Connect with us
Uttarakhand Government Coronavirus donate Information
Image: Degree colleges having strength less than 200 would be closed in Uttarakhand

उत्तराखंड में डिग्री कॉलेजों को बंद करने की तैयारी, 2 मिनट में पढ़िए पूरी खबर

जिन सरकारी कॉलेजों में दो सौ से कम छात्र पढ़ रहे हैं, उन्हें सरकार जल्द ही बंद करने वाली है...

कम छात्र संख्या वाले माध्यमिक-प्राथमिक स्कूलों को बंद करने के बाद अब सरकार की नजर डिग्री कॉलेजों पर है। जिन कॉलेजों में छात्र संख्या कम है उन कॉलेजों को प्रदेश सरकार बंद कर सकती है। प्रदेश में कम छात्र संख्या वाले कई सरकारी स्कूलों पर ताला जड़ दिया गया है, अब कॉलेजों की बारी है। कम छात्र संख्या वाले डिग्री कॉलेज बंद करने की तैयारी चल रही है। सरकार ने क्या योजना बनाई है, ये भी बताते हैं। जिन डिग्री कॉलेजों में दो सौ से कम छात्र होंगे, उन्हें सरकार बंद करने वाली है, लेकिन टेंशन लेने की कोई जरूरत नहीं है। क्योंकि इन कॉलेजों में पढ़ने वाले छात्रों को आस-पास के दूसरे कॉलेजों में शिफ्ट कर दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें - उत्तराखंड से बेहद दुखद खबर, वीआईपी ड्यूटी में लगे दो पुलिसकर्मियों की मौत
प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा आनंदवर्धन ने उच्च शिक्षा निदेशक डॉ. एससी पंत से छात्र संख्या के आधार पर कॉलेजों का ब्योरा मांगा है। जैसे ही लिस्ट आ जाएगी, फैसला ले लिया जाएगा। प्रदेश में इस वक्त ऐसे 15 से 20 सरकारी कॉलेज चल रहे हैं, जहां छात्र संख्या बेहद कम है। छात्र संख्या दो सौ से भी कम है। यही नहीं इनमें से भी 12-14 कॉलेज ऐसे हैं, जिनमें पिछले कई साल से छात्रों की संख्या बढ़ी ही नहीं। छात्रों की संख्या 2 सौ का आंकड़ा भी नहीं छू पाई। कई कॉलेज ऐसे भी हैं जहां कुल सौ छात्र भी नहीं पढ़ते। कई कॉलेज दूसरी सरकारी बिल्डिंगों में चल रहे हैं, इनके पास अपना भवन तक नहीं है। कई कॉलेज किराए के कमरे में संचालित हो रहे हैं, जिससे छात्रों की पढ़ाई बाधित होती है। ऐसे कॉलेजों को प्रदेश सरकार बंद करने वाली है। इन कॉलेजों में पढ़ने वाले छात्रों का आस-पास के दूसरे कॉलेजों में एडमिशन कराया जाएगा।

Loading...

Latest Uttarakhand News Articles

वीडियो : आछरी - गढ़वाली गीत
वीडियो : DM स्वाति भदौरिया से खास बातचीत
वीडियो : श्री बदरीनाथ धाम में बर्फबारी का मनमोहक नजारा देखिये..

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

वायरल वीडियो

इमेज गैलरी

SEARCH

To Top