Connect with us
Uttarakhand Government Coronavirus donate Information
Image: Land circle rate will increase very high in Uttarakhand

उत्तराखंड में महंगी होने वाली है जमीन, 3 जिलों में 3 गुना बढ़ेंगे दाम..पढ़िए पूरी खबर

पहाड़ में जमीन के सर्किल रेट बढ़ने वाले हैं, इसीलिए अगर जमीन खरीदने की सोच रहे हैं तो जल्दी करें...

उत्तराखंड में अपने आशियाने का सपना पूरा करना महंगा होने वाला है। जमीन के रेट बढ़ने वाले हैं। प्रदेश सरकार ने इसकी तैयारी कर ली है। उत्तराखंड की कृषि, अकृषि और व्यवसायिक भूमि के नए सर्किल रेट का प्रारूप तैयार है। अब बस इसके लागू होने की देर है। नए सर्किट रेट से उत्तराखंड में जमीनों के रेट बढ़ेंगे, लेकिन प्रदेश के तीन जिले ऐसे हैं, जहां नया सर्किल रेट लागू होने के बाद जमीन के दाम आसमान छूने लगेंगे। अगर आप इन जिलों में घर या जमीन लेने की सोच रहे हैं, तो थोड़ा जल्दी करें। वरना महंगे रेट पर जमीन खरीदनी पड़ेगी। वो जिले कौन-कौन से हैं, जहां जमीन के रेट में बड़ा उछाल आने वाला है, उनके बारे में भी जान लें। व्यवसायिक संपत्ति की प्रस्तावित दरों में जिन तीन जिलों में तीन गुना की दर से सर्किल रेट बढ़ाए गए हैं, वो हैं टिहरी, अल्मोड़ा और उत्तरकाशी। इन तीनों जिलों की जमीन के रेट में भारी उछाल आना तय है। हरिद्वार में भी सर्किल रेट दोगुना करने का प्रस्ताव है, ऐसा होने के बाद हरिद्वार में व्यवसायिक संपत्ति के दाम प्रदेश में सर्वाधिक हो जाएंगे। यानि हरिद्वार में कमर्शियल लैंड सबसे ज्यादा महंगी होगी। यहां घर-दफ्तर बनाना महंगा पड़ेगा। केंद्रीय मूल्यांकन समिति ने नई दरों को लेकर प्रस्ताव तैयार कर लिया है। अब इसे वित्त विभाग और मंत्रिमंडल के सामने रखा जाएगा। कृषि भूमि में 25 और अकृषि भूमि में 50 फीसद तक की बढ़ोतरी होने वाली है।

यह भी पढ़ें - उत्तराखंड में 6 जिलों के लोग अगले 24 घंटे सावधान रहें, भारी बारिश का अलर्ट जारी
तैयार प्रस्ताव बुधवार को मंत्रिमंडल के सामने पेश किया जाएगा। इसमें कृषि भूमि में 25 प्रतिशत और अकृषि भूमि में 50 फीसद तक की बढ़ोतरी का प्रस्ताव दिया गया है। मंत्रिमंडल अगर सिफारिशों में बदलाव नहीं करेगा, तो सबसे ज्यादा बढ़ोतरी प्रदेश की व्यवसायिक संपत्ति के सर्किल रेट में होगी। प्रदेश के जिलों की व्यवसायिक संपत्ति दर के बारे में भी आपको जानना चाहिए। पहले बात करते हैं देहरादून की, यहां वर्तमान सर्किल रेट 51 हजार प्रति वर्ग मीटर है, प्रस्तावित दर 90 हजार रखी गई है। हरिद्वार में वर्तमान सर्किल रेट 93 हजार रुपये प्रति वर्ग मीटर है, प्रस्तावित दर 179550 है। ऊधमसिंहनगर में वर्तमान दर 17900 रुपये है, प्रस्तावित दर 49200 है। इसी तरह नैनीताल, पौड़ी गढ़वाल, टिहरी, उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग, अल्मोड़ा, बागेश्वर, पिथौरागढ़ और चंपावत में भी सर्किल रेट बढ़ने वाले हैं। प्रस्तावित दरों में जिन तीन जिलों की कमर्शियल लैंड में सबसे ज्यादा उछाल है वो जिले उत्तरकाशी, टिहरी और अल्मोड़ा हैं। यहां पर्यटन बढ़ा है, कमर्शियल एक्टिविटीज बढ़ी हैं, यही वजह है कि इन तीनों पहाड़ी जिलों के सर्किल रेट में बड़ा उछाल आने वाला है। उत्तरकाशी में वर्तमान रेट 21879 रुपये प्रति वर्ग मीटर है, जो कि 62500 रुपये प्रस्तावित है। इसी तरह अल्मोड़ा के सर्किल रेट को 10400 रुपये से बढ़ाकर 33 हजार करने की तैयारी है। टिहरी में सर्किल रेट 10462 है, जिसे 31650 रुपये करने का प्रस्ताव है। केंद्रीय समिति ने जिला मूल्यांकन समितियों से मिले प्रस्तावों के आधार पर नई दरों का प्रारूप तैयार कर लिया है, प्रारूप को जल्द ही कैबिनेट मीटिंग में पेश किया जाएगा।

Loading...

Latest Uttarakhand News Articles

वीडियो : श्री बदरीनाथ धाम से जुड़े अनसुने रहस्य
वीडियो : आछरी - गढ़वाली गीत
वीडियो : बाघ-तेंदुओं से अकेले ही भिड़ जाता है पहाड़ का भोटिया कुत्ता

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

वायरल वीडियो

इमेज गैलरी

SEARCH

To Top