Connect with us
Image: ayush chaudhry of kotdwar is missing

पहाड़ का लड़का विदेश में लापता, लोकसभा में उठा मुद्दा..बेटे की तलाश में ईरान पहुंचे पिता

ईरान के असालू से लापता हुए आयुष का अब तक सुराग नहीं लगा, लापता बेटे की तलाश के लिए अब पिता खुद ईरान गए हैं...लोकसभा में भी सांसद तीरथ सिंह रावत ने इस बात को रखा है। देखिए वीडियो

मर्चेंट नेवी में काम करने वाला युवक ईरान के असालू बंदरगाह से लापता हो गया। युवक का नाम आयुष चौधरी है, उसका अब तक कोई सुराग नहीं लगा है। पीड़ित के परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है, पिता भी घबराए हुए हैं। बेटे के बारे में कोई जानकारी ना मिलने पर अब आयुष के पिता अनूप चौधरी खुद खाड़ी देश रवाना हो गए हैं। उन्होंने कहा कि अपने बच्चे की तलाश वो खुद करेंगे। परिवार को पूरी उम्मीद है कि वो आयुष को जल्द ही अपने साथ लेकर वापस लौटेंगे। हम भी ईश्वर से प्रार्थना करेंगे की ऐसा ही हो और आयुष जल्द से जल्द घर लौट आए। आयुष का परिवार मूल रूप से कोटद्वार का रहने वाला है। आयुष ने इसी साल मर्चेंट नेवी में बतौर ट्रेनी काम करना शुरू किया था। नोएडा की एक प्लेसमेंट एजेंसी ने उन्हें ईरान भेजा था। तब से परिवार में जश्न का माहौल था। परिवारवाले खुशी से फूले नहीं समा रहे थे। सब को तसल्ली थी कि चलो बेटा सेटल हो गया।

यह भी पढें - देवभूमि के अजित डोभाल ने जीता मोदी का भरोसा, कश्मीर में धारा 370 का खात्मा..जानिए पूरी खबर
पर ये खुशी ज्यादा वक्त तक कायम नहीं रही। 17 जुलाई को दुबई की शिप कंपनी से एक फोन आया। फोन करने वाले ने आयुष के परिजनों को जो सूचना दी, वो सुन उनके पैरों तले जमीन खिसक गई। परिजनों को बताया गया कि आयुष असालू के बंदरगाह में समुद्र में गिर गया, तब से उसका कुछ पता नहीं है। ये सुनते ही परिजनों पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा, पर उन्हें इस सूचना पर यकीन नहीं है। उनका मानना है कि आयुष सुरक्षित है, संबंधित शिपिंग कंपनी उनसे कुछ छिपा रही है। बेटे की तलाश में आयुष के पिता और बहन दुबई रवाना हो गए हैं। पीड़ित परिवार को प्रवासी उत्तराखंडियों की तरफ से भी मदद मिल रही है। विदेश मंत्रालय भी अपने स्तर पर जांच कर रहा है। लोकसभा में भी सांसद तीरथ सिंह रावत ने ये मुद्दा उठाया है। देखिए

संसद के शून्य काल में उत्तराखण्ड कोटद्वार निवासी आयुष चौधरी जो की ईरान के एक बन्दरगाह पर समुद्र में 16 जुलाई को रहस्यमय परिस्थितियों में लापता हो गया आयुष मर्चेंट नेवी में काम करता था विगत शनिवार को पीड़ित परिजन मुझसे मिले मैने आश्वश्त किया था कि मैं इस विषय पर अवश्य ही बात उठाऊंगा जो मैने आज सदन के माध्यम से सरकार से आग्रह किया कि विदेश मंत्रालय तेजी से इस ओर कार्य करे।

Posted by Tirath Singh Rawat on Tuesday, July 30, 2019

नोएडा पुलिस भी प्लेसमेंट एजेंसी के संचालकों से पूछताछ कर रही है। आयुष के पिता अनूप चौधरी एक महीने का वीजा लेकर रविवार को ईरान रवाना हो गए। उन्होंने कहा कि वो घटनास्थल तक जाएंगे और अपने बेटे का पता लगाएंगे। प्रवासी उत्तराखंडी भी उनकी मदद कर रहे हैं। वो दुबई मंत्रालय में जाकर पूछताछ करेंगे। साथ ही ईरान के असालू बंदरगाह भी जाएंगे, ताकि आयुष का पता लग सके। ईश्वर करे आयुष सुरक्षित हो, आप भी आयुष की सलामती के लिए दुआ कीजिए, ताकि एक परिवार को उसकी खुशियां वापस मिल सकें।

Loading...

Latest Uttarakhand News Articles

वीडियो : बाघ-तेंदुओं से अकेले ही भिड़ जाता है पहाड़ का भोटिया कुत्ता
वीडियो : DM स्वाति भदौरिया से खास बातचीत
वीडियो : यहां जीवित हो उठता है मृत व्यक्ति - लाखामंडल उत्तराखंड

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

वायरल वीडियो

इमेज गैलरी

Trending

SEARCH

To Top