गढ़वाल के मरड़ा गांव बेटी दिल्ली में बनेगी जज...PCS-J परीक्षा में हासिल की दूसरी रैंक (Katyayani of Pauri Garhwal will be judge in Delhi)
Connect with us
Image: Katyayani of Pauri Garhwal will be judge in Delhi

गढ़वाल के मरड़ा गांव बेटी दिल्ली में बनेगी जज...PCS-J परीक्षा में हासिल की दूसरी रैंक

पौड़ी की बेटी कात्यायनी ने दिल्ली न्यायिक सेवा-2019 की परीक्षा पास कर ली है। यही नहीं सामान्य वर्ग की वरियता सूची में कात्यायनी दूसरी रैंक हासिल करने में सफल रहीं।

मन में कुछ करने का जज्बा हो तो चुनौतियां खुद ब खुद अवसर में बदल जाती हैं। उत्तराखंड की बेटी कात्यायनी शर्मा कंडवाल इसकी जीती जागती मिसाल हैं। कात्यायनी ने दिल्ली न्यायिक सेवा-2019 की परीक्षा पास कर ली है। यही नहीं सामान्य वर्ग की वरियता सूची में कात्यायनी दूसरी रैंक हासिल करने में सफल रहीं। उन्होंने अपनी उपलब्धि से प्रदेश का नाम रोशन किया है। कात्यायनी की ये सफलता कई मायनों में खास है। कात्यायनी का विवाह हो चुका है। आमतौर पर शादी के बाद महिलाएं घर-गृहस्थी के लिए अपने सपनों की तिलांजलि दे देती हैं। कई बार भावी परिवार से सहयोग नहीं मिलता, लेकिन शादी के बाद आई नई जिम्मेदारियों ने कात्यायनी को मजबूत ही बनाया। चलिए आपको कात्यायनी की जर्नी के बारे में बताते हैं। कात्यायनी शर्मा कंडवाल मूलरूप से पौड़ी जिले के मवालस्यूं में आने वाले गांव मरड़ा की रहने वाली हैं। उनके पिता स्व. मदन मोहन सुंदरियाल ग्रामीण अभियंत्रण विभाग में कार्यरत थे। कात्यायनी की मां कुसुम सुंदरियाल देहरादून में शिक्षिका हैं। कात्यायनी की शुरुआती पढ़ाई पौड़ी और देहरादून में हुई। आगे पढ़िए

यह भी पढ़ें - DIG गढ़वाल बनते ही एक्शन में आईं IPS नीरू , सभी जिलों के प्रभारियों को सख्त निर्देश
क्लेट क्वालीफाई करने के बाद कात्यायनी ने एनएलआईयू भोपाल से एलएलबी और आईएलआई दिल्ली से एलएलबी की शिक्षा पूरी की। अगस्त 1991 में जन्मी कात्यायनी का विवाह साल 2015 में ऋषिकेश निवासी प्रांशु शशि कंडवाल से हुआ। उन्होंने दिल्ली न्यायिक सेवा-2019 की परीक्षा में हिस्सा लिया था। शुक्रवार को रिजल्ट आया तो कात्यायनी समेत पूरे परिवार की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। कात्यायनी ने मेरिट लिस्ट में दूसरा स्थान हासिल कर परिवार के साथ-साथ पूरे उत्तराखंड का मान बढ़ाया है। कात्यायनी ने कहा कि आज उनके दिवंगत पिता का सपना पूरा हुआ है। उनकी इस सफलता में मां के मार्गदर्शन के अलावा ससुराल में पति और सास-ससुर का भी पूरा योगदान है। परिवार ने उन्हें हमेशा आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया। अब वो गरीबों को इंसाफ दिलाने के लिए कार्य करेंगी। राज्य समीक्षा टीम की तरफ से भी कात्यायनी को उज्जवल भविष्य के लिए ढेरों शुभकामनाएं। आप भी पहाड़ को गौरवान्वित करने वाली कात्यायनी को बधाई देकर उनका हौसला बढ़ाएं।

Loading...

Latest Uttarakhand News Articles

वीडियो : आछरी - गढ़वाली गीत
वीडियो : श्री बदरीनाथ धाम में बर्फबारी का मनमोहक नजारा देखिये..
वीडियो : उत्तराखंड में मौजूद है परीलोक...जानिए खैंट पर्वत के रहस्य

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

वायरल वीडियो

इमेज गैलरी

Trending

SEARCH

पढ़िये... उत्तराखंड की सत्ता से जुड़ी हर खबर, संस्कृति से जुड़ी हर बात और रिवाजों से जुड़े सभी पहलू.. rajyasameeksha.com पर।


Copyright © 2017-2021 राज्य समीक्षा.

To Top