहे हैं। एक साल के भीतर 15 लोगों की मौत से हड़कंप मच गया है।

उत्तराखंड में ये कौन सी बीमारी है, जो लोगों के लिए काल बन रही है ? उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले के बड़कोट में लोग दहशत की जिंदगी जीने को मजबूर हैं। लाइव हिंदुस्तान डॉट कॉम की खबर के मुताबिक गीठ पट्टी में अज्ञात बीमारी की वजह से लोग मौत के मुंह में समा रहे हैं। एक साल के भीतर 15 लोगों की मौत हो चुकी है। सवाल ये है कि क्या अब तक प्रशासन ने इस तरफ नज़रें भी नहीं उठाई? अक्तूबर 2017 में राना गांव के सुरेंद्र सिंह, लखम सिंह की अकाल मृत्यु हो गई थी। इसके बाद से एक साल के भीतर 15 लोग अज्ञात बीमारी के शिकार हो गए। बताया जा रहा है कि हर महीने एक शख्स इस बीमारी की वजह से मौत के मुंह में समा रहा है। ग्रामीण भी ये नहीं समझ पा रहे हैं कि आखिर ये कौन सी बीमारी है, जो उनकी जान लेने पर तुली है।

यह भी पढें - उत्तराखंड में दो दर्दनाक हादसे, तीन लोगों की मौत..3 लोग गंभीर रूप से घायल
राना गांव के रहने वाले लोकेश चौहान ने मीडिया से बातचीत में बताया कि एक साल के भीतर 15 लोगों की मौत से इलाके में दहशत फैल चुकी है। ग्रामीणों ने इस बारे में एडीएम को ज्ञापन सौंपा है। मांग की गई है कि इस अज्ञात बीमारी का परीक्षण करवाया जाए। मांग की गई है कि रानाचट्टी में स्वास्थ्य शिविर लगाया जाए। उधर उत्तरकाशी के सीएमओ डॉ. विनोद नौटियाल ने इस बारे में मीडिया से बातचीत की है। उनका कहना है कि अज्ञात बीमारी से 15 लोगों की मौत का मामला अब तक संज्ञान में नहीं आया है। अगर ऐसा है तो डिप्टी सीएमओ की अध्यक्षता में स्वास्थ्य परीक्षण के लिए तत्काल जांच टीम भेजी जाएगी। अब सवाल ये है कि आखिर ये कौन सी बीमारी है, जो स्थानीय लोगों के लिए दहशत की वजह बन गई है। देखना होगा कि इस मामले में आगे क्या होता है ?

Loading...

Latest Uttarakhand News Articles

वीडियो : बाघ-तेंदुओं से अकेले ही भिड़ जाता है पहाड़ का भोटिया कुत्ता
वीडियो : खूबसूरत उत्तराखंड : स्वर्गारोहिणी
वीडियो : DM स्वाति भदौरिया से खास बातचीत

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

वायरल वीडियो

इमेज गैलरी

Trending

SEARCH

To Top